Create
Notifications

WWE के 6 नियम जिनका कोई मतलब नहीं बनता

सुर्यकांत त्रिपाठी
visit

प्रोफेशनल रैसलिंग को पूरी तरह से समझना हमेशा से मुश्किल रहा है। यहां पर बड़े हो चुके महिला और पुरुष एक दूसरे पर हमला करते हैं और बिना कुछ बोले एक कहानी बताते हैं। सुनने में थोड़ा अजीब है, लेकिन दुनिया भर के दर्शक इसे पसंद करते हैं। लेकिन बाकियों की तरह ही इसमें में बहुत आलोचना होती है। इसके नकली होने के कारण लोग रैसलर्स और दर्शकों का मज़ाक बनाते हैं। कई बार उनके हिंसक रूप दिखाने और कई बार रैसलिंग कंपनी द्वारा अजीब चीज़ें दिखाने पर लोग मज़ाक बनाते हैं। सभी रैसलिंग दर्शक शो को देखने का एक कारण बताते हैं कि ये अलग है, लेकिन गैर-रैसलिंग दर्शक इसका मज़ाक बनाने का कोई न कोई कारण ढून्ढ ही निकालते हैं। अब वे लोग एक और चीज़: तर्कहीन और बेबुनियाद स्टोरीलाइन और WWE के मैच स्ट्रक्चर को लेकर भी इसका मज़ाक बनाएंगे। पाता नहीं WWE अपने आप को स्पोर्ट्स एंटरटेनमेंट क्यों कहती है, वो रैसलिंग हैं। इसे देखने के लिए दर्शकों को इसकी झूठी बातों में विश्वास करना पड़ता है। लेकिन इसमें एक खास बात भी है। आज के दर्शक पहले के दर्शकों के मुकाबले ज्यादा समझदार हैं और उन्हें मैच के साथ-साथ बैकस्टेज की गतिविधियों में भी दिलचस्पी है। पहले जब बैकस्टेज कुछ होता था तो दर्शकों को उसकी भनक नहीं लगती थी, लेकिन आज वे किसी न किसी तरह से उनकी खबर ढून्ढ निकालते हैं। इंटरनेट के मध्यम से आज ऑन-स्क्रीन शो और शो में निर्णय की प्रतिक्रिया में दूरी कम हो गयी है और इस वजह से दर्शकों को WWE में ज्यादा से ज्यादा नियमों के बारे में जानकारी मिल रही है। इनमें से कई नियमों का मतलब बनता है, जैसे के चोटिल होनेपर और उनके लिए वैलनेस पालिसी। इसके अलावा और कई नियम हैं जिनपर सवाल खड़े होते हैं जैसे WWE का बचकाना प्रोमो और स्टोरीलाइन क्योंकि कंपनी PG की है बिना खून-खराबे के। इसके बाद कुछ ऐसे नियम भी हैं जिनका क्या मतलब है समझ नहीं आता। इन बिना मतलब के नियमों को समझने के लिए आपको बिज़नस एक्सपर्ट, आर्थिक सलाहकार या साइकोलॉजी का विशेषज्ञ होने की ज़रूरत नहीं है। ये रहे WWE के छह बिना मतलब के नियम जिनकी मदद से WWE में नतीजों और बुकिंग के निर्णय लिये जाते हैं। #6 टैग टीम मैच में पार्टनर केवल एक बार दखल दे सकता है maxresdefault-1481948195-800 पीछे जाकर आप स्मैकडाउन या रॉ पर कोई टैग टीम मैच देखिए। आपको पता चलेगा कि टैग टीम मैच में जब दो रैसलर्स रिंग के अंदर होते हैं तो पिन को रोकने के लिए साथी रैसलर केवल एक बार रिंग में उतरता है और अंदर आकर विरोधी पर हमला कर सकता है। इसका मतलब मैच में आप एक ही बार अपने साथी को बचाने के लिए रिंग में कूद सकते हैं। इसका कोई मतलब नहीं बनता क्योंकि टैग टीम मैच में आपका साथी आपकी मदद करने के लिए ही होता है। मैच के दैरान दोनों रैसलर्स के साथियों को कई बार दखल देकर अपने साथी को बचाने की कोशिश करनी चाहिए। इससे मैच रोमांचक बन जाएगा और