अर्जेंटीना में एक और अजेय दौरे पर पूरा ध्‍यान: मनप्रीत सिंह

मनप्रीत सिंह
मनप्रीत सिंह

भारतीय टीम यूरोप दौरे पर अजेय रही थी, जिससे उसके हौसले बुलंद हैं। अब भारतीय टीम अर्जेंटीना दौरे पर जा रही है और कप्‍तान मनप्रीत सिंह को भरोसा है कि उनकी टीम ओलंपिक चैंपियंस के सामने धमाकेदार प्रदर्शन करेगी। 22 सदस्‍यीय भारतीय टीम बुधवार को बेंगलुरु से ब्‍यूनस आयर्स के लिए रवाना हुई, जो 2021 में उसका दूसरा विदेशी दौरा है। पिछले यूरोप दौरे पर भारत ग्रेट ब्रिटेन और जर्मनी से भिड़ा था और बिना हारे लौटा था।

मनप्रीत सिंह करीब एक साल बाद राष्‍ट्रीय टीम में लौटे हैं। कप्‍तान मनप्रीत सिंह ने शीर्ष स्‍तरीय टीम के खिलाफ खेलने को लेकर अपने उत्‍साह के अनुभव साझा किए। मनप्रीत सिंह के हवाले से हॉकी इंडिया ने जारी की प्रेस विज्ञप्ति में कहा, 'एक साल से ज्‍यादा समय तक प्रतिस्‍पर्धी हॉकी नहीं खेल पाना बड़ा नुकसान था, लेकिन दुनिया की प्रत्‍येक टीम ने महामारी के दौरान इसका सामना किया।'

अर्जेंटीना के खिलाफ छह मैचों के दौरे में चार मैच अलग होंगे जबकि एफआईएच हॉकी प्रो लीग के दो बैक टू बैक मैच 11 और 12 अप्रैल को होना है। मनप्रीत सिंह ने कहा, 'निजी कारणों से मैं यूरोप दौरे पर नहीं जा सका। मैंने करीब से मैच देखे और यह देखना काफी उत्‍साहजनक रहा कि जर्मनी और ग्रेट ब्रिटेन के खिलाफ टीम ने किस तरह प्रदर्शन किया। हमारा ध्‍यान एक और अजेय दौरे पर हैं।'

युवाओं के पास खुद को साबित करने का मौका: मनप्रीत सिंह

यह दौरा भारतीय टीम के लिए एक्‍सपोजर माना जा रहा है, जिसे टोक्‍यो गेम्‍स से पहले की तैयारी भी कहा जा सकता है। मनप्रीत सिंह का मानना है कि युवाओं के लिए खुद को साबित करने का शानदार मौका है ताकि वह गेम्‍स में अपनी जगह बना सके। मनप्रीत सिंह ने कहा, 'इस दौरे के लिए टीम में कई युवाओं का चयन हुआ है और मेरा मानना है कि शीर्ष टीम के खिलाफ उनके पास अपनी प्रतिभा को साबित करने का शानदार मौका है। इस चुनौतीपूर्ण समय समय में हमें मिल रहे प्रत्‍येक मौका बड़ी बात है और हमें इसे पूरी तरह भुनाना चाहिए।'

अपने निजी लक्ष्‍य के बारे में बात करते हुए मनप्रीत सिंह ने कहा, 'यह हम सभी के लिए मुश्किल साल था। मेरे लिए निजी तौर पर ज्‍यादा खराब रहा क्‍योंकि मैं पिछले साल कोविड की चपेट में आया, जिससे निकलने के लिए मानसिक लड़ाई करना पड़ती है। मैं करीब छह सप्‍ताह तक हॉकी से दूर रहा, लेकिन भाग्‍यशाली हूं कि मेरा अच्‍छे से ख्‍याल रखा गया। पिछले कुछ महीनों में फिर अपनी पुरानी लय में लौटने के लिए मैंने कड़ी मेहनत की। यह दौरा न सिर्फ टीम के लिए अपने प्रदर्शन को आंकने के लिए अच्‍छा है बल्कि मेरे लिए निजी तौर पर भी यह शानदार है ताकि पता चल सके कि कहां और क्‍या सुधार करना है।'

Quick Links

Edited by Vivek Goel
Be the first one to comment