शारापोवा के डोपिंग मामले की सुनवाई जून से पहले नहीं

IANS

रूसी टेनिस संघ के अध्यक्ष शामिल तारपिश्चेव ने यह बात कही। समाचार एजेंसी टास के अनुसार, वर्तमान में सभी प्रतियोगिताओं से निलंबित शारापोवा पर 'मेल्डोनियम' दवा के इस्तेमाल हेतु प्रतिबंध लगाया गया था। तारपिश्चेव ने सोमवार को कहा, "शारापोवा की स्थिति जटिल है। सबसे अहम बात यह है कि उन्होंने 'मेल्डोनियम' दवा के सेवन की बात कबूली है। इस मामले में अधिक समय नहीं लगेगा, क्योंकि दो प्रयोगशालाएं इसका अध्ययन नहीं करती। मेरा मानना है कि इसकी सुनवाई जून से पहले नहीं होने वाली।" रूस के खेल मंत्री विताली मुतको ने 27 अप्रैल को बताया था कि शारापोवा के रक्त के नमूने में 'मेल्डोनियम' दवा का प्रभाव अनुमय स्तर से अधिक पाया गया था। मुतको ने कहा, "शारापोवा का मामला काफी मुश्किल है, क्योंकि उनके रक्त के नमूनों में पाई गई प्रतिबंधित दवा की मात्रा अनुमय स्तर से अधिक थी। अपने चिकित्सक के सुझाव पर वह सात साल से इसका सेवन कर रही थीं। हम केवल उन्हें खेल में अपने पद पर वापस देखना चाहते हैं।" शारापोवा ने मार्च में यह घोषणा की थी कि 2016 आस्ट्रेलियन ओपन के दौरान हुए उनके रक्त नमूने में विश्व डोपिंग रोधी एजेंसी (वाडा) द्वारा एक जनवरी से प्रतिबंधित की गई दवा 'मेल्डोनियम' की मात्रा पाई गई है। एथलीट इस दवा का सेवन प्रशिक्षण सत्र के दौरान अपनी शारीरिक क्षमता को मजबूत करने और साथ ही प्रतियोगिताओं के दौरान भावनात्मक और मानसिक तनाव को सहज करने के लिए करते हैं। शारापोवा को 12 मार्च को टेनिस की सभी प्रतियोगिताओं से प्रतिबंधित कर दिया गया। उनके डोपिंग टेस्ट का परिणाम दो मार्च को आया था, जो पॉजिटिव था। 'मेल्डोनियम' दवा के सेवन पर निलंबन की अधिकतम अवधि चार वर्ष होती है। हालांकि, शारापोवा, अंतर्राष्ट्रीय टेनिस संघ (आईटीएफ) और वाडा के पास इस मामले में अधिसूचना प्राप्त होने के बाद से 21 दिनों तक इसके खिलाफ अपील करने का अधिकार होता है। --आईएएनएस