Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

6 मैच जो Elimination Chamber 2019 में धमाल मचा सकते हैं

Enter caption
Modified 03 Feb 2019, 14:34 IST
टॉप 5 / टॉप 10
Advertisement

रैसलमेनिया 35 के सफर का एक अहम पड़ाव जल्द ही फैंस के बीच होगा। एलिमिनेशन चैंबर पे-पर-व्यू 17 फरवरी 2019 (भारत में 18 फरवरी) को टैक्सस के ह्यूस्ट स्थित टोयोटा सेंटर में आयोजित होगा। हमेशा की तरह इस बार भी 'रोट टू रैसलमेनिया' के लिए यह काफी अहम मुकाबला होगा। इसमें रॉ और स्मैकडाउन दोनों ही ब्रांड के रैसलर अपनी प्रतिभा दिखाएंगे।

WWE का यह मुकाबला अपने नाम के मुताबिक अपने काम के लिए भी जाना जाता रहा है। इसमें 6 सुपरस्टार्स प्रवेश करते हैं लेकिन कोई एक ही विजेता के रूप में रिंग में बचता है। इस साल दो एलिमिनेशन मैचों की पुष्टि पहले ही हो चुकी है।

इस बार के एलिमिनेशन चैंबर में 'द न्यू' डेनियल ब्रायन, एजे स्टाइल, रैंडी ऑर्टन, जैफ हार्डी, समोआ जो और मुस्तफा अली के खिलाफ अपने ब्रांड न्यू इको-फ्रेंडली WWE चैंपियनशिप का बचाव करते नजर आएंगे। एक अन्य एलिमिनेशन चैंबर में पहली बार WWE महिला टैग टीम चैंपियंस अपनी प्रतिभा दिखाएंगी। अभी तक इसके लिए तीन टीमों की घोषणा हो चुकी है जिसमें नाया जैक्स और टमिला स्नूका, द रायट स्क्वॉड और मैंडी रोज व सोन्या डेविल शामिल हैं।

इन दो मैचों को अलावा स्मैकडाउन टैग टीम चैंपियन शेन मैकमैहन और द मिज उसोस के खिलाफ अपने खिताब की रक्षा करते नजर आएंगे। उसोस ने स्मैकडाउन लाइव में पूर्व चैंपियन द बार, द न्यू डे और हैवी मशीनरी को हराकर फैटल 4-वे मैच जीता है।

आपको बताते हैं ऐसे और छह मैच के बारे में एलिमिनेशन चैंबर में हो सकते हैं

#6. बॉबी लैश्ले बनाम फिन बैलर (इंटरकॉन्टिनेंटल चैंपियनशिप मैच)

Enter caption

रॉयल रंबल के दौरान ब्रॉक लैसनर ने फिन बैलर को हराया था। काफी रोमांचक मुकाबले के दौरान बेहतरीन टक्कर देने के बाद भी बैलर को हार का सामना करना पड़ा। रॉ की अगली रात को बॉबी लैश्ले और उनके मैनेजर ने उन्हें छेड़ा। इन दोनों का मानना था कि बैलर कभी भी यूनिवर्सल चैंपियनशिप के लिए प्रतिस्पर्धा पाने का हक नहीं रखते हैं। उनमें यह काबिलियत है ही नहीं।

इसके बाद बैलर ने लैश्ले का रॉयल रंबल के दौरान रिंग में 12 मिनट बिताने को लेकर मजाक उड़ाया। इससे गुस्साए लैश्ले ने बैलर को धर दबोचा। अब इससे यह स्पष्ट है कि लैश्ले और बैलर का यह झगड़ा इंटरकॉन्टिनेंटल चैंपियनशिप की ओर इशारा कर रहा है। इस सब की शुरुआत एलिमिनेशन चैंबर से हो सकती है।

दूसरी तरफ बैलर को इंटरकॉन्टिनेंटल चैंपयन बनाने का यह सुनहरा मौका है क्योंकि वह बीते साल कोई भी बड़ा मैच नहीं जीत पाए हैं। हालांकि लैश्ले ने भी अभी दो हफ्ते पहले ही रॉ पर खिताब जीता है। इसलिए ऐसा लगता है कि यह दुशमनी रैसलमेनिया तक जारी रह सकती है।

Advertisement

1 / 6 NEXT
Published 03 Feb 2019, 14:34 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit