फ्रेंच ओपन : बीच मैच में प्रदर्शनकारी  ने खुद को टेनिस नेट से बांधा, खिलाड़ी और आयोजक हैरान

रुड-सिलिच के बीच सेमीफाइनल मैच के बीच महिला ने खुद को यूं नेट से बांध लिया।
रुड-सिलिच के बीच सेमीफाइनल मैच के बीच महिला ने खुद को यूं नेट से बांध लिया।

फ्रेंच ओपन के पुरुष सिंगल्स सेकेंड सेमीफाइनल में एक गजब वाकया देखने को मिला जब एक प्रदर्शनकारी ने बीच मैच खुद को टेनिस नेट से बांध लिया। कैस्पर रूड और मारिन सिलिच के बीच चल रहे मुकाबले के तीसरे सेट के दौरान एक महिला ने अचानक कोर्ट पर आकर खुद के गले को प्लास्टिक के टैग का इस्तेमाल कर नेट से बांध लिया जिससे मैच को रोकना पड़ा। इस समय रूड 3-6, 6-4, 4-1 से आगे चल रहे थे।

वेबसाइट पर किया ऐलान

खुद को नेट से बांधने वाली महिला की टी-शर्ट पर लिखा था "हमारे पास 1028 दिन बचे हैं"। माना जा रहा है कि महिला एक पर्यावरण प्रेमी है और Dernier Renovation नामक मूवमेंट का हिस्सा है जो जलवायु परिवर्तन के विषय पर बात करता है। हालांकि 1028 दिनों वाला तथ्य क्या है ये पूरी तरह साफ नहीं हो पाया है।

प्रदर्शनकारी महिला को हटाने का उपाय ढूंढते कोर्ट पर मौजूद सुरक्षाकर्मी और आयोजक।
प्रदर्शनकारी महिला को हटाने का उपाय ढूंढते कोर्ट पर मौजूद सुरक्षाकर्मी और आयोजक।

खास बात ये है कि इस मूवमेंट की वेबसाइट https://derniererenovation.fr/ पर कोर्ट पर हुए वाकये के बाद इसके संबंध में सूचना भी डाली गई। फ्रेंच भाषा में लिखे गए संदेश के मुताबिक यह प्रोटेस्ट पर्यावरण पर जलवायु परिवर्तन के बढ़ते प्रभाव के कारण किया गया है और वेबसाइट के मुताबिक दुनियाभर के नेता एक ऐसे भविष्य की ओर हमें ले जा रहे हैं जहां फ्रेंच ओपन का आयोजन संभव ही नहीं हो पाएगा।

मार्च 2022 में प्रीमियर लीग के दौरान एक प्रदर्शनकारी ने खुद को गोलपोस्ट से बांध लिया था।
मार्च 2022 में प्रीमियर लीग के दौरान एक प्रदर्शनकारी ने खुद को गोलपोस्ट से बांध लिया था।

इस पूरे घटनाक्रम के बाद मैच करीब 25 मिनट तक प्रभावित हुआ, जिसके बाद रूड और सिलिच दोबारा मैदान पर आए, लेकिन इस हरकत के कारण मैच की लय जरूर प्रभावित हुई। वैसे खेल आयोजनों के दौरान इस प्रकार से कई बार प्रदर्शनकारी खुद मैदान पर आ जाते हैं लेकिन इस तरह खुद को खेल से जुड़े सामान के साथ बांधने की घटनाएं हाल ही में प्रचलित होती दिखी हैं। मार्च के महीने में इंग्लिशि प्रीमियर लीग में एवर्टन और न्यूकासल के मैच के दौरान भी एक शख्स ने खुद को गोलपोस्ट से बांध लिया था और वह तेल के इस्तेमाल के विरोध में प्रदर्शन कर रहा था।