Create

ऑस्ट्रेलियन ओपन : पहले दिन जीते टॉप खिलाड़ी, ज्वेरेव, नडाल, नेओमी और बार्टी अगले दौर में

विश्व नंबर 3 ऐलेग्जेंडर ज्वेरेव अपने पहले ग्रैंड स्लैम की तलाश में हैं।
विश्व नंबर 3 ऐलेग्जेंडर ज्वेरेव अपने पहले ग्रैंड स्लैम की तलाश में हैं।
Hemlata Pandey

साल के पहले ग्रैंड स्लैम ऑस्ट्रेलियन ओपन के पहले दिन सभी टॉप वरीयता प्राप्त खिलाड़ियों ने अपने-अपने मुकाबले जीतकर दूसरे दौर में जगह बनाने में कामयाबी हासिल की। ऐलेग्जेंडर ज्वेरेव, नडाल नेओमी ओसाका ने अपने कद के अनुसार खेल दिखाया और अगले दौर में जगह बनाई।

ज्वेरेव, बेरेटिनी अगले दौर में

तीसरी वरीयता प्राप्त जर्मनी के ऐलेग्जेंडर ज्वेरेव ने हमवतन डेनियल आल्टमायर को 7-6, 6-1, 7-6 से हराकर अगले दौर में जगह बनाई तो स्पेन के राफेल नडाल ने अमेरिका के मार्कस जीरोन को आसानी से 6-1, 6-4, 6-1 से हराकर दूसरे दौर में प्रवेश किया। कुल 20 ग्रैंड स्लैम जीत चुके नडाल सिर्फ एक बार साल 2009 में ऑस्ट्रेलियन ओपन जीतने में कामयाब रहे। सातवीं वरीयता प्राप्त इटली के मतेओ बेरेटिनी भी अगले दौर में पहुंचे। पुरुष सिंगल्स में दुनिया के नंबर 1 खिलाड़ी और गत विजेता सर्बिया के नोवाक जोकोविच के नहीं खेलने से टूर्नामेंट काफी खुल चुका है और सभी खिलाड़ियों के पास नए सिरे से ये ग्रैंड स्लैम जीतने का मौका है।

बार्टी, ओसोका की आसान जीत

विश्व नंबर 1 महिला खिलाड़ी ऑस्ट्रेलिया की ऐशली बार्टी ने पहले दौर में यूक्रेन की क्वालिफायर लेसिया सुरेंको को 6-0, 6-1 से हराकर अगले दौर में प्रवेश किया जहां उनका सामना इटली की क्वालिफायर लूसिया ब्रॉसेंटी से होगा। वहीं पिछले साल की विजेता और 13वीं वरीयता प्राप्त जापान की नेओमी ओसाका ने पहले दौर में कैमिला ओसेरियो को सीधे सेटों में 6-3, 6-3 से मात देते हुए दूसरे दौर में जगह बनाई। वहीं पांचवी वरीयता प्राप्त ग्रीस की मारिया सक्कारी ने भी जर्मनी की तात्याना मारिया को 6-4, 7-6 से हराकर अगले दौर में प्रवेश किया। चौथी वरीयता प्राप्त चेक गणराज्य की बारबरा क्रिचगोवा ने भी दूसरे दौर में जगह बनाई। अमेरिका की गैर वरीयता प्राप्त मैडिसन कीज ने हमवतन 11वीं वरीयता प्राप्त सोफिया केनिन को 7-6, 7-5 से मात देकर दिन का पहला उलटफेर किया।

इस बार पूर्व विश्व नंबर 1 टेनिस खिलाड़ी सेरेना विलियम्स और उनकी बहन वीनस विलियम्स दोनों ही टूर्नामेंट में नहीं खेल रही हैं। साल 1997 के बाद ऐसा पहली बार होगा कि ऑस्ट्रेलियन ओपन में एक भी विलियम्स बहन नहीं दिखाई देगी। महिला सिंगल्स में हर बार की तरह इस बार भी दावेदारी काफी खुली हुई है। 2007 से लेकर 2021 तक 15 सालों में ऑस्ट्रेलियन ओपन को 11 अलग-अलग महिला खिलाड़ियों ने जीता है।


Edited by निशांत द्रविड़

Comments

Fetching more content...