Create
Notifications

WWE रैफरियों से जुड़ी 5 बड़ी बातें जिनके बारे में आप नहीं जानते

ब्रॉक लेसनर और पॉल हेमन
सुर्यकांत त्रिपाठी

एक रेसलिंग मैच के दौरान हमारी निगाहें केवल सुपरस्टार्स पर टिकी रहती हैं। हम अपने पसंदीदा रेसलर के जीतने की उम्मीद के साथ इस स्टोरीलाइन का मजा लेते हैं। वैसे रेसलिंग में एक वर्ग ऐसा भी है, जिसके बारे में हम ज्यादा बात नहीं करते और वो हैं रेफरी। हालांकि रेफरी भी रेसलिंग के मैच का एक अहम भाग हैं, लेकिन इन्हें ज्यादा महत्त्व नहीं मिलता। हम तो इस बात पर भी ध्यान नहीं देते कि कौनसा रेफरी कौनसे मैच में भाग लेता है, लेकिन इस बात की बड़ी अहमियत होती है। WWE के रेफरी के बारे में ऐसी ढेर सारी बातें हैं, जिन्हें हम नहीं जानते। ऐसे ही रेफरी से जुडी पांच बातें, जिन्हें कोई शायद ही जानता हो:

#5 सभी रेफरी को मैच का परिणाम पता नहीं होता

मैच शुरू होने के पहले रेफरी को मैच का परिणाम पता होना चाहिए। लेकिन ये ज़रूरी नहीं है। ऐसे कई मौकें है जहाँ रेफरी को पहले से मैच का नतीजा नहीं बताया जाता। इसका उदाहरण है रेसलमेनिया 30 में अंडरटेकर बनाम ब्रॉक लैसनर का मुकाबला। चैड पैटन उस मैच के रेफरी थे। उन्हें मैच के परिणाम के बारे में नहीं बताया गया था और उन्हें सिर्फ पिन होने पर काउंट करने को कहा गया था। चैड ने इन दावों की पुष्टि तो नहीं कि, लेकिन अगर ये सही हुआ तो WWE यूनिवर्स की तरह वे भी परिणाम से चौंक उठे होंगे।

#4 अर्ल हेब्नर के पास खुद का एक्शन फिगर है

अर्ल हेब्नर का एक्शन फिगर

रेसलर्स का खुद के एक्शन फिगर रखना कोई नयी बात नहीं है। लेकिन अगर कोई रेफरी अपना खुद का एक्शन फिगर रखे तो सभी को आश्चर्य ज़रूर होगा। अर्ल हेब्नर रेसलिंग के एक प्रसिद्ध रेफरी हैं और उन्होंने अपना खुद का एक्शन फिगर रखा हुआ है। वे सब सिमित आइटम थे और अब उनका मिलना लगभग नामुमकिन है। मॉन्ट्रियल स्क्रूजॉब से जुड़े होने के कारण वे प्रसिद्ध हुए और अपने जुड़वे भाई (जो खुद एक रेफरी थे) के साथ स्टोरीलाइन का भी हिस्सा थे। 2006 में हेब्नर TNA से जुड़ गए और अब वहां काम कर रहे हैं।

#3 ड्रेक यंगर इंडिपेंडेंट सर्किट के एक प्रसिद्ध रेसलर हैं

ड्रेक एक हार्डकोर रेफरी हैं

WWE में ड्रेक यंगर भले ही नए रेफरी हो, लेकिन इंडिपेंडेंट सर्किट के वे एक प्रसिद्ध रेसलर है। IPW और CZW में यंगर ने कई हिंसक मैच खेले हैं। अपने रेसलिंग करियर में उन्होंने नंगे पाँव थंबटैक डेथ मैच, टैंगलड वेब डेथ मैच जैसे हिंसक मुकाबले लड़े हैं। ड्रेक टेक्निकल और डेथ मैच टूर्नामेंट जीतने वाले पहले रेसलर हैं। अपने 10 साल के रेसलिंग करियर के बाद वे WWE में रेफरी के तौर पर शामिल हो गए। इसके पहले ड्रेक आज के WWE स्टार्स जैसे सिजेरो और डीन एम्ब्रोस से भी लड़ चुके हैं।

#2 स्कॉट आर्मस्ट्रौंग रोड डॉग के भाई हैं

ब्रॉक लेसनर के साथ स्कॉट

WWE में स्कॉट आर्मस्ट्रौंग का बड़ा नाम है। रेसलमेनिया XXX जैसे अहम मुकाबले वे हिस्सा रह चुके हैं। स्कॉट के बारे मे ये सब बात हम जानते है, लेकिन ये कोई जनता कि वें रेसलर रोड डॉग के भाई हैं। स्कॉट आर्मस्ट्रांग के तीन भाई है जो रेसलर्स बने, उनमें से एक है रोड डॉग। स्कॉट आर्मस्ट्रांग के अन्य दो भाई हैं ब्रैड आर्मस्ट्रांग और स्टीव आर्मस्ट्रांग। उनके पिता बॉब आर्मस्ट्रांग भी अपने दिनों में रेसलर हुआ करते थे। स्कॉट 2006 में WWE से जुड़े और तब से WWE के लिए रेफरी बने हुए हैं।

#1 रैफरी को भी वैलनेस पॉलिसी का पालन करना पड़ता है

माइक चिओदा

अगर आपको लगता है कि वैलनेस पॉलिसी केवल WWE सुपरस्टार्स पर लागू होती है, तो दोबारा सोच लीजिये। रैफरी भी इन नीतियों के तहत आते हैं और जो कोई इसका उल्लंघन करता है, रैसलर्स की तरह उन्हें भी सजा मिलती है। रैफरी को भी लगातर परीक्षण प्रक्रिया से गुजरना पड़ता है और इस प्रक्रिया में सफल होने के बाद ही उन्हें रिंग में जाने का मौका मिलता है। इस प्रक्रिया का उद्देश्य है कि स्क्रीन पर रैफरी सेहतमंद लगे, ड्रग्स से दूर रहें और कुछ गलत ना करें जिससे कंपनी की बेइज़्ज़ती हो। माइक चीओड़ा एक जाने माने रैफरी है, जिन्होंने इन नियमों का उल्लंघन किया और उन्हें सजा मिली। उन्हें 30 दिनों तक निलंबित किया गया। WWE के इतिहास में वें एकमात्र रैफरी है, जिन्होंने इन नियमों का उल्लंघन किया है। लेखक: रणजीत रवींद्रन, अनुवादक: सूर्यकांत त्रिपाठी

Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...