Create
Notifications

खजन सिंह पर लगा यौन उत्‍पीड़न का आरोप, अर्जुन अवॉर्डी को किया गया सस्‍पेंड

(स्विमिंग- डेमो पिक)
(स्विमिंग- डेमो पिक)
reaction-emoji
Vivek Goel

दिग्‍गज एथलीट और एशियाई गेम्‍स मेडलिस्‍ट खजन सिंह पर कथित रूप से यौन उत्‍पीड़न, बलात्‍कार और धमकी देने के आरोप लगे हैं। खजन सिंह भारतीय सरकार मंत्रालय में सीआरपीएफ अधिकारी भी हैं। सीआरपीएफ कांस्‍टेबल ने खजन सिंह के खिलाफ आरोप लगाए, जिसके बाद एथलीट को सस्‍पेंड कर दिया गया है। डीआईजी रैंक वाले अधिकारी पर 30 साल की सीआपीएफ कांस्‍टेबल के साथ यौन उत्‍पीड़न का आरोप लगा है।

खजन पैरामिलट्री प्रमुख स्‍पोर्ट्स अधिकारी और दिग्‍गज एथलीट भी हैं। खजन को प्रतिष्ठित अर्जुन अवॉर्ड से सम्‍मानित किया जा चुका है। अपने करियर में खजन ने कई राष्‍ट्रीय व अंतरराष्‍ट्रीय मेडल जीते हैं। खजन ने 1986 सियोल एशियाई गेम्‍स के बटरफ्लाई इवेंट में 200 मीटर में सिल्‍वर मेडल जीता था। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक सीआरपीएफ डीआईजी स्‍तर के अधिकारी और अर्जुन अवॉर्डी को यौन उत्‍पीड़न के आरोपों के कारण निलंबित कर दिया गया है।

इससे पहले राष्‍ट्रीय राजधानी में सभी आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। 30 साल की कांस्‍टेबल की शिकायत पर प्रतिक्रिया देते हुए दिल्‍ली पुलिस ने 1986 सियोल एशियाई गेम्‍स सिल्‍वर मेडलिस्‍ट के खिलाफ एफआईआर दर्ज की।

खजन ने आरोपों को बेबुनियाद बताया

खजन के अलावा कोच सुरजित सिंह पर भी यौन उत्‍पीड़न , बलात्‍कार और धमकी देने के आरोप लगे हैं। समाचार एजेंसी पीटीआई से बात करते हुए खजन सिंह ने अपने ऊपर सीआरपीएफ कांस्‍टेबल द्वारा लगाए सभी आरोपों को बकवास करार दिया है। खजन सिंह के हवाले से कहा गया, 'यह सभी आरोप गलत हैं। मेरी छवि खराब करने के लिए ऐसे आरोप लगाए गए हैं।'

बता दें कि 1984 में खजन सिंह को प्रतिष्ठित अर्जुन अवॉर्ड से सम्‍मानित किया गया था और 100 मी फ्रीस्‍टाइल में नेशनल रिकॉर्डधारी होने के कारण डीआईजी रैंक ऑफिसर पर नियुक्ति की गई थी। अपने चमकीले करियर में खजन ने दक्षिण एशियाई गेम्‍स में कई गोल्‍ड मेडल जीते हैं, जिसे पहले दक्षिण एशियाई संघ गेम्‍स 1984 और 1989 में कहा जाता था।


Edited by Vivek Goel
reaction-emoji

Comments

Fetching more content...