Create
Notifications

WWE के 5 सुपरस्टार्स जो शायद 2019 तक नहीं लड़ पाएंगे

मोहिनी भदोरिया
WWE में हर साल किसी न किसी नए सुपरस्टार का डेब्यू होता है, कुछ जल्दी रिटायर हो जाते हैं, तो कुछ WWE यूनिवर्स को एंटरटेन करने के लिए रुक जाते हैं। लेकिन अगर रोस्टर में देखा जाए, तो अभी भी कई सारे ऐसे रैसलर्स हैं, जो काफी समय से परफॉर्म कर रहे हैं। इन रैसलर्स ने WWE में काफी बेहतरीन पल दिए हैं।
हालांकि, इन रैसलर्स को अपनी फिजिकल कंडीशन और अपने पर्सनल रीजन या किसी और वजह से कंपनी छोड़ना पड़ती है। इन रैसलर्स की वजह से उनके फैंस काफी नाराज होते हैं, लेकिन अगर वो 2019 से पहले रिटायर हो जाते हैं, तो सरप्राइजिंग नहीं होगा।
ये हैं वो 5 रैसलर्स जो 2019 से पहले नहीं लड़ सकते।

मिकी जेम्स

WWE में विमेंस डिविजन ने काफी बेहतरीन परफॉर्मेंस दी हैं, जिसमें से एक मिकी जेम्स हैं, उन्होंने अपनी काबिलियत के साथ काफी शानदार प्रदर्शन दिया है। जेम्स ने 5 बार विमेंस चैंपियनशिप और एक बार डीवाज चैंपियनशिप हासिल की है।
जेम्स काफी दिग्गज सुपरस्टार हैं। उन्होंने पहली बार हुए विमेंस रॉयल रंबल में और एलिमिनेशन चैंबर मैच में हिस्सा लिया था। हालांकि वो WWE में ज्यादा समय तक नहीं टिक पाईं।
दरअसल इनकी उम्र ही अब उनके लिए एक बड़ा चैलेंज हैं, अब 38 साल की हो गई हैं। वहीं अगर उनका मुकाबला किसी यंग रैसलर के साथ हुआ, तो उनके लिए जीत तक पहुंचना काफी मुश्किल हो सकता है। फिलहाल WWE के पास भी उनके लिए कोई फिउड नहीं है।
जेम्स काफी ग्रेसफुल रैसलर हैं, जो लगता है कि कंपनी के लिए और बर्डन नहीं बनना चाहती, शायद इसलिए 2018 भी उनके लिए आखिरी साल हो सकता है।

कर्ट हॉकिंस

कर्ट हॉकिंस ने अपने WWE के करियर में काफी उतार चढ़ाव देखे हैं। WWE में उनके सबसे बेहतरीन पल टैग टीम चैंपियन के तौर पर रहे हैं। इसके अलावा, उन्होंने कई बार जैक रायडर और ऐज के साथ टीम के रूप में वर्ल्ड हैवीवैट चैंपियनशिप हासिल की है। लेकिन अगर सिंगल्स की बात की जाए, को उन्होंने कुछ भी हासिल नहीं किया। हॉकिंस को WWE में 10 साल हो गए हैं, लेकिन कंपनी ने उन्हें अपने टेलेंट को दिखाने के लिए कभी भी अवसर नहीं दिया। दरअसल जब उनका पहली बार क्रॉन्ट्रैक्ट खत्म हुआ था, तो उन्होंने इम्पैक्ट रैसलिंग छोड़ दी थी, जिसके चलते कंपनी भी उनसे असहमत थी। दरअसल उन्होंने ऑनस्क्रीन 150 स्ट्रीक्स और कई सारे मैच गवाएं हैं। 2017 में भी वो कोई जीत हासिल नहीं कर पाए थे। हालांकि वो अभी भी यंग हैं। अगर WWE उन्हें एक और मौका देती है, तो वो इस साल प्रो-रैसलिंग ऑर्गेनाइजेशन में हिस्सा ले सकते हैं।

केन

दरअसल इसमें कोई संशय नहीं है कि केन WWE के दिग्गज सुपरस्टार्स में से एक हैं, जोकि शायद 2018 में रिटायर हो सकते हैं। केन अब 50 साल के हो गए हैं, जिनकी फिजीक और हैल्थ भी अब उनका इतना साथ नहीं दे पाएगी। लेकिन उन्होंने इतने साल से अपने फैंस को काफी प्रभावित किया है।
केन मास्क के साथ और बिना मास्क के अभी भी इतने काबिल हैं कि शानदार परफॉर्मेंस दे सकते हैं। दरअसल उनकी एंट्री का म्यूजिक, रैसलिंग मूव्स और उनके स्पेशल इनफर्नो मैच ही उनकी काबिलियत को दर्शाता है।
केन ने 90's और 2000 में काफी सारी अवसरों को गंवाया है। शायद उनके फैंस अब उन्हें लड़ते हुए नहीं देख पाएंगे। केन कई सारे टीवी शो और मूवी में दिखाई दिए हैं। इसी के साथ उन्होंने राजनीति में भी पार्ट टाइम के रूप में काम किया है। लेकिन अब वो अपने फैंस को 2018 में ही गुडबाय कह सकते हैं।

बिग शो

पॉल वाइट WWE के काफी अभिनव रैसलर हैं, जोकि रिंग के अंदर सबसे प्रभावी रैसलरों में से एक थे। उन्होंने WWE में अपने प्रतियोगी कि हड्डी तोड़ने और रिंग्स तोड़ने से लेकर काफी सारी चीज़े की हैं। बिग शो पिछले दो दशक से अपने फैंस को काफी प्रभावित करते हुए आए हैं, साथ ही उन्होंने कई सारी चैंपियनशिप भी हासिल की है।
बिग शो ने WCW से WWF और अब WWE में काफी सक्सेस हासिल की है। WWE में कुछ ही रैसलर्स होंगे जिन्होंने उनके मुकाबले इतने मैच लड़े हों। लेकिन अगर अभी देखा जाए, तो बिग शो की उम्र 46 साल हो गई है, जिनकी बॉडी अब WWE में लड़ने योग्य नहीं रही। वहीं याहू के साथ हुए एक इंटरव्यू में भई उन्होंने कहा था कि वो 2018 में रिटायर हो सकते हैं।

ब्रॉक लैसनर

WWE के इतिहास में 'द बीस्ट इनकार्नेट' काफी काफी कुशल सुपरस्टार में से एक हैं। लैसनर ने 4 बार WWE चैंपियनशिप हासिल की है, अब तक के सबसे यंगेस्ट WWE चैंपियन हैं। ब्रॉक लैसनर ने 2002 के द किंग ऑफ द रिंग टूर्नामेंट और 2003 के रॉयल रंबल, यूनिवर्सल चैंपियनशिप भी हासिल की है।
फिलहाल वो काफी समय से यूनिवर्स चैंपियन हैं। लेकिन अब वो कंपनी को छोड़ चुके हैं और दूसरे रैसलिंग प्रमोशन में लड़ रहे हैं। लैसनर ने NJPW और UFC में भी काफी रिकॉर्ड तोड़े हैं। साथ ही कई सारी मूवी और टेलीविजन शो में भी दिखाई दिए हैं।
लेखक- राजर्शी बैनर्जी, अनुवादक- मोहिनी भदौरिया
Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...