Create
Notifications

फैंस के बुरे कमेंट्स से पूर्व विश्व नंबर 1 नेओमी ओसाका के छलके आंसू, बीच कोर्ट साझा किया अपना दर्द

नेओमी ओसाका दर्शक के कमेंट के बाद बीच मैच में आंसू रोक नहीं पाईं।
नेओमी ओसाका दर्शक के कमेंट के बाद बीच मैच में आंसू रोक नहीं पाईं।
reaction-emoji
Hemlata Pandey
visit

खेल की दुनिया में कई बार ऐसे वाकये होते हैं जहां फैंस गुस्से में किसी खिलाड़ी को कुछ बुरा-भला बोल जाएं। लेकिन कई बार ये शब्द इतना दर्द दे जाते हैं कि बड़े से बड़ा खिलाड़ी भी इन्हें झेल नहीं पाता। कुछ ऐसा ही हुआ पूर्व विश्व नंबर 1 टेनिस खिलाड़ी और 4 बार की ग्रैंड स्लैम विजेता नेओमी ओसाका के साथ जिन्हें इंडियन वेल्स मास्टर्स टूर्नामेंट में मैच के दौरान कुछ दर्शकों के निराशाजनक कमेंट सुनने पड़े जिससे वो बीच कोर्ट बुरी तरह रोने लगीं।

“I just wanted to say ‘Thank You.” “I’ve gotten heckled before but heckled here, I watched a video of Venus and Serena getting heckled here. If you haven’t watched it, you should watch it.” A tearful Naomi Osaka after a fool fan heckled her vs Veronika Kudermetova #BNPPO22 https://t.co/NkM7MoRwD4

कैलिफोर्निया, अमेरिका में हो रहे टूर्नामेंट के दूसरे दौर के मुकाबले में नेओमी रूस की वेरोनिका कुदेरमेतोवा के खिलाफ खेल रहीं थीं। नेओमी को मैच में 0-6, 4-6 से हार का सामना करना पड़ा। पहला सेट हारने के बाद दूसरे सेट के दौरान ऐरिना में मौजूद एक दर्शक ने उनके खेल को लेकर जोर से कुछ टिप्पणी की और कई बार उनका ध्यान भटकाने की कोशिश की। नेओमी ने खुद चेयर अंपायर के पास जाकर उस दर्शक को बाहर निकालने के लिए आग्रह भी किया, लेकिन चेयर अंपायर ने कहा कि हजारों की मौजूदगी में यह निश्चित नहीं किया जा सकता कि वो कौन सी दर्शक है।

For those who may have missed this, Naomi Osaka had to deal with some nutcase person at Indian Wells yelling “Naomi YOU SUCK!” at her before the second game of her match vs Veronika Kudermetova #BNPPO22 @BNPPARIBASOPEN https://t.co/FNJrw3099Y

आमतौर पर शुरुआती दौर के मैचों के बाद खिलाड़ी माइक पर कुछ नहीं कहते। लेकिन मैच हारने के बाद नेओमी ने चेयर अंपायर से उनका माइक मांगा और रोते-रोते अपना दर्द साझा किया। नेओमी ने सबसे पहले वहां मौजूद दर्शकों का धन्यवाद किया, लेकिन उन्हें ये भी याद दिलाया कि कुछ साल पहले वीनस और सेरेना विलियम्स को इसी टूर्नामेंट के दौरान कुछ भद्दी टिप्पणियों का सामना करना पड़ा था। नेओमी बेहद परेशान दिखीं और उनके आंसू लगातार छलक रहे थे।

INDIAN WELLS | Andrew Krasny to Naomi Osaka after she addressed the heckling during her defeat to 21st seed Veronika Kudermetova:“Out of about 10,000 people, one person’s voice can’t weigh out 9,999 others and we love you here.” ❤️📸 | Clive Brunskill [Getty] https://t.co/NkJGYR8RAb