उसमें दिलचस्पी बनी रहेगी। इस तरह का नियम बना कर WWE दर्शकों से ये कह रही है कि उन्हें चिंता करने की ज़रूरत नहीं है क्योंकि पहली दफा उनका पार्टनर उन्हें पिन होने से बचा लेगा। यहाँ पर वे दर्शकों को अनुमान लगाने की छूट दे रहे हैं और हर बार ऐसा ही होता है। लेकिन वहीँ टैग टीम पार्टनर द्वारा कई बार दखल देने के कई फायदें हैं। यहाँ पर अपने साथी की मदद करने से वे मैच में ड्रामा बढ़ाते हैं और वहीँ दूसरी ओर अपने विरोधी को और ग़ुस्सा दिलाते हैं। उदाहरण के तौर पर साल 2001 के सर्वाइवर सीरीज के "WWE बनाम अलायन्स" मैच कर पहले हाफ में शेन मैकमैहन ने कई बार दखल देकर अपने साथी को बचाया। इसवजह से दर्शक उनसे नाराज हुए और उन्हें फटकारने लगे। इसलिए जब कई रैसलर्स ने उनपर अपने फिनिशिंग मूव आजमाए तब दर्शकों ने सभी रैसलर्स का समर्थन किया और जब वे बाहर हुए तब सभी दर्शक ने अपनी खुशी जताई। इस तरह की कहानी और साइकोलॉजी वाला मैच आज के दिनों में ढूंढना बहुत मुश्किल है, खासकर तब जब कंपनी ऐसे नियम बना रही है। #5 केवल जॉन सीना या/बू कर सकते है czow7ltwiaaskz0-1481948130-800 इसकी एंट्री हाल ही में 'हाउस ऑफ शो' में बांटी गई डॉक्यूमेंट के द्वारा हुई थी और पिछले कुछ दिनों से इसे सिर्क्युलेट किया जा रहा है। 'या/बू पंचेस' का इस्तेमाल करने का अधिकार केवल जॉन सीना को ही है। भले ही सीना रॉस्टर में अधिकतर समय न रहते हों, लेकिन उसके अलावा इस मूव का इस्तेमाल कोई और नहीं कर सकता। एजेंट सीधे-सीधे ये कहना चाहते हैं कि कोई और रैसलर सीना जितना लोकप्रिय नहीं हो सकता। ये नियम समझ के परे है। पाइलड्राइवर पर प्रतिबंध लगाना और बाकि रैसलर्स को उसे करने से रोकना एक अलग बात है। दर्शक भी मैच के कई हिस्सों में शामिल होना चाहते हैं और वे ऐसा दूसरे रैसलर को बू कर के या फिर चीयर कर के करते हैं। ऐसा हमने को कई रैसलर्स के खिलाफ लड़ते समय इस्तेमाल करते देखा है, खासकर रोमन रेन्स, केविन ओवन्स और सेमी जेन के मैचों में। दर्शकों का इस तरह मैच पर प्रतिक्रिया देना ये दर्शाता है कि वे मैच को कैसे देखते हैं। इसलिए ये काम केवल सीना को सौंप पर WWE बाकि रैसलर्स से कह रही है कि "हमे आपसे अच्छे मैचेस की उम्मीद नहीं है। केवल सीना ही दर्शकों को उनके मैच में शामिल कर सकते हैं।" WWE की ये सोच ही ख़राब है जो कई युवा रैसलर्स को आगे बढ़ाने से और अपनी काबिलियत दिखाने से रोकती है। जब तक कंपनी दूसरे रैसलर्स को सीना के स्तर तक पहुंचने से रोकती रहेगी तब तब उन्हें कंपनी चलाने के लिए पुराने स्टार्स की ज़रूरत पड़ेगी और उन्हें नए स्टार्स नहीं मिल पाएंगे। #4 द रोल अप WWE की सबसे शक्तिशाली फिनिशर है vqmdl5-1481948377-800 चलिए, एक ऐसी रैसलिंग मूव का नाम बताइए जिससे सभी घबराते हैं। जी, नहीं ना ये F5 है, न टॉम्बस्टोन, ना ही AA और नाही रियर व्यू। इसका जवाब है रोल अप, ऐसी मूव जिसपर बड़े से बड़ा रैसलर भी पिन हो जाये। पिछले साल हमने इसे कई बार देखा। एक रैसलर जीत के करीब होगा और