Create
Notifications

5 चीजें जो Hell in a Cell 2017 में नहीं होनी चाहिए

सुर्यकांत त्रिपाठी

स्मैकडाउन लाइव के एपिसोड के बाद कई बार कुछ खाली सीटों की तस्वीर आ जाती जिसके बाद कहा जाता है कि शो देखने आएं दर्शकों में कमी आई है। स्मैकडाउन लाइव में कई काबिल रैसलर्स हैं और वहां रैसलर्स के पास मौकों की कोई कमी नहीं है। ऐसे में शो के गिरते आंकड़े को देखकर काफी निराशा होती है। यहां पर हम क्वालिटी की नहीं बल्कि क्वांटिटी की बात कर रहे हैं। आने वाले पे पर व्यू, हैल इन ए सैल पर स्मैकडाउन अपने आंकड़े सुधारने की कोशिश करेगी और इसके लिए उन्हें कई ऐसी चीजें हैं जिन्हें करने से बचना होगा। अगर ये गलतियां नहीं होंगी तो शो कामयाब होगा और स्मैकडाउन के गिरते आंकड़े भी सुधरेंगे।

#5 कार्मेला का अपना ब्रीफकेस कैश इन करना

10-56-35-eaf6d-1507218301-500

यहां पर हम नओमी या फिर नटालिया का अपमान नहीं कर रहे लेकिन स्मैकडाउन लाइव के महिला रैसलर्स को देखकर आप कह सकते हैं कि कौन वहां का सबसे मूल्यवान व्यक्ति है। शार्लेट फ्लेयर को लम्बे समय से ख़िताब से दूर रखा गया है और रॉ पर वो जैसा काम किया करती थी वैसा काम वो यहां नहीं कर पाती। बैकग्राउंड में कार्मेला अपना ब्रीफ़केस कैश इन करने के लिए तैयार हैं लेकिन ऐसा करने के लिए ये पे पर व्यू सही जगह नहीं है। इससे नटालिया को हराकर ख़िताब जीतने वाली शार्लेट का स्तर गिर सकता है। यहां पर हम नटालिया के हारने की उम्मीद कर रहे हैं। शार्लेट फ्लेयर को वापस रोस्टर की टॉप स्टार के रूप में दिखाने की ज़रूरत है और इसे करने का सबसे अच्छा तरीका उन्हें ख़िताब जीतवा कर किया जा सकता है।

#4 जिंदर महल को चैंपियन बने रहने देना

10-58-12-55681-1507218989-500

जब जिंदर महल ने पहली बार WWE चैंपियनशिप जीती तो WWE द्वारा उठाए इस साहसी कदम को हम सभी ने सराहा। लेकिन तबसे ख़िताब की वैल्यू गिरते गयी है। इसमें जिंदर महल की कोई गलती नहीं है क्योंकि उन्हें जो करने मिल रहा है उसमें वो अच्छा काम कर रहे हैं। उन्हें जो लाइनें मिल रही है उसमें क्रिएटिव लाइन की भारी कमी है। इसमें बदलाव लाने की सख्त जरूरत है। हमे ये नहीं पता कि शिंस्के नाकामुरा इसके लिए सही विकल्प हैं या नहीं लेकिन जिंदर महल को हराने के लिए शिंस्के नाकामुरा सामने खड़े और वो ही ये काम कर सकते हैं। हाल ही में WWE ने अपने लाइव इवेंट के लिए भारतीय दौरे की घोषणा की है और जिंदर महल अपने देश के दर्शकों के सामने ख़िताब वापस जीतकर सभी को खुश कर सकते हैं।

#3 फैशन पुलिस के नए एपिसोड में देरी करना

10-58-31-d2e4a-1507219512-500

जब दर्शकों को पता चला कि स्मैकडाउन लाइव पर फैशन पुलिस के होने वाले एपिसोड को हैल इन ए सैल के लिए स्थगित कर दिया गया है तो दर्शकों को काफी ग़ुस्सा आया। फैशन पुलिस के पिछले एपिसोड के बाद उसका अंत नहीं हो पाया था और इसलिए संभावना है कि इवेंट के बाद भी इसका अंत नहीं हो पाएगा। मेरे ख्याल से ये बड़ी गलती होगी। आम मैच के अलावा फैशन पुलिस मजेदार सैगमेंट हैं और दर्शक इसे पसंद करते हैं। उम्मीद करते हैं इवेंट पर ब्रीजांगो का शो कामयाब रहे।

#2 पेज की वापसी

10-58-51-bcb10-1507220021-500

पेज में कमाल की प्रतिभा है। स्मैकडाउन में मांग से ज्यादा सप्लाई है। इसी वजह से ल्यूक हार्पर, एरिक रोवन और ब्रीजांगो जैसे स्टार्स बीच के कुछ हफ्ते शो से गायब रहते है। पेज के साथ भी ऐसा ही कुछ हो सकता है। लाना और टमीना के बीच स्टोरीलाइन चल रही थी लेकिन लगता है उसे भी रद्द कर दिया गया। दर्शक भी कुछ समय बाद उससे बोर हो सकते हैं। विमेंस चैंपियनशिप को लेकर पहले ही मारा मारी चल रही है और डर इस बात का है कि कहीं पेज इस भीड़ में खो ना जाये। उनकी वापसी के बाद उन्हें ख़िताबी रेस में दौड़ाना खतरा साबित हो सकता है। हैल इन ए सैल पेज की वापसी का सही मंच नहीं है और यहां पर उनकी वापसी जल्दबाज़ी होगी।

#1 रुसेव की दोबारा हार

10-59-09-f167a-1507220900-500

रुसेव ऐसे स्टार हैं जिन्हें हमेशा कुछ बड़ा मिलते मिलते रह गया। उनकी कॉमिक टाइमिंग अच्छी है और उन्हें इंटरनेट के दर्शकों का समर्थन मिला हुआ है। WWE को अब उन्हें सुपरस्टार बनाने की ओर काम करना चाहिए और ऐसा करने के लिए उन्हें रैंडी ऑर्टन को हराने की ज़रूरत है। वहीं इस हार से 13 बार के वर्ल्ड चैंपियन ऑर्टन को कुछ खास फर्क नहीं पड़ेगा। वो कई मुख्य इवेंट का हिस्सा रह चुके हैं और इस हार से उनका मोमेंटम नहीं टूटेगा। वहीं दूसरी ओर ये जीत रूसेव के लिए बहुत बड़ी जीत होगी। स्मैकडाउन लाइव के पिछले पे पर व्यू, समरस्लैम पर रैंडी ऑर्टन ने 10 सेकंड में हरा दिया था जिसमें उनकी काफी बेइज्जती हुई थी। वहीं उसके पहले वाले पे पर व्यू में जॉन सीना ने उन्हें हराया था। रूसेव को उनका मोमेंटम वापस बनाने की सख्त जरूरत है और इसके लिए उन्हें हैल इन ए सैल पर जीतने की ज़रूरत है। लेखक: रिजु डासगुप्ता, अनुवादक: सूर्यकांत त्रिपाठी

Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...