1939 से फ्रेंच ओपन के फाइनल में पहुंचने वाली पहली पोलिश महिला बनीं इगा वियातेक

इगा वियातेक
इगा वियातेक

युवा इगा वियातेक 81 सालों में फ्रेंच ओपन के फाइनल में पहुंचने वाली पहली पोलिश महिला बन गई हैं। इगा वियातेक ने गुरुवार को फ्रेंच ओपन के सेमीफाइनल में अर्जेंटीना की क्‍वालीफायर नाडिया पोडोरोस्‍का को 6-2, 6-1 से मात दी। 19 साल की इगा वियातेक ने मौजूदा फ्रेंच ओपन में अब तक एक भी सेट नहीं गंवाया है। अब इगा वियातेक का फ्रेंच ओपन के फाइनल में सामना रविवार को दो बार की विंबलडन चैंपियन पेट्रा क्विटोवा या ऑस्‍ट्रेलियन ओपन विजेता सोफिया केनिन से होगा।

फ्रेंच ओपन के फाइनल में पहुंचने के बाद इगा वियातेक ने कहा, 'मैं आश्‍चर्यचकित हूं। मैंने कभी शुरूआत में नहीं सोचा था कि यहां इतना अच्‍छा खेलूंगी, लेकि हमेशा से पता था कि अगर किसी ग्रैंड स्‍लैम के फाइनल में पहली बार पहुंचूंगी तो वो फ्रेंच ओपन होगा। मेरा सपना सच हो गया।' इगा वियातेक ने हमवतन जाडविगा जेडजेजोव्‍स्‍का की बराबरी की, जो 1939 में फ्रेंच ओपन के फाइनल में पहुंची थीं। तब जाडविगा रनर्स-अप रहीं थीं।

वियातेक ओपन एरा में किसी ग्रैंड स्‍लैम फाइनल में पहुंचने वाली दूसरी पोलिश महिला बनी हैं। इससे पहले 2012 में एगनिस्‍का रडवांस्‍का विंबलडन फाइनल में पहुंची थीं।

इगा वियातेक फ्रेंच ओपन के फाइनल में पहुंचने वाली सातवीं गैरवरीय महिला फाइनलिस्‍ट बनीं। पिछले 6 में से सिर्फ येलेना ओस्‍टापेंको ने 2017 में खिताब जीतने में सफलता हासिल की थी। इगा वियातेक ने कहा, 'मैं इस मैच को ऐसे खेलना चाहती थी, जैसे पहले राउंड का मैच है। मुझे नहीं सोचना था कि सेमीफाइनल मैच है क्‍योंकि इससे मुझ पर दबाव बढ़ता।' बता दें कि फ्रेंच ओपन में बिना सेट गंवाए आखिरी बार खिताब जीतने वाली महिला थीं जस्टिन हेनिन, जिन्‍होंने 2007 में खिताब अपने नाम किया था।

फ्रेंच ओपन में जोकोविच का धमाल

दुनिया के नंबर एक खिलाड़ी नोवाक जोकोविच ने बाएं हाथ में दर्द से जूझते हुए 17वीं रैंकिंग वाले पाब्लो कारेनो बुस्टा को हराकर फ्रेंच ओपन के सेमीफाइनल में जगह बनाई। जोकोविच की शुरूआत धीमी रही और वह बीच में कई बार दर्द से जूझते दिखे। उन्होंने ट्रेनर से मालिश भी कराई। जोकोविच ने यह मुकाबला 4-6, 6 -2, 6-3, 6-4 से जीता और रोलां गैरो पर दूसरे खिताब की ओर अगला कदम बढ़ा दिया।

पिछले महीने अमेरिकी ओपन के चौथे दौर में भी ये दो खिलाड़ी आमने सामने थे जब लाइन जज को गुस्से में गेंद मारने के कारण जोकोविच को टूर्नामेंट से बाहर होना पड़ा। उसके बाद से खेले सभी दस मैच जोकोविच ने जीते हैं। जोकोविच का सेमीफाइनल में सामना स्‍टेफानोस सितसिपास से होगा। वहीं दूसरे सेमीफाइनल में दूसरी रैंकिंग वाले रफेल नडाल की टक्कर 12वीं रैंकिंग प्राप्त डिएगो श्वार्त्जमैन से होगी।

App download animated image Get the free App now