Create

ऑस्ट्रेलियन ओपन के ड्रॉ में आया जोकोविच का नाम, सितसिपास बोले ये नाइंसाफी 

जोकोविच का नाम मेन ड्रॉ में आने के बाद सितसिपास ने कड़ी आपत्ति जताई है।
जोकोविच का नाम मेन ड्रॉ में आने के बाद सितसिपास ने कड़ी आपत्ति जताई है।
reaction-emoji
Hemlata Pandey

हाल ही में ऑस्ट्रेलियाई कोर्ट की ओर से वीजा कैंसिल किए जाने को लेकर बड़ी राहत पाने वाले दुनिया के नंबर 1 टेनिस खिलाड़ी नोवाक जोकोविच को ऑस्ट्रेलियन ओपन के मेन ड्रॉ में जगह मिल गई है। हालांकि अब भी जोकोविच के वीजा की स्थिति को लेकर तस्वीर साफ नहीं है क्योंकि ऑस्ट्रेलियाई सरकार अपनी किरकिरी के बाद जोकोविच के वीजा पर कोई बड़ा फैसला लेने की फिराक में है, लेकिन 17 जनवरी से शुरु हो रहे साल के पहले ग्रैंड स्लैम में जोकोविच को जगह मिलने से ये साफ हो गया है कि टूर्नामेंट के आयोजक जोकोविच को खिलाने के पक्ष में हैं। हालांकि जोकोविच का नाम ड्रॉ में आने से कई खिलाड़ी नाराज भी हैं। ग्रीस के खिलाड़ी स्टेफानोस सितसिपास ने बयान देते हुए कहा कि इस फैसले से उन खिलाड़ियों का मजाक उड़ रहा है जो नियमों को मानते हुए वैक्सीन से जुड़ी सभी फॉर्मेलिटी करके आए हैं।

पहले राउंड में आधिकारिक रूप से जोकोविच का नाम रखा गया है।
पहले राउंड में आधिकारिक रूप से जोकोविच का नाम रखा गया है।

पिछले साल फ्रैंच ओपन के फाइनल में जोकोविच के हाथों मात खाने वाले विश्व नंबर 4 सितसिपास ने ड्रॉ में जोकोविच का नाम शामिल किए जाने पर आयोजकों की आलोचना करते हुए कहा कि जोकोविच अपने नियमों के हिसाब से खेल रहे हैं और उन्हें ऐसा करने दिया जा रहा है। एक भारतीय मीडिया हाउस से बात करते हुए सितसिपास ने माना कि जोकोविच ने जिस तरह अपने नियमों को चलाने के लिए ग्रैंड स्लैम में खेलने के मौके को ताक पर रखा वैसा कम ही खिलाड़ी कर पाते हैं। खास बात ये है कि सिर्फ जोकोविच के वीजा पर फैसले में आ रही देरी को लेकर पहले खबर आ रही थी कि ड्रॉ की घोषणा कैंसिल कर दी गई है, लेकिन बाद में ड्रॉ घोषित कर दिया गया।

The #AO2022 men’s draw is set, with @rafaelnadal and @djokernole on the same side of the draw.#AusOpen

पहले दौर में दुनिया के नंबर 1 सर्बियाई खिलाड़ी का सामना हमवतन मिओमिर केचमानोविच से होगा। विश्व नंबर 78 केचमानोविच ने पिछले साल मार्च में अपने करियर की सबसे बेहतर 38वीं सिंगल्स रैंकिंग भी हासिल की थी। गत चैंपियन जोकोविच रिकॉर्ड 10वें ऑस्ट्रेलियन ओपन और रिकॉर्ड 21वें ग्रैंड स्लैम की तलाश में हैं। विश्व नंबर 3 जर्मनी के ऐलेग्जेंडर ज्वेरेव और पूर्व विश्व नंबर 1 स्पेन के राफेल नडाल भी जोकोविच के ड्रॉ में ही हैं।

समर्थक और आलोचक बटें

जोकोविच की ओर से भी हाल ही में ये माना गया है कि उनके वीजा फॉर्म में गड़बड़ी उन्हीं की टीम की तरफ से हुई थी और दिसंबर में कोविड पॉजिटिव आने के दो दिन बाद कोविड प्रोटोकॉल को तोड़ते हुए जोकोविच ने एक पत्रकार को इंटर्व्यू भी दिया था। ऐसे में ड्रॉ में नाम आने के बाद जोकोविच के समर्थक और आलोचक दोनों ही बढ़ते दिख रहे हैं। सोशल मीडिया पर भी लोगों का मत बंटा हुआ दिख रहा है।

वीजा अब भी छीना जा सकता है

फिलहाल ऑस्ट्रेलियन ओपन को शुरु होने में भले ही कुछ दिन बचे हैं लेकिन सिर्फ मेन ड्रॉ में नाम आने से ये पक्का नहीं है कि जोकोविच को खेलने का मौका मिलेगा। 6 जनवरी को मेलबर्न एयरपोर्ट पहुंचने पर ऑस्ट्रेलियाई बॉर्डर फोर्स ने जोकोविच को एयरपोर्ट से बाहर नहीं जाने दिया था और उनका वीजा कैंसिल कर उन्हें डिटेंशन सेंटर भेज दिया था। इसके बाद जोकोविच के परिवार और टीम ने स्थानीय कोर्ट में अपील की जहां 10 जनवरी को जज ने जोकोविच के वीजा को कैंसिल किए जाने को गलत बताते हुए उन्हें देश में रहने की इजाजत दी। लेकिन अब भी ऑस्ट्रेलियाई सरकार की तरफ से जोकोविच का वीजा वापस लिए जाने के लिए कोशिशें की जा रही हैं। ऐसे में 17 जनवरी से पहले मुमकिन है कि ये पूरा मामला कोई नाटकीय मोड़ ले ले और जोकोविच के फैंस को निराश होना पड़े।


Edited by Prashant Kumar
reaction-emoji

Comments

Fetching more content...