Create
Notifications

Wimbledon - दो बच्चों की मां तात्याना मारिया पहली बार सेमीफाइनल में पहुंची

34 साल की तात्याना का ये 46वां ग्रैंड स्लैम टूर्नामेंट है।
34 साल की तात्याना का ये 46वां ग्रैंड स्लैम टूर्नामेंट है।
Hemlata Pandey

विश्व नंबर 103 टेनिस खिलाड़ी जर्मनी की तात्याना मारिया ने विम्बल्डन के महिला सिंगल्स सेमीफाइनल में जगह बनाकर इतिहास रच दिया है। साल 2007 से ग्रैंड स्लैम मुकाबलों में खेल रही तात्याना पहली बार किसी ग्रैंड स्लैम के सेमीफाइनल में पहुंची हैं। एक साल पहले अपने दूसरे बच्चे को जन्म देने वाली तात्याना ने क्वार्टरफाइनल में अपने ही देश की यूल निएमेइर को तीन सेट तक चले कड़े मैच में 4-6, 6-2, 7-5 से हराया। तात्याना की जीत के बाद उनके जज्बे और हौसले को सभी टेनिस प्रेमी सलाम कर रहे हैं।

The moment @Maria_Tatjana sealed a stunning quarter-final comeback victory ✅#Wimbledon https://t.co/3cH7NZDNxB

विश्व नंबर 97 निएमिएर अपना पहला विम्बल्डन खेल रहीं थीं और तात्याना के खिलाफ उन्होंने बेहतरीन खेल दिखाते हुए पहला सेट जीता। पहले सेट में सर्विस, नेट प्वाइंट और ब्रेक प्वाइंट के मामले में निएमिएर आगे रहीं। लेकिन तात्याना ने बेहतरीन तरीके से वापसी। तीसरे सेट में बेहतरीन रिटर्न के साथ खेल पर तात्याना ने पकड़ बनाए रखी और जीत दर्ज की। तात्याना ने सेमीफाइनल तक के सफर में कई बड़े उलटफेर किए। दूसरे दौर में 26वीं सीड सोराना क्रिस्टी को मात दी तो तीसरे दौर में पांचवी वरीयता प्राप्त ग्रीस की मारिया सक्कारी को हराया। चौथे दौर में भी तात्याना ने 12वीं सीड ओस्तापेंको को हराकर बड़ी जीत दर्ज की। सेमीफाइनल में उनका सामना तीसरी सीड ओंस जेबूर से होगा।

विम्बल्डन में अपने परिवार के साथ आई तात्याना।
विम्बल्डन में अपने परिवार के साथ आई तात्याना।

तात्याना इससे पहले किसी ग्रैंड स्लैम में तीसरे दौर से आगे नहीं बढ़ पाई थीं। साल 2015 में वो विम्बल्डन के ही तीसरे दौर में हारकर बाहर हुईं थीं। मौजूदा विम्बल्डन तात्याना का 46वां ग्रैंड स्लैम टूर्नामेंट है। साल 2013 में तात्याना ने अपने कोच चार्ल्स एडुअर्ड-मारिया से शादी की और इसी साल उनकी पहली बेटी का जन्म हुआ। खास बात ये है कि इस सदी में तात्याना पहली ऐसी महिला टेनिस खिलाड़ी हैं जो दो बच्चों की मां हैं और विम्बल्डन के सेमीफाइनल तक पहुंची हैं। साल 1987 में जन्मी तात्याना ने नवंबर 2017 में विश्व नंबर 46 बन अपने करियर की सर्वश्रेष्ठ एकल रैंकिंग हासिल की थी।


Edited by Prashant Kumar

Comments

Fetching more content...