Create

CWG 2022 : कुश्ती में होगी मेडल की बरसात, रवि दहिया, बजरंग पुनिया, विनेश, सभी दावेदार

टोक्यो मेडलिस्ट रवि दाहिया और विनेश फोगाट समेत कुल 12 पहलवान भारतीय दल में शामिल हैं।
टोक्यो मेडलिस्ट रवि दाहिया और विनेश फोगाट समेत कुल 12 पहलवान भारतीय दल में शामिल हैं।

कुश्ती के खेल में भारत लगातार अपनी पहचान दुनिया में बना रहा है और अलग-अलग प्रतियोगिताओं में देश के पहलवान मेडल जीतते जा रहे हैं। ऐसे में बर्मिंघम कॉमनवेल्थ खेलों में भी देश के पहलवानों से कुश्ती के दंगल में मेडलों की बारिश की उम्मीद है। भारत की ओर से कुल 12 रेसलर कुश्ती के लिए कॉमनवेल्थ खेलों में भाग लेंगे। इनमें 6 पुरुष और 6 महिला पहलवान शामिल हैं। भारत ने शूटिंग और वेटलिफ्टिंग के बाद कॉमनवेल्थ खेलों में सबसे अधिक पदक कुश्ती में जीते हैं। पिछले तीन खेलों की ही बात करें तो देश के पहलवानों ने 20 गोल्ड समेत 44 पदक जीते हैं।

खेलगोल्डसिल्वरब्रॉन्ज
20101054
20145 6 2
20185 3 4

टोक्यो ओलंपिक सिल्वर मेडलिस्ट रवि दहिया 57 किलो भार वर्ग में भाग ले रहे हैं। दहिया ने 2019 विश्व चैंपियनशिप में ब्रॉन्ज जीता था और 3 बार एशियाई चैंपियन रह चुके हैं। तीसरा मेडल दहिया ने इसी साल अप्रैल में जीता। ऐसे में वो गोल्ड के प्रबल दावेदार हैं। बजरंग पुनिया भारत के कुश्ती अखाड़ों का जाना-पहचाना नाम हैं। पुनिया ने पिछले साल टोक्यो ओलंपिक ब्रॉन्ज जीता था। 65 किलो भार वर्ग में पुनिया कॉमनवेल्थ गेम्स के गत विजेता हैं और इस बार अपना गोल्ड बचाने के इरादे से खेलेंगे।

बजरंग पुनिया भारतीय कुश्ती टीम में शामिल सबसे अनुभवी खिलाड़ी हैं।
बजरंग पुनिया भारतीय कुश्ती टीम में शामिल सबसे अनुभवी खिलाड़ी हैं।

74 किलो भार वर्ग में नवीन भाग लेंगे। 86 किलोग्राम कैटेगरी में दीपक पुनिया अपना दम दिखाएंगे।23 साल के पुनिया इसी भार वर्ग में जूनियर विश्व चैंपियन रह चुके हैं और सीनियर वर्ग में विश्व चैंपियनशिप का सिल्वर जीत चुके हैं। 125 किलोग्राम भार वर्ग में मोहित दाहिया भाग लेंगे।

महिलाओं की बात करें तो 2016 रियो ओलंपिक ब्रॉन्ज मेडलिस्ट साक्षी मलिक 62 किलो कैटेगरी में दम दिखाएंगी। साक्षी ने 2014 के कॉमनवेल्थ खेलों में सिल्वर मेडल हासिल किया था। लेकिन पदक की सबसे बड़ी दावेदार महिला पहलवानों में विनेश फोगाट हैं (53 किलोग्राम) जो 2014 और 2018 कॉमनवेल्थ खेलों में गोल्ड लाईं थीं। फोगाट ने 2018 एशियाई खेलों में भी गोल्ड जीता था। फोगाट टोक्यो ओलंपिक में बतौर विश्व नंबर 1 गईं थीं, लेकिन पदक जीतने में असफल रहीं थीं।

इनके अलावा 50 किलो भार वर्ग में अंडर 23 विश्व चैंपियनशिप सिल्वर मेडल विजेता पूजा गहलोत भारत का प्रतिनिधित्व करेंगी। 20 साल की अंशु मलिक 57 किलो भार वर्ग में खेल रही हैं। मलिक ने पिछले साल विश्व चैंपियनशिप का सिल्वर जीता था। गोल्ड कोस्ट खेलों की ब्रॉन्ज मेडलिस्ट दिव्या काकरन भी पदक की बड़ी दावेदार हैं। दिव्या 68 किलो भार वर्ग में खेलेंगी जबकि 76 किलो वर्ग में पूजा सिहाग उतरेंगी।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar
Be the first one to comment