मोंटे कार्लो मास्टर्स से हटे 11 बार के चैंपियन राफेल नडाल, अल्कराज ने भी नाम लिया वापस

नडाल और अल्कराज, दोनों ही इस बार खिताब के प्रबल दावेदार माने जा रहे थे।
नडाल और अल्कराज, दोनों ही इस बार खिताब के प्रबल दावेदार माने जा रहे थे

पूर्व विश्व नंबर 1 टेनिस खिलाड़ी राफेल नडाल मोंटे कार्लो मास्टर्स में भाग नहीं लेंगे। रिकॉर्ड 11 बार इस खिताब को जीत चुके नडाल ने सोशल मीडिया पर ऐलान किया कि ऑस्ट्रेलियन ओपन के दौरान उनके बाएं पैर में चोट लगी थी और अभी तक उनकी स्थिति पूरी तरह ठीक नहीं हुई है। ऐसे में वह इस ATP 1000 प्रतियोगिता का हिस्सा नहीं बन पाएंगे।

नडाल ने ट्वीट कर अपनी चोट की स्थिति की जानकारी दी।
नडाल ने ट्वीट कर अपनी चोट की स्थिति की जानकारी दी।

नडाल ने साल 2005 से लेकर साल 2012 तक लगातार 8 बार मोंटे कार्लो का खिताब जीता है जो कि एक रिकॉर्ड है। साल 2013 में सर्बिया के नोवाक जोकोविच ने नडाल को फाइनल में हराते हुए उनके जीत के क्रम को तोड़ा था। नडाल ने इसके बाद साल 2016, 2017 और 2018 में भी खिताब जीता। ऐसे में उनका इस बार प्रतियोगिता में भाग न लेना फैंस को काफी निराश करेगा।

नडाल के अलावा विश्व नंबर 2 कार्लोस अल्कराज भी टूर्नामेंट में भाग नहीं लेंगे। हाल ही में इंडियन वेल्स का खिताब जीतने वाले अल्कराज पिछले हफ्ते मियामी ओपन के सेमीफाइनल में हारे थे। अल्कराज ने ट्विटर पर संदेश साझा कर बताया कि मियामी ओपन के अपने आखिरी मैच के दौरान उन्हें शारीरिक तौर पर काफी तकलीफ हुई और डॉक्टर की सलाह पर वह मोंटे कार्लो में खेल नहीं पाएंगे। क्ले कोर्ट पर पिछले साल अच्छा प्रदर्शन करने वाले अल्कराज को मोंटे कार्लो में जीत का दावेदार माना जा रहा था।

इनके अलावा कनाडा के युवा खिलाड़ी फीलिक्स ऑगर-अलियासिमे भी इस बार प्रतियोगिता का हिस्सा नहीं बनेंगे। विश्व नंबर 7 फीलिक्स पिछले साल इस टूर्नामेंट के क्वार्टर-फाइनल तक पहुंचे थे। फीलिक्स घुटने में तकलीफ के कारण खेलने में असमर्थ हैं।

मोंटे कार्लो टूर्नामेंट का आयोजन यूरोपीय देश फ्रांस के रोकब्रून-केप-मार्टिन में होता है जो मोनाको देश के साथ अपनी सीमा साझा करता है। प्रतियोगिता का आयोजन मोंटे कार्लोस कंट्री क्लब के टेनिस कोर्ट पर किया जाता है। इस साल यह टूर्नामेंट 9 अप्रैल से 16 अप्रैल के बीच होगा।

Edited by Prashant Kumar
App download animated image Get the free App now