हालांकि वहां मौजूद सुपरवाइजर ने उनसे अनुरोध किया कि उन्हें देखने आए 10 हजार दर्शकों में से 1 ने अगर कुछ बुरा कहा है तो नेओमी बाकि 9 हजार 999 दर्शकों के प्यार को याद रखें और उन्हें हौसला देने की कोशिश की। नेओमी के साथ हुई हरकत और उनके आंसुओं के बाद सोशल मीडिया पर उनके समर्थन में फैंस की प्रतिक्रियाओं का अंबार लग गया।

Stop bullying black women in sports. Y’all tried it with the Williams sisters. Now with her. None of their haters can hold a candle to them or Naomi Osaka. Stop bullying this talented young lady.. it’s tasteless 😡#Naomi

इंडियन वेल्स यानि बीएनपी परिबास ओपन नामक टूर्नामेंट को टेनिस जगत में पांचवे ग्रैंड स्लैम के रूप में भी लोकप्रियता हासिल है। तीन साल बाद टूर्नामेंट में वापसी कर रही जापान की नेओमी ने साल 2018 में यहां सिंगल्स का खिताब जीता था। पहले दौर में नेओमी ने पूर्व यूएस ओपन चैंपियन स्लोन स्टीफन्स को हराया था।

Naomi Osaka was a child when Venus and Serena faced the despicable racism at Indian Wells a few decades ago.Those scars were re-awoken for Naomi tonight, and I feel terrible for her.

ये कैसे फैंस ?

नेओमी के साथ हुई ये हरकत पहली नहीं है। साल 2018 में यूएस ओपन के फाइनल में नेओमी ने सेरेना विलियम्स को हराया। उस मैच के दौरान वहां मौजूद दर्शकों ने नेओमी को काफी बू किया था। उनका बर्ताव इतना खराब था कि मैच प्रेजेंटेशन सेरेमनी के दौरान भी दर्शक नेओमी को बू कर रहे थे और सेरेना को दर्शकों से अपील करनी पड़ी कि 19 साल की नेओमी के साथ ऐसा न करें। नेओमी काफी समय से मानसिक स्वास्थ्य को लेकर खुलकर बोलती रही हैं।2021 में फ्रेंच ओपन के दौरान नेओमी ने घोषणा की कि वह मैच के बाद होने वाली प्रेस कॉन्फ्रेंस अटेंड करने में सहज महसूस नहीं करतीं इसलिए प्रेस कॉन्फ्रेंस नहीं करेंगी। पहले मैच के बाद जब वो प्रेस के सामने नहीं आईं तो उनपर आयोजकों ने फाइन लगाया। अगले ही दिन नेओमी ने मानसिक स्वास्थ्य का हवाला देते हुए टूर्नामेंट से नाम वापस ले लिया।

Naomi Osaka was treated very harshly on account of the verbal abusive comments made. When negative remarks are made it not only creates an atmosphere that is extremely unpleasant and uncomfortable but undervalues a person's character. #NaomiOsaka #IndianWells

ये समझना जरूरी है कि खिलाड़ी भी इंसान ही होते हैं और उनपर प्रदर्शन का सबसे ज्यादा दबाव होता है। ऐसे में भले ही किसी व्यक्ति को कोई खिलाड़ी पसंद न हो, लेकिन कम से कम खेल के प्रति इज्जत रखते हुए किसी खिलाड़ी को नीचा दिखाने का प्रयास करना उस खिलाड़ी को तोड़ सकता है। नेओमी के मामले ने हमें यही सबक दिया है। एक खिलाड़ी जो कोर्ट पर अपना खेल और टैलेंट सभी के सामने रखता है, जिसने किसी फैन का निजी नुकसान नहीं किया, उसपर निजी टिप्पणी करना वो भी मैच के दौरान बेहूदा हरकत है। 24 साल की एक युवा खिलाड़ी को अगर बीच मैच में आंसू छलकाने पर मजबूर होना पड़ता है तो ये इस खेल की हार है।


Edited by निशांत द्रविड़
reaction-emoji
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now