Create
Notifications

WWE की अबतक की 5 सबसे बड़ी गलतियां

सुर्यकांत त्रिपाठी

काफी समय से WWE विन्सेन्ट कैनेडी मैकमैहन की सोच और उनके समझदारी की झलक रही है। चाहे कंपनी अच्छे समय से गुज़र रही हो या बुरे समय से, उसके सोच के बीच इसी बिजनेसमैन का दिमाग था। इसपर कई लोग ये तर्क दे सकते हैं कि आज ज्यादातर कंट्रोल ट्रिपल एच के पास है, लेकिन शो आज भी विंस के अगल-बगल घूमती है और उनकी मर्जी के बगैर शो टीवी पर दिखाया नहीं जाता। इसी वजह से WWE पर हर बार दोहराई जानेवाले गलतियों का ठेकरा भी विंस के सर ही फूटेगा। दर्शक चाहे कितने ही ज़ोर से बदलाव की मांग करती रहे, WWE इसे नज़रअंदाज़ करती आई है। इसलिए यहाँ पर हम WWE की अबतक की 5 सबसे बड़ी गलतियों के बारे में चर्चा करेंगे: #5 खराब किरदार brodus_clay_bio_0002_crop_exact-1475095379-800 आज के शो में केफेब कहीं दूर छूट चूका है और WWE इसे वापस पकड़ने में असक्षम रही है। एक समय था जब रैसलर्स का किरदार कॉमिक बुक के सुपरहीरो की तरह हुआ करता था। लेकिन आज समय बदल चुका है और WWE आज भी वही पुराने तरीकों का इस्तेमाल करना चाह रही है। लेकिन नए दर्शकों के सामने ये पुराने तरीके काम नहीं आ रहे। आज जहाँ पर दर्शक केविन ओवन्स जैसे सुपरस्टार से अपने आप को जोड़ लेते हैं, वहीँ वे प्राइमो और एपिको जैसे स्टार्स से अपने आप को नहीं जोड़ पाते क्योंकि वे असली दिखाई नहीं देते। फिन बैलर जैसे किरदार और उनके अहंकार के लिए कोड़ी रोड्स जैसा प्रतिभाशाली रैसलर को कंपनी छोड़नी पड़ती है, क्योंकि उनके बचपने वाला किरदार WWE अभी भी दर्शकों को दिखएं जा रही थी। ऐसा ही कुछ हाल सिजेरो का भी है, वे भी अपनी पहचान खो रहे हैं। वे रिंग वे जादूगर है लेकिन फिलहाल ख़िताब की होड़ में लगे हुए हैं। उनका जेम्स बॉन्ड की तरह का किरदार उनपर बिल्कुल नहीं जंच रहा। यहाँ पर समस्या या है कि, "और कितने प्रतिभाशाली रैसलर्स की बलि चढाई जाएगी?" #4 रैसलर्स के मूव्स पर प्रतिबंध लगाना cesaro-vs-kevin-owens-2-1475095463-800 ये उन स्टार्स के लिए आम बात है जिनकी ट्रेनिंग WWE के तरीके से नहीं हुई है और इसका सबसे ज्यादा असर इंडीज़ और NXT से आये हुए स्टार्स पर हुआ। रैसलर्स जो रिंग में काफी तेज़ है और कई तरह के मूव्स का इस्तेमाल कर सकते हैं, उनके गिम्मिक को एक रूप देने के लिए उनके किसी मूव पर रोक लगा दी जाती है। यहाँ पर उनकी सोच बिल्कुल साफ होती है, जितने कम मूव्स दर्शक इस गिम्मिक से उतनी ही आसानी से जुड़ जाएंगे। हालांकि यहाँ पर तर्क सही है, लेकिन किसी रैसलर के किसी मूव पर रोक लगाने से आप रैसलर को उसकी पूरी क्षमता से काम नहीं करने दे रहे हैं। आज ज्यादा रैसलर्स उनकी रिंग काबिलियत से नहीं जाने जाते। इसलिए सेमी जेन, सिजेरो, टाइसन किड और डेनियल ब्रायन (यस मूवमेंट के पहले) को एक ही दिशा में काम करने के निर्देश दिए गए थे, लेकिन फिर वे वापस अपने नेचुरल तरीके से काम करने लगे। ऐसे थोड़े ही बढ़िया रैसलर्स होते हैं जो इन बाधाओं को पार कर के अपना नाम बनाते हैं और ज्यादातर