मोंटे-कार्लो मास्टर्स : डबल्स के दूसरे दौर में हारकर बाहर हुई रोहन बोपन्ना और मैथ्यू एब्डन की जोड़ी

बोपन्ना और मैथ्यू एब्डन की जोड़ी लगातार दूसरे टूर्नामेंट में इतनी जल्दी हारकर बाहर हुई है।
बोपन्ना और मैथ्यू एब्डन की जोड़ी लगातार दूसरे टूर्नामेंट में इतनी जल्दी हारकर बाहर हुई है

भारत के टेनिस खिलाड़ी रोहन बोपन्ना फ्रांस में हो रही मोंटे कार्लो एटीपी 1000 प्रतियोगिता के पुरुष डबल्स मुकाबलों से बाहर हो गए हैं। दूसरे दौर में बोपन्ना और उनके ऑस्ट्रेलियाई जोड़ीदार मैथ्यू एब्डन की जोड़ी को चौंकाने वाली हार मिली। पिछले ही महीने इंडियन वेल्स मास्टर्स जीतने के बाद लगातार दूसरी बार किसी टूर्नामेंट से यह जोड़ी इतनी जल्दी हारकर बाहर हुई है।

ATP 1000 Rolex Monte-Carlo Masters : 7th seed Rohan Bopanna and Matthew Ebden exits in second round[R2](7)Bopanna 🇮🇳/Ebden🇦🇺 l. Putz🇩🇪/Krawietz🇩🇪 : 4-6 3-6 https://t.co/XsASq15TFl

प्रतियोगिता में सातवीं वरीयता प्राप्त बोपन्ना और एब्डन की जोड़ी को जर्मनी के टिम पत्ज और केविन क्राविट्ज की गैर वरीय जोड़ी ने आसानी से 6-4, 6-3 से मात दी। जर्मन जोड़ी की दमदार सर्व रिटर्न करने में बोपन्ना और एब्डन, दोनों को ही काफी दिक्कत हुई। फर्स्ट सर्व में जर्मन जोड़ी की पकड़ 92 फीसदी थी जबकि भारतीय-ऑस्ट्रेलियाई जोड़ी को महज 73 फीसदी मौकों पर सफलता मिली। बोपन्ना और एब्डन की जोड़ी ने दो डबल फॉल्ट भी किए, वहीं जर्मन जोड़ी ने ऐसी एक भी गलती नहीं की।

इस सीजन के शुरुआती तीन महीने भारत के रोहन बोपन्ना के लिए काफी अच्छे रहे थे। जनवरी में वह पुरुष डबल्स में महाराष्ट्र ओपन के उपविजेता बने, इसके बाद एडिलेड इंटरनेशनल में भी मैथ्यू एब्डन के साथ उपविजेता बने। ऑस्ट्रेलियन ओपन के मिक्स्ड डबल्स फाइनल में सानिया मिर्जा के साथ बोपन्ना उपविजेता बने। इसके बाद रॉटरडैम ओपन में पुरुष डबल्स के फाइनल तक मैथ्यू एब्डन के साथ ही पहुंचे। इनकी जोड़ी ने फरवरी में कतर ओपन का खिताब जीत फाइनल में हारने के सिलसिले को तोड़ा। लेकिन इसके अगले ही हफ्ते दोनों दुबई टेनिस चैंपियनशिप के पुरुष डबल्स में उपविजेता बने।

बोपन्ना-एब्डन की जोड़ी ने तीन हफ्ते पहले ही इंडियन वेल्स मास्टर्स का खिताब जीता था।
बोपन्ना-एब्डन की जोड़ी ने तीन हफ्ते पहले ही इंडियन वेल्स मास्टर्स का खिताब जीता था।

अमेरिका में हुई इंडियन वेल्स मास्टर्स प्रतियोगिता के पुरुष डबल्स फाइनल में टॉप सीड और विश्व नंबर 1 नील स्कूप्स्की और वेस्ली कूलहॉफ की जोड़ी को हराकर खिताब जीता। बोपन्ना 43 साल की उम्र में कोई भी एटीपी मास्टर्स खिताब जीतने वाले सबसे उम्रदराज खिलाड़ी भी बने थे। लेकिन इसके बाद बोपन्ना-एब्डन की जोड़ी मियामी ओपन के पहले दौर में हारकर बाहर हुई और अब सीजन के पहले क्ले टूर्नामेंट में दूसरे दौर में मुकाबला गंवा बैठी। प्रतियोगिता के अन्य डबल्स मैचों में टॉप सीड नील स्कूप्स्की-कूलहॉफ की जोड़ी क्वार्टर-फाइनल में पहुंच गई है। वहीं ग्रीस के स्टेफानोस सितसिपास और पेत्रोस सितसिपास की भाईयों की जोड़ी को दूसरे दौर में हार झेलनी पड़ी।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar
Be the first one to comment