Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

रियो ओलंपिक 2016 के लिए भारतीय पुरुष रेसलिंग टीम का विश्लेषण

ANALYST
Modified 05 Aug 2016, 20:13 IST
Advertisement
रेसलिंग (पहलवानी) भारत के पारंपरिक रूप से सबसे मजबूत खेलों में से एक है और पिछले एक दशक में भारतीय पहलवानों ने विश्व में अपनी ख्याति बनाई है। 2008 और 2012 में भारतीय पहलवानों ने देश के लिए पदक भी जीते। 2016 रियो ओलंपिक्स में पुरुष वर्ग में भारतीय टीम के पांच पहलवान शिरकत कर रहे हैं। दो बार के ओलंपिक पदक विजेता सुशील कुमार टीम का हिस्सा नहीं हैं, लेकिन जो पहलवान ब्राजील गए हैं उनके पूर्व के प्रदर्शन शानदार रहे हैं। पहलवानों में पदक जीतने की काबिलियत है। देश में अखाड़े से लेकर पेशेवर रेसलिंग लीग समेत प्रमुख टूर्नामेंटो तक यह खेल लंबा रास्ता तय कर चुका है। चलिए रियो 2016 में पुरुष वर्ग में भाग लेने वाले 5 भारतीय पहलवानों के बारे में जानते हैं - नरसिंह यादव (74 किग्रा) narsingh मुंबई में जन्मे ग्रेप्लर को रियो 2016 में जाने से पहले जोरदार झटका लगा। वह डोपिंग टेस्ट में फ़ैल हो गए। हालांकि नाडा के प्रतिबंध हटाने के बाद नरसिंह को बड़ी मुश्किल से रियो के लिए गए भारतीय डाल में जगह मिली। रियो ओलंपिक 2016 में 74 किग्रा वर्ग के लिए क्वालीफाई करने वाले नरसिंह की जगह को खतरा हो गया था क्योंकि दो बार के ओलंपिक पदक विजेता सुशील कुमार भी 74 किग्रा वर्ग में हिस्सा लेना चाहते थे। रेसलिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया (डब्लूएफआई) ने यादव के पक्ष में फैसला सुनाते हुए उन्हें रियो में भारत का प्रतिनिधित्व करने के लिए चुना। 2015 वर्ल्ड रेसलिंग चैंपियनशिप्स में कांस्य पदक और 2010 कॉमनवेल्थ गेम्स में स्वर्ण पदक जीतने वाले जेएसडब्लू स्पोर्ट्स एक्सीलेंस प्रोग्राम के रेसलर से रियो 2016 में पदक की पूरी उम्मीदें हैं। उन्होंने भारत का सबसे बड़े मंच पर प्रतिनिधित्व करने के लिए बहुत बाधाएं पार की हैं। 2015 प्रो रेसलिंग लीग में एक भी मैच नहीं हारने वाले एकमात्र पहलवान नरसिंह यादव जरुर भारत को एक पदक दिलाएंगे।
1 / 5 NEXT
Published 05 Aug 2016, 20:13 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit