रोमन रेंस की बीमारी ‘ल्यूकीमिया’ के फेक ना होने के 3 बड़े कारण

Enter caption

रोमन रेंस की वापसी उनके सभी चाहने वालों के लिए किसी बड़े तोहफे के मिल जाने से कम नहीं है। किंतु रोमन रेंस की वापसी के बाद एक बड़ा प्रश्न सभी के मन में यह है, कि ल्यूकीमिया जैसी खतरनाक बीमारी से रोमन रेंस ने मात्र 5 महीने में कैसे रिकवर कर लिया? इस प्रश्न के कारण कुछ लोग यह मान रहे हैं कि वास्तव में रोमन रेंस को ल्यूकीमिया कभी हुआ ही नहीं था और यह सब WWE की स्टोरी लाइन का एक हिस्सा है। WWE द्वारा यह स्टोरीलाइन रोमन रेंस के हेटर्स की संख्या कम करने के लिए दिखाई गई।

भले ही रोमन रेंस को ल्यूकीमिया होने के बारे में पता चलने के बाद अधिकतर दर्शक जो उन्हें नापसंद करते थे, वे भी अब रोमन रेंस को पसंद करने लगे हो। किंतु रोमन रेंस को ल्यूकीमिया होना, WWE की किसी भी स्टोरी लाइन का हिस्सा नहीं हो सकता। आज हम आपसे ऐसे ही 3 बड़े कारणों के बारे में बात करने वाले हैं जो आपको इसके पीछे छुपी वजह बताएंगे।

3. रोमन रेंस के ल्यूकीमिया के बारे में सही अंदाजा किसी को ना होना

roman reigns

22 अक्टूबर को हुए रॉ में रोमन रेंस ने अपनी बीमारी ल्यूकीमिया के बारे में सभी WWE दर्शकों को बताया। किंतु इस दौरान रोमन रेंस द्वारा अपनी बीमारी को लेकर ज्यादा कुछ नहीं बताया गया। किसी भी दर्शक को यह ज्ञात नहीं था कि रोमन रेंस को किस स्टेज का कैंसर है। रोमन रेंस के WWE से जाने के बाद भी उनकी बीमारी को लेकर कोई बड़ी अपडेट सामने नहीं आई, और न ही WWE द्वारा रोमन रेंस की बीमारी से संबंधित पूरी जानकारी दर्शकों को दी गई। ऐसे में रोमन रेंस की बीमारी को लेकर सभी दर्शक सिर्फ अनुमान ही लगा रहे थे और अचानक रोमन रेंस की वापसी की जानकारी मिलने के बाद उनके मन में रोमन रेंस की बीमारी को लेकर एक संदेह उत्पन्न हो गया।

WWE News in Hindi, RAW, SmackDown के सभी मैच के लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज़ स्पोर्ट्सकीड़ा पर पाएं

2. सभी कैंसर पीड़ितों के लक्षण का एक जैसा न होना

roman reigns leukemia

अक्सर हम लोग मानते हैं कि कैंसर पीड़ित व्यक्ति के लक्षण एक समान होते हैं। कैंसर पीड़ित व्यक्ति के बाल झड़ते हैं जिस कारण उन्हें टकला होना पड़ता है। इसके अलावा ऐसे व्यक्ति को काफी कमजोरी महसूस होती है। किंतु रोमन रेंस में ऐसे कोई भी प्रभाव नजर नहीं आते। किंतु यह पूरी तरह से सच नहीं है, यह सब हमने टीवी सीरियल और मूवी में देखा है जो यथार्थता से काफी अलग है। कैंसर पीड़ित व्यक्ति के लक्षण भिन्न-भिन्न प्रकार के होते हैं।

रोमन रेंस को होने वाला कैंसर एक ब्लड कैंसर है जिसमें शरीर की रक्त कोशिकाओं में प्रभाव पड़ता है। रोमन रेंस को इस बीमारी का पता काफी जल्दी चल गया, जिस कारण उन्होंने शीघ्र अति शीघ्र इसका उपचार शुरू कर दिया। यही कारण रहा कि उन्हें बाल संबंधी समस्याएं उत्पन्न ही नहीं हुई। साथ ही एक रैसलर होने और फिजिकल रूप से काफी फिट होने के कारण रोमन रेंस को कमजोरी का सामना भी नहीं करना पड़ा।

1. WWE का कैंसर चैरिटी के साथ कॉन्ट्रैक्ट होना

roman reings cancer charity

सभी दर्शक जो रोमन रेंस की ल्यूकीमिया बीमारी को WWE की स्टोरी लाइन का एक हिस्सा समझ रहे थे, वे शायद नहीं जानते कि WWE किसी भी हालत में कैंसर जैसी बीमारी को अपनी स्टोरी लाइन का हिस्सा नहीं बना सकती । इसके पीछे कारण यह है कि WWE पहले से ही एक से अधिक कैंसर चैरिटी के साथ कॉन्ट्रैक्ट में है। जहां WWE अपने रैसलर की सहायता से कैंसर पीड़ित बच्चों और लोगों की इच्छाएं पूरा करती है। WWE आवश्यकता पड़ने पर इन कैंसर चैरिटी को आवश्यक धनराशि उपलब्ध भी करवाती है। भले ही WWE फेक इंजरी को किसी स्टोरीलाइन का हिस्सा बना दे किंतु खतरनाक बीमारियों को स्टोरी लाइन का हिस्सा बनाना, कंपनी की पॉलिसी के खिलाफ है।

रोमन रेंस का इस बीमारी से सामना दूसरी बार हो रहा है। लगभग 11 साल पहले रोमन रेंस इस बीमारी का सामना कर चुके हैं। किंतु उस समय इलाज के दौरान यह बीमारी पूरी तरह से ठीक नहीं हो पाई थी, जिस कारण से रोमन रेंस एक बार फिर से इस बीमारी की चपेट में आ गए। किंतु इस बार बीमारी के बारे में शीघ्र ही पता लग जाने के कारण रोमन रेंस को इससे ज्यादा नुकसान नहीं हो पाया।