Create

दुबई ओपन में क्वालीफायर से हारे नोवाक जोकोविच, छिन गया नंबर 1 का ताज, मेदवेदेव बनेंगे वर्ल्ड नंबर 1

जोकोविच रिकॉर्ड कुल 361 हफ्तों तक विश्व नंबर 1 खिलाड़ी रहे।
जोकोविच रिकॉर्ड कुल 361 हफ्तों तक विश्व नंबर 1 खिलाड़ी रहे।

नोवाक जोकोविच दुबई ओपन के क्वार्टर-फाइनल में क्वालीफायर जिरि वेसली के हाथों सीधे सेटों में 6-4, 7-6 से हारकर बाहर हो गए। जोकोविच की इस हार का मतलब है कि अब वो दुनिया के नंबर 1 टेनिस खिलाड़ी नहीं रहेंगे।

LIGHTNING STRIKES TWICE ⚡️ ⚡️@jiri_vesely stuns Djokovic for the 2nd time in his career, ending his reign at No. 1 with a 6-4 7-6 victory! https://t.co/YXVuWHCuxq

रिकॉर्ड कुल 361 हफ्तों तक नंबर 1 रहने के बाद इस सोमवार जारी होने वाली एटीपी की रैंकिंग सूची में पुरुषों के विश्व नंबर 1 डेनिल मेदवेदेव बनेंगे। जोकोविच की हार हैरान करने वाली है। फिलहाल मेदवेदेव मेक्सिको ओपन में खेल रहे हैं।

Congratulations also to a very deserving @DaniilMedwed, who will now become world number 1. 👏🙌

दूसरी बार हारे वेसली से

जोकोविच को हराकर सभी को चौंकाने वाला वेसली खुशी मनाते हुए।
जोकोविच को हराकर सभी को चौंकाने वाला वेसली खुशी मनाते हुए।

जोकोविच और विश्व नंबर 123 वेसली के बीच मुकाबला काफी टक्कर भरा रहा। वेसली और जोकोविच ने 9-9 एस लगाए। जोकोविच ने 4 डबल फॉल्ट किए जबकि वेसली ने सिर्फ 3 डबल फॉल्ट किए। जोकोविच के नाम 2 ब्रेक प्वाइंट रहे तो वेसली के नाम 3। लेकिन आखिरकार दोनों सेट वेसली ने अपने नाम करते हुए न सिर्फ मैच अपने नाम किया, बल्कि जोकोविच की बादशाहत भी खत्म की। खास बात ये है कि इससे पहले दोनों खिलाड़ी सिर्फ 1 बार भिड़े हैं और तब भी जोकोविच हारे थे। साल 2016 में मोंटे कार्लो एटीपी मास्टर्स टूर्नामेंट के राउंड ऑफ 32 में वेसली ने जोकोविच को 6-4, 2-6, 6-4 से मात दी थी।

फरवरी 2020 से थे नंबर 1

जोकोविच पिछली बार 2 फरवरी 2020 को नई जारी एटीपी रैंकिंग में राफेल नडाल को पछाड़ते हुए विश्व नंबर 1 बने थे। अब रूस के डेनिल मेदवेदेव विश्व नंबर 1 खिलाड़ी होंगे। मरात साफिन और येवगेनी कफालनिकोव के अलावा नंबर 1 बनने वाले मेदवेदेव तीसरे रूसी खिलाड़ी होंगे। जोकोविच के नाम 8875 रैंकिंग प्वाइंट थे जबकि मेदवेदेव के नाम 8435 प्वाइंट। लेकिन सोमवार को जारी होने वाली नई रैंकिंग में मेदवेदेव जोकोविच को पीछे कर देंगे।

Edited by Prashant Kumar
Be the first one to comment