Create
Notifications

5 बातें जो फैंस को यूनिवर्सल चैंपियनशिप के बारे में जाननी चाहिए

मोहिनी भदोरिया

यूनिवर्सल चैंपियनशिप काफी बड़े टाइटल में से एक है, जिसके लिए WWE को दिखाने लिए बहुत सारी स्टोरी है। लेकिन ये बेल्ट फिलहाल ब्रॉक लैसनर के पास है, जिसके लिए काफी फिउड हो चुकी है। वहीं बहुत सारे रैसलर्स हैं, जो इस टाइटल को हासिल करने के लिए प्रतियोगिता में हिस्सा ले चुके हैं। इस चैंपियनशिप को दो साल हो गए हैं, लेकिन इंडस्ट्री में इसकी बाकी बेल्ट के मुताबिक लोकप्रियता काफी ज्यादा बढ़ चुकी है। हालांकि, WWE में बाकी चैंपियनशिप की तरह, यूनिवर्सल चैंपियनशिप की काफी सारी हिस्ट्री है, जिसमें कई तथ्य, विवाद, कई आलोचनाएं भी खड़ी हो चुकी हैं। लेकिन इस आर्टिकल में, हम आपको यूनिवर्सल चैंपियनशिप से जुड़े 5 तथ्यों तो बताएंगे, जो आपको नहीं पता होंगे। ये हैं टाइटल से जुड़े वो 5 पॉयंट

रॉ की वर्ल्ड हैवीवैट चैंपियनशिप

WWE की क्रिएटिव टीम ने WWE यूनिवर्स को ये स्पष्ट कर दिया है कि यूनिवर्सल चैंपियनशिप की मंडे नाइट रॉ में सबसे ऊपरी स्तर पर प्राथमिकता होगी। दरअसल ये टाइटल इसलिए बना क्योंकि स्मैकडाउन के पास WWE चैंपियनशिप है लेकिन रॉ के पास कुछ भी नहीं है। लेकिन पिछले दो साल में इस टाइटल ने काफी लोकप्रियता हासिल की है, जोकि WWE चैंपियनशिप से ज्यादा फोक्स्ड में है। लेकिन अगर रेटिंग और पॉपुलेरिटी को देखा जाए, तो रॉ टैग टीम चैंपियनशिप और इंटरकॉन्टीनेंटल चैंपिनशिप अकाउंट में यूनिवर्सल चैंपियनशिप के नजदीक आ चुकी है। इसमें कई सारे पे-पर-व्यू मैच हो चुके हैं, जिसने आज के दौर में WWE की बाकी चैंपियनशिप को मात दे दी है।

WWE वर्ल्ड हैवीवैट चैंपियनशिप में रिप्लेसमेंट

दरअसल कई दर्शकों को यूनिवर्सल चैंपियनशिप के आने का और WWE वर्ल्ड हैवीवैट चैंपियनशिप के खत्म होने का पता नहीं होगा। शायद इन दोनों का कारण एक ही हो, क्योंकि दोनों घटना मिलती जुलती है। इसके अलावा, रैंडी ऑर्टन जब फाइनल वर्ल्ड हैवीवैट चैंपियन बने थे, तब उनके पास WWE चैंपियनशिप भी थी। WWE वर्ल्ड हैवीवैट चैंपियनशिप को इसलिए खत्म किया गया, क्योंकि उसे WWE चैंपियनशिप के रूप में दिया जाता था। रॉ में इसके लेकर विवाद खड़ा हो गया था। उस दौरान स्टेफनी मैकमैहन कमिश्नर थी और मंडे नाइट रॉ के जनरल मेनेजर मिकी फोली ने यूनिवर्सल चैंपियनशिप को स्थापित किया था। इस टाइटल को वर्ल्ड चैंपियनशिप का औदा दिया गया, जिसे WWE 'यूनिरवर्स' की जगह यूनिवर्सल चैंपियनशिप का नाम दिया गया।

फिन बैलर बने थे पहले यूनिवर्सल चैंपियन

दरअसल कई लोगों को लगता है कि केविन ओवंस WWE के पहले यूनिवर्सल चैंपियन है, लेकिन सच्चाई ये है कि फिन बैलर पहले विजेता थे। रॉ के फेटल 4वे मैच में फिन ने सिजेरो, केविन और रूसेव को हराया था। दरअसल उन्हें रोमन का सामना करना था, जिन्होंने खुद फेटल 4 वे मैच में क्रिस जैरिको, सैमी जेन और शेमस को हराया था। इन दोनों डुओ का सामना हुआ, जहां बैलर ने रोमन रो हरा दिया था। इसके चलते फिन को 2016 के समरस्लैम केे पे-पर-व्यू मैच में यूनिवर्सल टाइटल के लिए लड़ने का मौका मिला था। रॉलिंस और बैलर और मुकाबला हुआ, जिसमें फिन ने टाइटल को हासिल किया था। लेकिन, रॉ की नाइट में, बैलर को वो चैंपियनशिप वापस करनी पड़ी, क्योंकि उनके कंधों पर इंजरी हो गई थी, जिसके बाद वो चैंपियनशिप केविंस के पास चली गई थी, जिन्होंने उस मैच के सीरीज में उसके लिए सामना किया था। इसके चलते वो नए और दूसरे यनूवर्सल चैंपियन बन गए।

केविन ओवंस यंग चैंपियन हैं और गोल्डबर्ग ओल्ड चैंपियन हैं

यूनिवर्सल टाइटल साल में एक बार नी तो 4 बार तो जरूर एक रैसलर से दूसरे रैसलर के पास जाता ही है। वहीं अगर ये चार रैसलर इस चैंपियनशिप को हासिल कर लेते हैं, तो वो उस जनरेशन के सबसे शानदार रैसलर कहलाए जाते हैं। लेकिन एक ओल्ड और यंग रैसलर के बीच एक अंतर था, वो भी 18 साल का। वहीं केविन ओवंस दूसरे यूनिवर्सल चैंपियन के साथ-साथ सबसे यंग चैंपियन भी हैं। उन्होंने 32 साल की उम्र में टाइटल हासिल किया, जो उन्हें 2017 के फास्टलेन पे-पर-व्यू में गोल्बर्ग द्वारा गंवाना पड़ा। दरअसल जब गोल्डबर्ग ने केविन द्वारा वो टाइटल हासिल किया था, तब वो 50 साल के थे, जोकि अब तक के सबसे ओल्डेस्ट चैंपियनशिप होल्डर हैं।

ब्रॉक लैसर यूनिवर्सल चैंपियनशिप को सबसे ज्यादा समय तक होल्ड करने वाले रैसलर हैं

ब्रॉक लैसनर, द बीस्ट हैं, जिनके रास्ते जो पड़ता है वो उसे नष्ट कर देते हैं। उन्होंने 2017 के रैसलमेनिया 33 में गोल्डबर्ग को हराकर चैंपियनशिप हासिल की थी। इसके बाद उनके पास ये काफी समय तक रही। लेकिन उन्होंने इस टाइटल को हासिल करने के लिए उन्होंने समोआ जो, रोमन रेंस और ब्रॉन स्ट्रोमैन के साथ दोबारा मैच लड़ा, जिसमें उन्होंने जीत हासिल की थी। उनके पास चेंपियनशिप समय लंबे समय तक के लिए थी। लेखक-राजाऋृषि बेनर्जी, अनुवादक- मोहिनी भदौरिया

Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...