तभी किसी दूसरे रैसलर की म्यूजिक बजेगी, या कोई रिंग एप्रन से बाहर निकलेगा। लेकिन तभी रिंग में मौजूद दूसरा रैसलर पहले रैसलर के पैर पकड़कर उन्हें रोल अप करते हुए पिन कर देगा। मैं कोई प्रशिक्षित रैसलर नहीं हूँ, लेकिन इसे पढ़कर आप के मन भी सवाल पैदा हुआ होगा। लेकिन मैं ये बात तो पक्के तौर पर कह सकता हूँ की अगर कोई रैसलर मुझे या आपको ऐसे रोल करें तो हम दोनों कुछ ही पलों में इसपर काउंटर कर सकते हैं। रोल अप में जो जो शामिल होते हैं वे सब कमज़ोर दिखाई देते हैं। जिसपर ये मूव इस्तेमाल होता हो उसे इस कमज़ोर सी मूव के सामने बेहद लाचार समझा जाता है। खाकसार तब जब उनपर ये मूव उनका ध्यान न होने के कारण आजमाया जाता है और मजे की बात ये है कि वे तीन सेकंड तक इसके नीचे दबे रह जाते हैं। इसे इस्तेमाल करनेवाला भी कमजोर दिखाई देता है, क्योंकि मैच खत्म करने के लिए वो इस तरह के साधारण मूव का इस्तेमाल करता है। और इसे लिखनेवाला भी बेवकूफ दिखाई देता हैं क्योंकि वो मैच को "दखल के बाद रोल अप" से खत्म करता है। अगर आप सोच रहे हैं कि कई सारे अच्छे रैसलर्स के होने के बावजूद उन्हें मोमेंटम क्यों नहीं मिलता, तो ये है उसका कारण। #3 गेस्ट और एक्टर्स को रैसलर्स से ज्यादा अच्छा दिखना चाहिए barker1x-large-1481948447-800 पुरुष और महिला, दोनों रैसलर्स को मजबूत दिखाई देना होता है। वैसे भी आप पूरे साल इतनी कड़ा परिश्रम करते हुए और केवल रिंग के अंदर नहीं बिता सकते। लेकिन फिर इन रैसलर्स को ऐसी स्तिथि में रखा जाता हैं जहाँ पर सेलेब्रिटी और गेस्ट उनपर हावी रहते हैं। एक रैसलर का किसी गैर-रैसलर के हाथों हारना सही बात नहीं है। लेकिन फिर न जाने किन कारणों से WWE ने ऐसी कई बुकिंग की है। फ्लोयड मेवेदर से 2 फुट ऊँचे होने के बावजूद बिग शो जो उनके हाथों हार झेलनी पड़ी थी। जर्सी शोरज़ स्नूकी जैसे एक अनुभवहीन व्यक्ति ने केवल कुछ मूव्स की मदद से मिशेल मैककूल जैसे प्रशिक्षित रैसलर को चोटिल कर दिया। चावो ग्युरेरो को बॉब बार्कर से कराटे चोप लेना पड़ा था। WWE में E का मतलब एंटरटेनमेंट होता है, लेकिन इसका ये मतलब नहीं की आप अपने रैसलर्स को दूसरे के सामने बेवकूफ दिखाए। इस अनुभवहीन रैसलर्स के सामने प्रशिक्षित रैसलर्स को कमज़ोर दिखा कर WWE रैसलिंग के स्तर को गिरा रही है और इससे कोई भी रैसलिंग को गंभीरता से नहीं लेगा। हाल ही में WWE प्रोग्रामिंग में कई विशेष मेजबान आए और वे सब WWE के टॉप रैसलर्स पर जुबानी जंग में हावी साबित हुए। यहां पर रैसलर्स को हावी होने चाहिए था, ना की विशेष होस्ट को। यहां पर हो सकता है WWE गैर-रैसलर्स को रैसलर्स पर हावी दिखा कर अपने आप को बड़ा दिखाने की कोशिश कर रही हो। लेकिन अगर हर बार कोई मामूली इंसान आकर रैसलर्स पर हावी हो जाएगा तो इससे रैसलर्स और WWE का स्तर गिरता जाएगा। #2 दर्शकों की मर्जी के खिलाफ बुकिंग निर्णय लेना vince-mcmahon-evil-laugh-1476914579-800.png-1481948519-800 ज़रा सोचिए आप एक ऐसे कंपनी के मालिक हैं जिसके