मैराज खान ने शानदार प्रदर्शन के बावजूद भारत स्‍कीट मिक्‍स्‍ड टीम फाइनल में जगह नहीं बना सका

मैराज अहमद खान
मैराज अहमद खान

भारतीय शूटर्स ने शनिवार को मिस्र के कायरो में इंटरनेशनल शूटिंग स्पोर्ट फेडरेशन (आईएसएसएफ) शॉटगन वर्ल्ड कप के स्कीट मिक्स्ड टीम इवेंट में निराशाजनक प्रदर्शन किया। भारत की तरफ से दो टीमें मैदान में उतरी, कोई भी फाइनल में अपनी जगह नहीं बना सकी। मिस्र के शूटिंग क्लब में, मैराज अहमद खान और परिनाज धालीवाल ने 16 में से सातवें स्थान पर रहते हुए भारत की तरफ से सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया।

दोनों शूटर्स ने 137 का स्कोर बनाया, वहीं मैराज ने सभी को प्रभावित करते हुए 73 अंक हासिल किए। वहीं रूस ने 150 में से 144 अंक हासिल करते हुए गोल्ड मेडल अपने नाम किया।

उधर, दूसरी भारतीय जोड़ी, जिसमें अंगद वीर सिंह बाजवा और गनीमत सेखोन शामिल थे, उन्होंने 134 का स्कोर बनाया और वह 10वें स्थान पर रहे। फाइनल में, रूस की अलीना फाजिल्यानोवा और अलेक्जेंडर जेमलिन ने पोलैंड के जकुब वेरीज और अलेक्जांद्रा जरमोलिंस्का को हराकर गोल्‍ड मेडल अपने नाम किया। चेक गणराज्य के ऐना सिंदेलारोवा और टॉमस नेड्रेल ने ब्रॉन्‍ज मेडल जीता।

अब इन भारतीय शूटर्स पर होगी मेडल की जिम्‍मेदारी

बहरहाल, स्कीट मिक्‍स्‍ड टीम इवेंट टोक्यो में होने वाले आगामी ओलंपिक खेलों का हिस्सा नहीं है। आईएसएसएफ शॉटगन विश्व कप में अब अगले इवेंट ट्रैप के होंगे, जहां सोमवार को व्यक्तिगत और टीम स्पर्धाओं होगी। इस इवेंट में भारत की तरफ से 6 शूटर्स हिस्सा ले रहे हैं और वह मेडल जीतने की पूरी कोशिश करेंगे क्योंकि इससे उन्हें ना केवल रैंकिंग में फायदा होगा बल्कि उन्हें टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालिफाई करने का मौका भी मिलेगा।

आईएसएसएफ शॉटगन विश्व कप 2021 के लिए भारतीय टीम (ट्रैप)

ट्रैप पुरुष: लक्ष्य श्योराण, किनन चेनाई, पृथ्वीराज टोंडिमन

ट्रैप महिला: राजेश्वरी कुमारी, श्रेयसी सिंह और मनीषा कीर

याद दिला दें कि अंगदवीर सिंह बाजवा, मैराज अहमद खान और गुरजोत खानगुरा वाली भारतीय पुरुष स्‍कीट टीम ने शुक्रवार को कायरो में शॉटगन विश्‍व कप में कजाख्‍स्‍तान को 6-2 से मात देकर टीम ब्रॉन्‍ज मेडल जीता। भारतीय शूटर्स का व्‍यक्तिगत स्‍पर्धा में प्रदर्शन प्रभावी नहीं रहा। वो सिक्‍स-शूटर फाइनल में कट पाने से चूक गए, लेकिन सीजन की पहली इंटरनेशनल प्रतियोगिता में ब्रॉन्‍ज मेडल जीतकर अपनी स्थिति अच्‍छी की।

Edited by Vivek Goel