Create
Notifications

कॉमनवेल्थ गेम्स में हॉकी टीम नहीं भेजेगा भारत, पदक उम्मीदों को झटका

हॉकी इंडिया ने कॉमनवेल्थ खेलों में टीम भेजने से मना कर दिया है।
हॉकी इंडिया ने कॉमनवेल्थ खेलों में टीम भेजने से मना कर दिया है।
ANALYST

साल 2022 में इंग्लैंड में होने वाले राष्ट्रमंडल यानि कॉमनवेल्थ खेलों के शुरु होने से पहले ही भारत की पदक उम्मीदों को झटका लगा है। हॉकी इंडिया ने फैसला किया है कि इन खेलों में भारतीय महिला और पुरुष, दोनों हॉकी टीमें हिस्सा नहीं लेंगी। इसका मुख्य कारण कोविड-19 और एशियन गेम्स 2022 की तैयारी को बताया गया है। हॉकी इंडिया के प्रेसिडेंड ज्ञानन्द्रो निन्गोम्बम ने इस बाबत भारतीय ओलंपिक संघ के अध्यक्ष को पत्र लिखा है।

एशियन गेम्स को अहमियत

हॉकी इंडिया द्वारा IOA को लिखा गया पत्र।
हॉकी इंडिया द्वारा IOA को लिखा गया पत्र।

Indian Olympic Association के अध्यक्ष नरेंद्र बत्रा को लिखे पत्र में हॉकी इंडिया के प्रसिडेंट ने लिखा है कि कॉमनवेल्थ खेलों का आयोजन इंग्लैंड के बर्मिंघम में 28 जुलाई से 8 अगस्त 2022 के बीच होगा और इसके ठीक 32 दिन बाद ही 10 सितंबर से चीन में एशियन गेम्स का आयोजन होना है, और ऐसे में वह किसी प्रकार का रिस्क नहीं उठा सकते। कॉमनवेल्थ खेलों के दौरान या उसके ठीक बाद यदि कोई हॉकी खिलाड़ी संक्रमित होता है तो इसका असर पूरी टीम और खेल पर पड़ेगा।

हॉकी इंडिया की प्राथमिकता एशियन गेम्स में प्रतिभाग करना है।
हॉकी इंडिया की प्राथमिकता एशियन गेम्स में प्रतिभाग करना है।

हॉकी इंडिया ने साफ किया है कि क्योंकि एशियन गेम्स के माध्यम से टीमों को 2024 के पेरिस ओलंपिक खेलों के लिए क्वालिफाय करने का मौका मिलेगा, इसलिए कॉमनवेल्थ से ज्यादा अहमियत एशियन गेम्स को देने का फैसला किया है।

इंग्लैंड की कोविड पॉलिसी पर भी सवाल

हॉकी इंडिया ने अपने पत्र के जरिए इंग्लैंड की कोविड-19 के प्रति रणनीति को लेकर भी सवाल उठाए हैं। पत्र में उल्लेख किया गया है कि फिलहाल इंग्लैंड में किसी अन्य देश से जाने वाले व्यक्ति के लिए 10 दिन के क्वारंटीन का प्राविधान होने के साथ ही भारतीय वैक्सीन को मान्यता नहीं दिए जाने का प्रकरण सामने आ रहा है। और यह भी एक बड़ा कारण है कि हॉकी टीम भेजना सही नहीं लग रहा। हॉकी इंडिया ने FIH से गुजारिश की है कि भारत के हटने की सूचना के आधार पर किसी अन्य टीम को खेलने का मौका दिया जा सकता है।

पदक की उम्मीदों को झटका

इंग्लैंड के बर्मिंघम शहर में कॉमनवेल्थ खेलों का आयोजन जुलाई 2022 में होगा।
इंग्लैंड के बर्मिंघम शहर में कॉमनवेल्थ खेलों का आयोजन जुलाई 2022 में होगा।

हॉकी इंडिया का ये फैसला निश्चित रूप से खिलाड़ियों की सेहत और टीम के भविष्य को देखकर लिया गया है, लेकिन भारतीय खेल प्रेमियों की मानें तो देश की पदक उम्मीदों को झटका जरूर लगा है। पुरुष हॉकी टीम दशकों बाद अपने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन पर है और हाल ही में टोक्यो ओलंपिक में ब्रॉन्ज जीतकर आई है।

महिला हॉकी टीम ने 2006 में आखिरी बार कॉमनवेल्थ मेडल जीता था।
महिला हॉकी टीम ने 2006 में आखिरी बार कॉमनवेल्थ मेडल जीता था।

महिला हॉकी टीम भी ओलंपिक में अपनी छाप छोड़ने में कामयाब रही है। साल 1998 में पहली बार कॉमनवेल्थ खेलों में हॉकी को शामिल किया गया था। पुरुष टीम ने 2010 और 2014 में सिल्वर मेडल अपने नाम किया था। भारत की महिला हॉकी टीम ने 2002 के मैनचेस्टर कॉमनवेल्थ खेलों में इंग्लैंड को हराकर ऐतिहासिक स्वर्ण पदक जीता था, इसके अलावा टीम ने 2006 गेम्स में सिल्वर जीता था।

Edited by निशांत द्रविड़
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now