ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भारतीय महिला हॉकी टीम ने आखिरी टेस्ट मैच खेला ड्रॉ, सीरीज 2-0 से गंवाई

भारतीय टीम ने एक गोल से पिछड़ने के बाद गोल कर वापसी की।
भारतीय टीम ने एक गोल से पिछड़ने के बाद गोल कर वापसी की।

भारतीय महिला हॉकी टीम ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीसरा टेस्ट मैच 1-1 की बराबरी से खेलते हुए तीन मैचों की सीरीज का अंत सम्मानजनक अंदाज में किया। एडिलेड में खेले गए मुकाबले में टीम इंडिया ने शानदार प्रदर्शन किया और ऑस्ट्रेलियाई टीम को शुरुआती बढ़त मिलने के बाद बराबरी पर रोका। भारतीय टीम को सीरीज के पहले मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 4-2 से हार मिली थी जबकि दूसरे मुकाबले में 3-2 से काफी करीबी अंतर से हार मिली।

मेट स्टेडियम में हुए मैच में मेजबान देश के लिए मैडिसन ब्रूक्स ने 25वें मिनट में ही गोल कर टीम को 1-0 की बढ़त दिला दी थी, लेकिन भारत के लिए दीप ग्रेस एक्का ने तीसरे क्वार्टर के अंत की ओर 42वें मिनट में गोल किया और मुकाबला 1-1 से बराबर कर दिया। मैच के दौरान विश्व नंबर 8 भारतीय टीम काफी आक्रामक दिखी और ऑस्ट्रेलिया के मुकाबले एक अधिक पेनेल्टी कॉर्नर भी जीता। इस ड्रॉ के साथ ही विश्व नंबर 3 ऑस्ट्रेलिया ने सीरीज 2-0 से अपने नाम की।

यह मैच भारत के लिहाज से काफी खास रहा क्योंकि टीम की कप्तान और गोलकीपर सविता पुनिया के करियर का यह 250वां अंतरराष्ट्रीय मैच था। सविता ने साल 2009 में भारत के लिए डेब्यू किया था। वहीं भारतीय टीम की डिफेंडर निक्की प्रधान का यह 150वां अंतरराष्ट्रीय मैच था। निक्की ने साल 2016 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ अपने करियर का पहला मैच खेला था।

भारतीय महिला टीम ने ऑस्ट्रेलियाई सीनियर टीम के खिलाफ तीनों मुकाबले खेल लिए हैं लेकिन अब भी टीम इंडिया को दो मुकाबले और खेलने हैं। 25 मई और 27 मई को भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया A टीम के खिलाफ खेलेगी। इस साल सितंबर के महीने में भारतीय टीम चीन में होने वाले एशियाई खेलों की तैयारी के लिहाज से ऑस्ट्रेलिया जैसी ऊंची रैंकिंग की टीम के खिलाफ सीरीज खेलने गई है ।

App download animated image Get the free App now