Create

कोरोना मामले बढ़ने के कारण जूनियर हॉकी नेशनल्‍स स्‍थगित हुए

हॉकी
हॉकी
Vivek Goel

आगामी जूनियर महिला हॉकी नेशनल्‍स कोविड-19 मामले बढ़ने के कारण अनिश्चितकालीन समय के लिए स्‍थगित हो गया है। खेल की शासकीय ईकाई ने बुधवार को इसकी जानकारी दी। यह टूर्नामेंट 3-12 अप्रैल तक झारखंड के सिमदेगा में आयोजित होना था। जिला कमिश्‍नर द्वारा लागू किए निर्देश और प्रोटोकॉल का ध्‍यान रखते हए सिमदेगा और राज्‍य ईकाईयों ने फैसला किया कि चैंपियनशिप स्‍थगित की जाए और इस पर हॉकी इंडिया ने मुहर लगाई।

हॉकी इंडिया के अध्‍यक्ष ज्ञानेंद्रो निंगोबम ने अपने बयान में कहा, 'कोविड-19 मामलों में बढ़ोतरी को ध्‍यान रखते हुए और स्‍थानीय राज्‍य अधिकारियों की सलाह के बाद हॉकी इंडिया ने मेजबान हॉकी झारखंड के साथ सलाह करके 11वीं हॉकी भारतीय जूनियर महिला नेशनल चैंपियनशिप 2021 स्‍थगित करने का फैसला किया है। हॉकी झारखंड को राज्‍य सरकार से 11वीं हॉकी इंडिया सब जूनियर महिला नेशनल चैंपियनशिप 2021 आयोजित कराने के लिए जबर्दस्‍त समर्थन मिला था।'

बयान में आगे कहा गया, 'हालांकि, राज्‍य में नए कोविड मामले बढ़ने से रोकथाम के लिए प्रोटोकॉल और दिशा-निर्देशों के बाद खिलाड़‍ियों के हित में यह फैसला लिया गया है। हॉकी इंडिया के लिए खिलाड़‍ियों की सुरक्षा सबसे बड़ी चीज है।' बता दें कि इस टूर्नामेंट में मेजबान टीम खिताब की हैट्रिक लगाने के बारे में योजना तैयार कर रही थी जबकि भारत में से 26 टीमों ने एंट्री दर्ज कराई थी।

विदेशी दौरे से युवाओं को मिला फायदा

एक ओर जहां महिलाओं की जूनियर नेशनल हॉकी चैंपियनशिप स्‍थगित हुई, वहीं सीनियर टीम में शामिल हुई कई युवा खिलाड़‍ियों को काफी एक्‍सपोजर मिला है। हाल ही में भारतीय महिला हॉकी टीम ने जर्मनी और अर्जेंटीना का दौरा किया था, जहां टीम की युवा खिलाड़‍ियों को काफी कुछ सीखने को मिला। भारतीय महिला हॉकी टीम की गोलकीपर सविता पूनिया ने बताया कि टीम की युवा खिलाड़‍ियों के लिए ये दोनों दौरे काफी महत्‍वपूर्ण थे। युवाओं को समझने की जरूरत थी कि शीर्ष टीमों के खिलाफ खेलते समय आपको किस तरह तैयार रहना होता है।

सविता ने कहा, 'इन दो दौरों पर काफी युवाओं को मौका मिला और यह बहुत जरूरी था क्‍योंकि उन्‍हें समझ आया कि शीर्ष टीमों के खिलाफ किस स्‍तर का खेल दिखाना होता है। हमने दौरे के दौरान टीम संयोजन में प्रयोग किए और इससे ओलंपिक्‍स में मदद मिलेगी।'


Edited by Vivek Goel

Comments

Fetching more content...