Create

शरत-मनिका की जोड़ी ने मिक्‍स्‍ड डबल्‍स में हासिल किया ओलंपिक कोटा, जीता एशियाई क्‍वालीफिकेशन इवेंट

मनिका बत्रा और अचंता शरत कमल
मनिका बत्रा और अचंता शरत कमल

अचंता शरत कमल और मनिका बत्रा की स्‍टार भारतीय जोड़ी ने एशियाई ओलंपिक क्‍वालीफिकेशन टूर्नामेंट के मिक्‍स्‍ड डबल्‍स का फाइनल जीतकर टोक्‍यो ओलंपिक कोटा हासिल किया। कमल-बत्रा ने कोरिया के सांग सु ली और जिही जनियोन की शीर्ष वरीय जोड़ी को 4-2 से शिकस्त दी।। शरत कमल-मनिका बत्रा की जोड़ी ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने वाली पहली भारतीय जोड़ी बन गई है।

वर्ष 2018 एशियाई खेलों के कांस्य पदक विजेता ने दो सेट से पिछड़ने के बाद वापसी करते हुए दुनिया की आठवें नंबर की जोड़ी को रोमांचक फाइनल में 8-11 6-11 11-5 11-6 13-11 11-8 से शिकस्त देकर मिक्‍स्‍ड डबल्‍स में टोक्यो क्वालीफिकेशन स्थान पक्का किया। इस स्पर्धा में केवल विजेता जोड़ी ही ओलंपिक का कोटा हासिल कर पाती। भारतीय जोड़ी ने एशियाई खेलों में ऐतिहासिक मेडल जीतने के दौरान भी कोरियाई जोड़ी को पराजित किया था, लेकिन इसके अगले साल प्रो टूर में उन्हें हार का सामना करना पड़ा था।

शरत और मनिका ने गुरूवार को पहले ही एकल वर्ग में कोटा हासिल कर लिया था और अब दोनों इस साल 23 जुलाई से आठ अगस्त तक होने वाले टोक्यो ओलंपिक में बतौर जोड़ी हिस्सा लेंगे।

ओलंपिक में ये है शरत-बत्रा का लक्ष्‍य

शरत की निगाहें ओलंपिक में कम से कम मिक्‍स्‍ड डबल्‍स के क्वार्टरफाइनल तक पहुंचने पर लगी हैं। 32वें नंबर के खिलाड़ी ने कहा, 'मुझे लगता है कि अगर हम क्वार्टरफाइनल तक पहुंच सके तो यह ओलंपिक में हमारा शानदार परिणाम होगा। इसके बाद का प्रदर्शन बोनस होगा।' मिक्‍स्‍ड डबल्‍स में इस नतीजे का मतलब है कि भारत की अब टोक्यो (दो पुरूष और महिला एकल में, एक मिक्‍स्‍ड डबल्‍स में) में पांच प्रविष्टियां होंगी।

मनिका ने कहा, 'मैं अपने प्रदर्शन से खुश थी कि मैं सांग सु और जियोन जिही जैसे खिलाड़ियों की सर्विस और उनके आक्रमण का सामना कर पाई। शरत भईया ने उन पर दबाव बनाने के लिए अपने आक्रमण का अच्छा इस्तेमाल किया। मैं बहुत खुश हूं कि एकल के साथ हम कोरिया और सिंगापुर की जोड़ियों को हराकर मिक्‍स्‍ड डबल्‍स में भी क्वालीफाई करने में में सफल रहे।'

Quick Links

Edited by Vivek Goel
Be the first one to comment