Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

5 कारण जिनके दम पर अंडरटेकर MMA में भी कामयाबी हासिल कर सकते थे

Modified 21 Sep 2018, 21:19 IST
Advertisement

प्रोफेशनल रैसलिंग की दुनिया में द अंडरटेकर सबसे बड़े नाम हैं। 1990 से वो कंपनी के सबसे बड़े स्टार हैं। उनकी रैसलमेनिया स्ट्रीक के चर्चे चारों ओर होते हैं। ये बात भी सब जानते है कि अंडरटेकर MMA के प्रसंशक है और 90 दशक के अंत से उन्होंने अपने काम में MMA स्किल्स का उपयोग करने की शुरुआत की है। जिसमें उनकी एक बड़ी मूव है हैल्स गेट। डेडमैन ने कभी MMA रिंग में कदम नहीं रखा। लेकिन अगर वो कभी MMA रिंग में उतरते तो उनकी कामयाबी के 100% चांसेस थे। ये रही ऐसा कहने की पांच वजह: #1 साइज और ताकत

द अंडरटेकर का साइज विशाल है। हालांकि उनकी कद काठी रैसलिंग में सबसे बड़े रैसलर्स में नहीं गिनी जाती, लेकिन वो 6’10” और 300 पाउंड्स वजनी है। ये एक आम आदमी से बहुत ज्यादा है। यहां पर की वो औसतम MMA फाइटर्स से बड़े हैं। उनकी तुलना में मौजूदा UFC हैवीवेट चैंपियन स्टीपे मिओसिक 6’4” लम्बे और करीब 245 पाउंड वजनी है। सबसे लम्बे UFC फाइटर हैं स्टीफन स्ट्रुवे की लंबाई 6’11” है। वो एकमात्र ऐसे MMA फाइटर हैं जिनके पास अंडरटेकर के खिलाफ ऊंचाई का फायदा है। UFC हैवीवेट ख़िताब जीतनेवाले सबसे बड़े रैसलर हैं टीम सिल्विया जो 6’8” लम्बे और 260 पाउंड्स वजनी है। वीडियो क्लिप में अंडरटेकर और उनके बीच भिंड़त देखी जा सकती है, जहां टेकर को उनकी लंबाई का फायदा हो रहा है। MMA में केवल लंबाई से फायदा नहीं होता। अंडरटेकर में ताकत भी है। वो केन, बतिस्ता और ब्रॉक लैसनर जैसे रैसलर्स को आसानी से उठाकर बाहर फेंक सकते हैं। MMA में हैवीवेट होने के लिए कम से कम 265 पाउंड वजन होना चाहिए। इसमें अंडरटेकर आसानी से फिट बैठते। इस साइज और ताकत के साथ द अंडरटेकर आसानी से UFC हैवीवेट चैंपियन बन जाते।
1 / 5 NEXT
Published 22 Feb 2017, 13:07 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit