Create
Notifications

WWE में हाल ही के दिनों में 5 सबसे अयोग्य रैसलर्स जिन्हें बढ़ावा दिया गया

सुर्यकांत त्रिपाठी
visit

हम सभी जानते है विंस मैकमैहन की WWE, हट्टे कट्टे रेसलर्स से कितना प्यार करती है। लेकिन ऐसे कई मौके हैं जब तय की गयी योजना का असर उल्टा पड़ा। प्रयोग के तौर पर कई खिलाडियों को मौका दिया गया था, लेकिन ये स्टोरीलाइन बुरी तरह विफल रही। एक रेसलर को बड़ा प्रो रेसलर बनाने के पीछे खूब मेहनत लगती है। लेकिन कई बार WWE की ये योजना कारगर साबित नहीं हो पायी। ये रहे पांच रेसलर्स जिन्हें बढ़ावा देकर WWE ने गलती की है:

#1 जैक स्वैगर

जैक स्वैगर

एक उभरता हुआ खिलाडी जो रेसलिंग बैकग्राउंड से हो, सभी उसे भविष्य का एक अच्छा रेसलर ही समझेंगे। सभी को उम्मीद थी की वें बिज़नस में एक कमाल के हील बनेंगे, लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ। वें ECW के चैंपियन बने यह तो ठीक था, लेकिन बाद में उन्हें मिस्टर मनी इन द बैंक बना दिया गया। तब सभी को पता चला की वे इसके लिए अभी तैयार नहीं थी। वो ना तो अपने चैलेंजर से ठीक से बोल पा रहे थे, नाही ठीक से एक्टिंग कर पा रहे थे। फिर भी उन्हें वर्ल्ड हैवीवेट चैंपियन बना दिया गया। यह गलती WWE ने दोबारा नहीं दोहराई।

#2 रायबैक

रायबैक

NXT में स्किप शेफील्ड के नाम से मशहूर इस रेसलर से सभी को उम्मीदें थी। सभी को लगता था की यह WWE का एक बड़ा रेसलर बनेगा। लेकिन रायबैक के डेब्यू करते ही सब गोल्डबर्ग- गोल्डबर्ग चिल्लाने लगे। रायबैक को मुख्य इवेंट में भी शामिल किया गया, लेकिन शुक्र है कि वें कभी जीते नहीं। इसके अलावा, उन्होंने सीएम पंक की पसलियों को भी तोड़ा। इन सभी घटनाओं के बाद बिज़नस ने उन्हें मुख्य मैचों से हटा कर माध्यम मैचों में खेलने के लिए कहा।

#3 लॉर्ड टेनसाई

लॉर्ड टेनसाइ

मैट ब्लूम WWE में लॉर्ड टेनसाई के रूप में लौटे। जापान में उन्होंने खूब नौटंकी की। जब उन्हें WWE में बढ़ावा दिया जा रहा था, तब उन्होंने जॉन सीना और सीएम पंक को हराया। हफ़्तों तक उन्होंने कई सुपरस्टार्स पर दबाब बनाये रखा। लेकिन उनकी नौटंकी करने की आदत नहीं गयी। उन्हें ज्यादा लोकप्रियता नहीं मिली, जिससे पहले उनके नाम से लॉर्ड गया और बाद में वो खुद।

#4 खली

खली

वो बहुत ही ख़राब रेसलर थे। वास्तव में इस सूचि के सबसे ख़राब रेसलर। अगर सबसे ख़राब रेसलर्स की तुलना की जाती तो ये सबसे आगे होते। ना वो ठीक से चल पाते, नाही एक जगह स्थिर खड़े हो पाते। उनमें रेसलिंग का कौशल भी सीमित था। वो WWE में मौजूद थे तो बस अपने कद-काठी की वजह से। और सिर्फ इसी वजह से उन्हें मुख्य इवेंट के लिए बढ़ावा दिया गया। उन्हें बढ़ावा देने के पीछे एक कारण था की वें भारतीय हैं और भारत में WWE के ब्रांड एंबेसडर बन सकते हैं।

#5 व्लादिमिर कोज़लोव

व्लादिमिर कोज़लोव

यह भी रेसलिंग बैकग्राउंड के होने के बावजूद, यह बढ़िया प्रो-रेसलर बनने में नाकामयाब रहे। उन्हें रिंग में देखना दर्शकों को उबाऊ लगता था, इसके साथ ही उनमें कौशल की भी कमी थी। मुख्य इवेंट में उन्हें जॉन सीना और ट्रिपल एच के साथ रखा गया, जो की देखने में बहुत अजीब लगा। शायद ही कोई ऐसे बढ़ावे का समर्थन करें। लेखक: रेशमा, अनुवादक: सूर्यकांत त्रिपाठी

Edited by Staff Editor
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now