WWE पीपीवी को ज्यादा जबरदस्त बनाने के 5 तरीके

WWE ने पिछले एक दशक में बहुत सारे गिमिक पे-पर-व्यू आयोजित किए हैं लेकिन अब यह पीपीवी बासी बन गए हैं। WWE की महिलाओं को पिछले कुछ महीनों से इतिहास रचने का मौका मिल रहा है क्योंकि पूरा फोक्स उनपर डाला जा रहा हैं। एक्सट्रीम रूलस का बिल्ड-अप निराशाजनक रहा हैं। इसी बात को ध्यान में रखते हुए, यहां पांच ऐसे तरीके हैं जो गिमिक पे-पर-व्यू को रोचक बना सकते हैं:


5- 24/7 नियम को वापस लाना

WWE हार्डकोर चैंपियनशिप का 24/7 नियम WWE के सबसे बेहतरीन आइडियाज में से एक था।इस नियम के तहत मौजूदा चैंपियन को अपनी चैंपियनशिप 24/7 डिफेंड करना पड़ता था जिसके चलते एक मैच के दौरान इस चैंपियनशिप में कई बार बदलाव हो जाते थे।

इस गिमिक से WWE उन सुपरस्टार्स का इस्तेमाल कय पायेगी जो फिलहाल बैकस्टेज में बैठकर मोनिटर पर शो देखते हैं।इससे शो के बाद नये फिउड की नींव रखी जा सकेगी।

youtube-cover


# 4 हर एक चैंपियनशिप दांव पर होनी चाहिए

2000's के बाद से WWE ने एक नियम बनाया गया जिसके तहत एक चैंपियन 30 दिन के अंदर अपने चैंपियनशिप को डिफेंड करना पड़ता था।इसके मतलब है कि हर पे-पर-व्यू में सभी चैंपियनशिप दांव पर होनी चाहिए। लेकिन रॉ टैग टीम चैंपियंस ने मनी इन द बैंक में अपनी चैंपियनशिप डिफेंड नहीं की और ब्रॉक लैसनर ने अप्रैल के बाद से अपने चैंपियनशिप को डिफेंड नहीं किया है।

WWE को यह नियम वापस लाना चाहिए।अगर कोई चैंपियन चैंपियनशिप जीतने के 30 दिन के अंदर उसे डिफेंड नहीं कर पाता हैं तो वह चैंपियनशिप उनसे छिन ली जाएगी और अगले पे-पर-व्यू में एक मल्टी-मेन मैच में उस चैंपियनशिप को डिफेंड किया जाएगा।

youtube-cover


# 3 सभी सुपरस्टार्स को मौका मिलना चाहिए

WWE के मेन रोस्टर में सुपरस्टार्स की भरमार हैं जिसके कारण बहुत सारे सुपरस्टार्स शो और इवेंट्स का हिस्सा नहीं बन पाते हैं क्योंकि क्रियेटिव टीम के पास उनके लिए कुछ रहता ही नहीं।

इससे छुटकारा पाने WWE को ऐसा नियम लाना चाहिए जिसके तहत हर वह सुपरस्टार जो पिछले महीने के शो में था अगले शो का हिस्सा बनें चाहें वह किसी चैंपियनशिप मैच में हो या किसी सिंगल्स मैच हैं। इससे मेन रोस्टर में मौजूद हर एक सुपरस्टार को पे-पर-व्यू में परफोर्मर करने का मौका मिलेगा।

youtube-cover


# 2 कोई सेट कैलेंडर नहीं होना चाहिए

हम सभी को पता है कि अक्टूबर में Hell in a Cell पीपीवी होने वाला हैं। पहले Hell in a cell को उन फिउड में इस्तेमाल किया जाता था जो हद से आगे निकल चुके हो और इस मैच के बाद उस फिउड को खत्म कर दिया जाता था।सालाना पीपीवी ने इस ढांचे की हैवानियत को कम किया हैं।

WWE को इन गिमिक पीपीवी को आगे-पीछे करना चाहिए और अगर किसी फिउड में उस गिमिक की जरूरत के अधार पर पीपीवी आयोजित करना चाहिए।

youtube-cover


# 1 गिमिक पीपीवी में सिर्फ गिमिक मैच ही होना चाहिए

Extreme Rules इस रविवार को होने जा रहा है लेकिन इस शो के कार्ड में सिर्फ एक एक्सट्रीम रूलस मैच हैं, जो एक विमेंस मैच हैं। एक गिमिक पीपीवी में हर एक मैच उस गिमिक के अनुसार लड़ा जाना चाहिए। उदाहरण के तौर पर Hell in a Cell में हर एक मैच Hell in a Cell के अंदर लड़ा जाना चाहिए।इससे पूरा कार्ड पहले से ज्यादा रोचक बनेगा।

youtube-cover


लेखक - फिलिप मैरी, अनुवादक - संजय दत्ता