जूनियर हॉकी विश्व कप - भारतीय महिलाओं ने जीत के साथ की अभियान की शुरुआत

भारतीय महिला टीम 9 साल बाद जूनियर विश्व कप में भाग ले रही है।
भारतीय महिला टीम 9 साल बाद जूनियर विश्व कप में भाग ले रही है।

भारतीय जूनियर महिला हॉकी टीम ने FIH की ओर से दक्षिण अफ्रीका में आयोजित हो रहे जूनियर विश्व कप के अपने पहले मैच में वेल्स को 5-1 से मात देकर अपने अभियान की शुरुआत की। कप्तान इशिका चौधरी की अगुवाई में टीम इंडिया ने ग्रुप डी का अपना ये मैच जीतकर तीन अंक कमाए। अब भारत का अगला मुकाबला कल जर्मनी से होगा जिसने एकतरफा मुकाबले में मलेशिया को 10-0 से रौंद दिया।

भारत के लिए मैच का पहला गोल तीसरे ही मिनट में लालरेमसियामी ने फील्ड गोल के रूप में किया। इसके बाद दूसरे क्वार्टर में वेल्स की ओर से मिली होल्म ने गोल कर मैच 1-1 से बराबर कर दिया। यहां तक दोनों टीमों का प्रदर्शन बराबर रहा। लेकिन तीसरे और चौथे क्वार्टर में टीम इंडिया ने पूरी तरह दबदबा बनाए रखा। 31वें मिनट में लालरिंदकी ने फील्ड गोल किया जबकि 40वें मिनट में मुमताज खान ने फील्ड गोल कर भारत को 3-1 से आगे कर दिया। चौथे क्वार्टर में लालरिंदकी ने एक बार फिर वेल्स पर हमला बोला और पेनेल्टी कॉर्नर को गोल में तब्दील कर टीम को 4-1 से आगे कर दिया। मैच खत्म होने से 2 मिनट पहले दीपिका ने पेनेल्टी कॉर्नर से गोल कर भारत को 5-1 से जीत दिला दी।

इस जीत से भारतीय टीम का हौसला जरूर बढ़ा है लेकिन अब टीम को जर्मनी जैसी मजबूत टीम के खिलाफ बेहतर प्रदर्शन करना होगा। ग्रुप डी में फिलहाल एक मैच के बाद जर्मनी पहले और भारत दूसरे नंबर पर है। आखिरी बार 2016 में जूनियर हॉकी विश्व कप आयोजित हुआ था और अलग-अलग कारणों से महिलाओं का ये टूर्नामेंट पिछले 6 साल से लगातार स्थगित होता रहा। यही वजह है कि इस प्रतियोगिता का अगला संस्करण अगले साल भी खेला जाएगा क्योंकि 6 साल के गैप को भी भरा जाना है।

भारत ने 2013 में टूर्नामेंट में तीसरा स्थान हासिल किया था और ये 1989 से शुरु हुई इस प्रतियोगिता में टीम इंडिया का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है। इस बार टूर्नामेंट के ग्रुप ए में नीदरलैंड, अमेरिका, जिम्बाब्वे, कनाडा को जगह मिली है। नीदरलैंड ने सबसे ज्यादा तीन बार विश्व कप का खिताब जीता है। ग्रुप बी में इंग्लैंड, आयरलैंड, दक्षिण अफ्रीका और यूक्रेन की टीमें हैं, हालांकि यूक्रेन की टीम भाग नहीं ले रही। वहीं गत विजेता अर्जेंटीना की टीम ग्रुप सी में दक्षिण कोरिया, उरुग्वे और ऑस्ट्रिया के साथ शामिल है। टूर्नामेंट में 5 अप्रैल तक पूल मैच खेले जाएंगे, जबकि नॉकआउट के रूप में क्वार्टरफाइनल मैच 8 अप्रैल से होंगे। 12 अप्रैल को खिताब के लिए फाइनल मुकाबला खेला जाएगा।

Quick Links

App download animated image Get the free App now