दरकिनार हो जाते हैं। #3 देशभक्ति? tj6vfyiampgrlzl6vvih-1475095558-800 WWE USA का बाहर भी बसा हुआ है, इसलिए WWE हर बार अपना काम चलाने के लिए दर्शकों के अंदर को देशभक्ति को जगाती है। लेकिन जब एक सुपरस्टार को देखभक्त दिखाते हुए हीरो बनाया जाता है, तब उसके लिए किसी को उसी के स्तर का विलेन भी बनान पड़ता है। और ऐसे में विलेन के लिए WWE की पहली पसंद विदेशी रैसलर ही होते हैं। चाहे बात इवान कोलॉफ और आयरन शेक से लेकर आजतक के रुसेव और जिंदर महल की हो, इन्हें "विदेशी दुश्मन" की तरह दिखाया गया है। WWE की इस नीति में आजतक कोई बदलाव नहीं आया है। मैं WWE की नीति पर कोई सवाल नहीं उठा रहा हूँ, लेकिन केवल "शांति-शांति" कहते हुए अगर महल किसी जॉबर पर हमला करेंगे तो इससे कंपनी विश्व स्तर तक कैसे पहुँच पाएगी। काफी समय तक मैं कंफ्यूज था, कि रुसेव रुसी हैं या बल्गेरियाई हैं। जब तक वे USA के नहीं है तबतक तो इसके बारे में सोच ही सकता हूँ। लेकिन मानसकिता में कोई बदलाव नहीं हुआ है। #2 प्रोमोज लिखना reigns-mic-1475095663-800 यह WWE की एक और सच्चाई हैं और इसपर उनकी काफी आलोचना हो चुकी है। हमने पहले भी देखा है WWE सुपरस्टार्स को दर्शक पसन्द करने लगते हैं जब वे अपने तरीके से और अपने अंदाज़ में प्रोमो करते हैं। लेकिन आज के WWE पर कई सारी राजनीतिक निहितार्थ है जिनकी वजह से प्रोमोज़ लिखना ज़रूरी हो जाता है। लेकिन एक रैसलर अपने ओरिजिनल अंदाज़ में भी दर्शकों पर अपनी छाप छोड़ सकता है। यहाँ पर WWE की चाल अलग ढंग से चलती है, खासकर उस इंडस्ट्री में जहाँ पर एक रैसलर को दर्शकों के बीच लोकप्रिय होने पड़ता है। ये काम रैसलर माइक्रोफोन की मदद से बड़े आसानी से कर सकते हैं। इन बाधाओं को पार करनेवाला सुपरस्टार दर्शकों के दिल में अपनी जगह बनाने के सफल होते हैं, लेकिन बाकी सभी इस बाधाओं की भेंट चढ़ जाते हैं। #1 रोबोट जैसा मेन इवेंट 14648218-mmmain-1475095770-800 यहाँ पर हम न्यू एरा में बदलाव देख रहे हैं, लेकिन आज भी विंस मैकमैहन की यही मानसिकता है कि कंपनी के बेबीफेस के रूप में जॉन सीना की जगह रोमन रेन्स ही ले सकते हैं। जॉन सीना के पहले कंपनी का टॉप स्पॉट स्टोन कोल्ड, द रॉक और उनके भी पहले हल्क हॉगन और ब्रूनो संमार्टिनो का हुआ करता था। आप समझ सकते हैं। एक टॉप स्टार से दूसरे टॉप स्टार तक WWE का ताज उसी रैसलर के पास गया है जो विंस मैकमैहन के तरीके से अपने आप को ढाल पाया हो। इसमें बदलाव होना चाहिए। सीएम पंक की तरह WWE के अनसुने लोगों की आवाज आगे बढ़नी चाहिए। लेकिन WWE के ट्रैक रिकॉर्ड को देखते हुए ऐसा होने की संभावना हमे कम दिखाई दे रही है। लेकिन फिर हमें केविन ओवन्स और ऐजे स्टाइल्स जैसे रैसलर्स से काफी उम्मीदें हैं। ये अब देखना होगा की क्या सही में न्यू एरा का कोई असर पड़ता है, या फिर ये भी हवा हो जाता है। यहाँ से पता चलेगा कि, क्या सही में WWE में बदलाव हुआ है। लेखक: आदित्य रंगराजन, अनुवादक: सूर्यकांत त्रिपाठी

Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...