Create

नोवाक जोकोविच को हराकर रुब्लेव ने जीता सर्बिया ओपन का खिताब

24 साल के रुब्लेव का इस सीजन का ये दूसरा एटीपी टाइटल है।
24 साल के रुब्लेव का इस सीजन का ये दूसरा एटीपी टाइटल है।

नोवाक जोकोविच इस सीजन का अपना पहला एटीपी टाइटल जीतने से चूक गए हैं। विश्व नंबर 1 जोकोविच को सर्बिया ओपन पुरुष सिंगल्स के फाइनल में विश्व नंबर 8 और टूर्नामेंट में दूसरी वरीयता प्राप्त एंड्री रूब्लेव ने 6-2, 6-7, 6-0 से मात दी। फरवरी में इसी साल दोहा टेनिस चैंपियनशिप जीतने वाले रुब्लेव का ये इस सीजन का दूसरा खिताब है। 24 साल के रुब्लेव ने पहली बार सर्बिया ओपन का खिताब अपने नाम किया है। वहीं इस साल के अपने पहले फाइनल में खेल रहे जोकोविच और उनके फैंस के हाथों निराशा ही लगी।

The moment when @AndreyRublev97 defeated the reigning World No. 1 for the first time 🙌@SerbiaOpen2022 | #SerbiaOpen https://t.co/dGhqiRt1zl

पहले सेट में जोकोविच बेहद कमजोर दिखे और रुब्लेव ने सेट आसानी से जीत लिया। जोकोविच ने दूसरे सेट में रुब्लेव को कड़ी टक्कर दी और मैच बचाते हुए सेट अपने नाम किया। फैंस को लग रहा था कि यहां से तीसरा सेट जोकोविच ले जाएंगे क्योंकि सर्बिया ओपन के अभी तक के अपने तीनों मुकाबलों में जोकोविच ने 3 सेट तक मुकाबलों को खींचा था और मैच जीते थे। लेकिन तीसरे और निर्णायक सेट में जोकोविच का खेल थकान भरा दिखा। रुब्लेव ने तीसरे सेट में जोकोविच की सर्विस ब्रेक की और उन्हें एक भी गेम नहीं जीतने दिया।

जोकोविच पूरे टूर्नामेंट में हर मैच में हारते-हारते बचे थे लेकिन फाइनल में मैच गंवा ही बैठे।
जोकोविच पूरे टूर्नामेंट में हर मैच में हारते-हारते बचे थे लेकिन फाइनल में मैच गंवा ही बैठे।

विश्व नंबर 1 जोकोविच इस साल की शुरुआत में कोविड वैक्सिनेशन न करवाने के कारण ऑस्ट्रेलियन ओपन में नहीं खेल पाए थे। फरवरी में दुबई टेनिस चैंपियनशिप आयोजकों ने उन्हें खेलने के लिए आमंत्रित किया जहां क्वार्टरफाइनल में जोकोविच हार गए और नंबर 1 का ताज भी गंवा बैठे। इसके बाद इंडियन वेल्स और मियामी ओपन में भी अमेरिका के वैक्सिनेशन नियम के चलते जोकोविच भाग नहीं ले पाए। जबकि पिछले हफ्ते सीजन के पहले क्ले कोर्ट एटीपी मास्टर्स टाइटल मोंटे-कार्लो ओपन में जोकोविच अपने पहले ही मैच में हार गए थे। सर्बिया ओपन उनके इस सीजन का पहला खिताब हो सकता था लेकिन पहले ही मैच से जोकोविच की थकान सभी को दिखाई दे रही थी जहां हर मैच में वो संघर्ष करते दिखे। अगले महीने फ्रेंच ओपन से पहले जोकोविच को अपनी लय में वापस आना होगा नहीं तो वो अपना ताज डिफेंड करने की हालत में नहीं होंगे।

वहीं रुब्लेव ने सर्बिया ओपन का खिताब पहली बार में जीतकर अपना खेल और मनोबल दोनों बढ़ाया है। इस मुकाबले से पहले जोकोविच से रुब्लेव एक बार भिड़े थे और हार गए थे। ऐसे में ये जीत उनके लिए काफी खास है।

Edited by निशांत द्रविड़
Be the first one to comment