Create
Notifications

रितिका की आत्‍महत्‍या से फोगाट परिवार हुआ गमगीन, रितु और गीता ने संवेदना प्रकट की

रितिका फोगाट
रितिका फोगाट
Vivek Goel

17 साल की रितिका फोगाट की आत्‍महत्‍या की खबर ने भारतीय खेल जगत में शोक की लहर फैला दी है। फाइनल में हार का गम नहीं सहन कर सकीं रितिका ने फांसी लगाकर अपनी जान देने का बड़ा कदम उठाया। रितिका की आत्‍महत्‍या से फोगाट परिवार गमगीन है। एमएमए पेशेवर रितु फोगाट अब भी विश्‍वास नहीं कर पा रही हैं कि उनकी छोटी बहन अब इस दुनिया में नहीं हैं। रितु फोगाट और गीता फोगाट ने ट्विटर पर अपनी छोटी बहन के गुजरने पर संवेदना प्रकट की। ध्‍यान दिला दें कि गीता और बबीता फोगाट की ममेरी बहन रितिका ने सोमवार को एक रेसलिंग स्‍पर्धा का फाइनल गंवाने के बाद फांसी लगाकर अपनी जान दे दी थी।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक रितिका ने राजस्‍थान के भरतपुर में रेसलिंग टूर्नामेंट में हिस्‍सा लिया था। वहां फाइनल में उन्‍हें शिकस्‍त मिली। रितिका इस हार को सहन नहीं कर सकी और इतना बड़ा कदम उठा लिया। पुलिस इस मामले की जांच में जुटी हुई है। चरखी दादरी के डीएसपी राम सिंह बिश्‍नोई ने इस घटना के बारे में एएनआई से बातचीत करते हुए कहा, 'बबीता फोगाट की ममेरी बहन रितिका ने आत्‍महत्‍या की। इसके पीछे का कारण राजस्‍थान में रेसलिंग टूर्नामेंट के फाइनल में शिकस्‍त झेलना हो। जांच जारी है।'

रेसलर से एमएमए पेशेवर बनीं रितु फोगाट ने ट्विटर पर संवेदना प्रकट की है। उन्‍होंने रितिका की फोटो शेयर करते हुए कैप्‍शन लिखा, 'छोटी बहन रितिका की आत्‍मा को शांति मिले। मुझे अभी भी विश्‍वास नहीं हो रहा कि तुम्‍हारे साथ क्‍या हुआ, हमेशा तुम्‍हारी कमी खलेगी। ऊँ शांति।'

रितु फोगाट की लोगों से अपील

रितु ने लोगों से गुजारिश की है कि वह अफवाहों को बल न दे और न ही इसे फैलाएं और उनके व उनके परिवार के लिए यह बहुत कड़ा समय है। रितु ने एक और ट्वीट करके लिखा, 'मुझे आज सुबह से मैसेज आ रहे हैं। मेरे परिवार में जो हुआ, उससे मैं बहुत दुखी और परेशान हूं। मैं लोगों से कहना चाहती हूं कि किसी अफवाह पर विश्‍वास नहीं करें और न ही इसका फैलाव करें व जिम्‍मेदारी से काम करें। यह मेरे और मेरे परिवार के लिए कड़ा समय है और मैं आप सभी से हमारी निजता की गुजारिश करती हूं। आप सभी के प्‍यार, समर्थन और समझने का शुक्रिया।'

वहीं दंगल गर्ल गीता फोगाट ने भी ट्विटर पर अपनी संवेदना प्रकट करते हुए कहा कि जीत और हार तो खेल का हिस्‍सा है और ऐसे परिणाम किसी की जिंदगी लेने का कारण नहीं बनना चाहिए। गीता ने ट्वीट किया, 'भगवान मेरी छोटी बहन मेरे मामा की लड़की रितिका की आत्मा को शांति दे। मेरे परिवार के लिए बहुत ही दुख की घड़ी है। रितिका बहुत ही होनहार पहलवान थी पता नहीं क्यों उसने ऐसा कदम उठाया। हार-जीत खिलाड़ी के जीवन का हिस्सा होता है हमें ऐसा कोई क़दम नहीं उठाना चाहिए।'


Edited by Vivek Goel

Comments

Fetching more content...