पेरिस 2024 क्वालिफिकेशन पर निगाहों के साथ चौथा इंडियन ओपन ऑफ सर्फिंग लौटा वापस

प्रतिस्पर्धा का आयोजन 1 से 3 जून के बीच होगा
प्रतिस्पर्धा का आयोजन 1 से 3 जून के बीच होगा

भारत में सर्फिंग खेल की शासी निकाय, सर्फिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया की प्रमुख सर्फिंग प्रतियोगिता, इंडियन ओपन ऑफ सर्फिंग के चौथे संस्करण को कर्नाटक पर्यटन से लगातार चौथे वर्ष समर्थन प्राप्त हुआ है जबकि साइकिल प्योर अगरबत्ती और जय हिंद ग्रुप प्रमुख भागीदार के रूप में सामने आए हैं। कई अन्य कॉरपोरेट घरानों ने भी पहली बार कर्नाटक और राष्ट्रीय स्तर पर खेल के विकास की स्थापना के लिए इस आयोजन को अपना समर्थन दिया है। तीन दिवसीय सर्फिंग कार्यक्रम में शीर्ष भारतीय सर्फर जैसे संजय कुमार एस, निथिश्वरुन टी, सूर्या पी, रुबन डी, श्रीकांत डी, सतीश सरवनन, मणिकंदन देसप्पन शीर्ष सम्मान के लिए 01 जून से 03 जून तक मंगलुरु के पनमबूर बीच पर मुकाबला करेंगे। इस प्रतियोगिता की मेजबानी मंत्रा सर्फिंग क्लब, मंगलुरु द्वारा की जा रही है।

एनआर समूह के प्रबंध भागीदार एवं साइकिल प्योर अगरबत्ती के प्रबंध निदेशक, श्री अर्जुन रंगा ने कहा, " हमारे यहाँ खेल भावना को बढ़ावा देने और युवाओं को आशा प्रदान करने की हमारी प्रतिबद्धता अपरिवर्तित बनी हुई है। हम सर्फिंग की रोमांचक दुनिया को अपना समर्थन देने के लिए उत्साहित हैं। इस खेल में पर्यटन को बढ़ावा देने और रोजगार के अवसर पैदा करने की अविश्वसनीय क्षमता है। इंडियन ओपन सर्फिंग और कर्नाटक सर्फिंग फेस्टिवल के लिए हमारा निरंतर समर्थन, सर्फर समुदाय के लिए एक स्पष्ट आह्वान के रूप में कार्य करता है, उनमें से हर एक को परिवर्तन के उत्प्रेरक और पर्यावरण संरक्षण के लिए चैंपियन बनने का आग्रह करता है। हम अपने बहुमूल्य पारिस्थितिक तंत्र और नाजुक आवासों को संरक्षित और पुनर्स्थापित करने के उद्देश्य से पहल करने के लिए पूरे दिल से योगदान देने की अपनी जिम्मेदारी में दृढ़ विश्वास रखते हैं। साथ मिलकर, हम भविष्य की पीढ़ियों के लिए अपने ग्रह की सुरक्षा में एक सार्थक बदलाव ला सकते हैं।"

जय हिंद समूह के एमडी, दिव्या कुमार जैन ने कहा, “भारत की व्यापक तटरेखा काफी हद तक अप्रयुक्त संसाधन बनी हुई है, और यह सही समय है जब हम इस संपत्ति का उपयोग सर्फिंग जैसे खेल को बढ़ावा देने के लिए करें। सर्फिंग को बढ़ावा देना न केवल व्यक्तिगत स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है, बल्कि यह स्थानीय समुदायों को आर्थिक रूप से सशक्त बनाने का भी एक तरीका है। सर्फ स्कूलों से लेकर उपकरण किराए पर लेने तक, यह खेल तटीय क्षेत्रों में आर्थिक विकास और बुनियादी ढांचे के विकास को प्रोत्साहित करते हुए स्थानीय व्यवसायों की एक श्रृंखला को बढ़ावा दे सकता है।"

पेरिस 2024 पर नजरें गड़ाए हुए, जहां सर्फिंग एक पदक इवेंट के के रूप में अपना पदार्पण करेगी, भारत ने पहली बार आईएसए वर्ल्ड सर्फिंग गेम्स 2023, अल सल्वाडोर में चार सदस्यीय टीम भेजी है, जो पेरिस 2024 ओलंपिक के लिए क्वालीफाइंग इवेंट है। पिछले साल की रैंकिंग के आधार पर शीर्ष चार भारतीय सर्फर भी ओलंपिक क्वालीफायर के लिए एक साथ प्रतिस्पर्धा करेंगे, जबकि भारत के शीर्ष सर्फर अन्य अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं के लिए भारत की टीम में जगह बनाने की उम्मीद में मैंगलोर में मुकाबला करेंगे।

भारत में खेल की बढ़ती लोकप्रियता को बढ़ाने के लिए रोहन कॉरपोरेशन, नॉर्दर्न स्काई, नोविगो सॉल्यूशंस, कोड क्राफ्ट, सेमनॉक्स और टीटी ग्रुप जैसे कॉर्पोरेट घरानों ने भी सर्फिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया के साथ इस प्रमुख सर्फिंग प्रतियोगिता के समर्थन के लिए हाथ मिलाया है ताकि उनकी लंबी अवधि का विस्तार किया जा सके।

सर्फिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया के वाईस प्रेसिडेंट एवं ने मंत्रा सर्फ़ क्लब के पार्टनर, श्री राममोहन परांजपे ने कहा, “भारत में नए प्रतिस्पर्धी सर्फिंग सीजन को शुरू करना रोमांचक है। इंडियन ओपन ऑफ सर्फिंग चार नेशनल सीरीज चैंपियनशिप में से पहली है, जिसकी योजना सर्फिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया ने बनाई है। साथ ही मंत्रा सर्फ क्लब के तहत मेजबान होने के नाते, मैं मानसून की शुरुआत से ठीक पहले एक बड़ी प्रतियोगिता की उम्मीद कर रहा हूं। भारतीय सर्फिंग सीजन की शुरुआत की इस खुशी में जो बात जुड़ती है, वह यह है कि यह पहला साल है जब बड़े कॉर्पोरेट घरानों ने प्रतियोगिता को अपना समर्थन दिया है, खेल की बढ़ती लोकप्रियता को स्थापित किया है।

App download animated image Get the free App now