दर्शक सबके सामने अपना विचार रखते हैं। आप ऐसा निर्णय लेना पसंद करेंगे जिससे आपको मुनाफा भी हो और दर्शक भी खुश रहें। हर बार ऐसा नहीं हो सकता कि जो आपको चाहिए, केवल वो ही आपको मिले। लेकिन फिर आप एक ऐसा निर्णय लेते हैं जिसका सभी दर्शक मिलकर विरोध करते हैं और आपके उस निर्णय पर नाराज़गी जताते हैं। ऐसे में आप क्या करेंगे? (A) आप अपनी गलती समझकर उसे सुधारने की कोशिश करेंगे? या फिर आप (B) आप जो करते आएं हैं वहीँ करेंगे और फिर नाराज़ दर्शकों को मनाने के लिए वापस कोई नया रास्ता ढूंढेंगे? अगर आपने पहले विकल्प चुना है तो आप समझदार इंसान हैं जो जनता है कि दुनिया भर में उनके करोड़ो दर्शक हैं और उन्हें नाराज़ करने से भारी नुकसान होगा। अगर आपने दूसरा विकल्प चुना है तो शायद आपका नाम विंस मैकमैहन हैं। सालों से WWE ऐसे कई फैसले लेते आई है जिससे दर्शकों का एक बड़ा खेमा नाराज़ हुआ है। इसका उदाहरण है रैसलमेनिया 32 की बुकिंग जिसमे से अधिकतर मैचों का वजूद क्या था वो समझ नहीं आया और दर्शक इसे लेकर नाराज़ हुए। MITB मुकाबले में जैक राइडर को विजेता बनाया गया जबकि यहाँ पर जीतने के हकदार केविन ओवन्स या सेमी जेन थे क्योंकि उनके बीच काफी लम्बे समय से फिउड चल रहा था और ऐसा निर्णय थोड़ा समझदारी का लगता। WWE के दिग्गज क्रिस जेरिको जिन्हें पूरा WWE यूनिवर्स पसंद करता है उन्हें जीत की ज़रूरत नहीं थी, बल्कि उनके खिलाफ नए आएं एजे स्टाइल्स को जीत की सख्त जरूरत थी। लेकिन रैसलमेनिया पर जीत जेरिको को नसीब हुई। दर्शकों की लोकप्रिय टैग टीम द न्यू डे को भी द लीग ऑफ़ नेशन्स (जिन्हें कोई पसंद नहीं करता और सभी उन्हें हमेशा बू करते हैं) के हाथों हार झेलनी पड़ी। डीन एम्ब्रोज़ को भी अपना बचा कुचा मोमेंटम बनाए रखने के लिए मेनिया पर जीत की सख्त जरूरत थी, लेकिन उनकी बुकिंग भी ब्रॉक लैसनर के हाथों की गयी जिसमें उन्हें हार मिली। अगर WWE लगातार ऐसे ही बुकिंग करती रही तो नए दर्शक उनसे दूर होंगे ही, इसके साथ-साथ इसके खास दर्शक जो सालों से कंपनी से जुड़े हुए हैं वे भी चिंतित होंगे। #1 रैसलर्स को अपने शहर में हारना होगा (मुख्य रॉस्टर) maxresdefault-1481948671-800 कई लोगों की ज़िंदगी रैसलर्स की ज़िंदगी की तरह नहीं होती। वे रैसलर्स की तरह मजबूत, ताकतवर और लोकप्रिय नहीं हो सकते। इसलिए कई लोग कुछ रैसलर्स की तरह ज़िन्दगी बिताने की कोशिश करने लगते हैं, खासकर तब जब दोनों एक ही शहर के हों। दोनों के बीच ये चीज़ सामान्य होती है और इसके उन्हें गर्व होता है। आप ऐसा सोच रहे होंगे की जब कोई रैसलर अपने होमटाउन में आता है, तो वहां के दर्शकों को खुश करने के लिए उनकी वैसी बुकिंग की जाती होगी। (रैसलिंग का यही उद्देश्य होता है) लेकिन न जाने किस कारण से हर बार मेन इवेंट में मौजूद रैसलर को उनके होमटाउन में हार मिलती है। सबसे खराब बात ये है कि होमटाउन में हार की वजह विरोधी रैसलर का अच्छा होना नहीं होता। WWE की दुनिया में कौन जीतेगा, कौन हारेगा इसका फैसला बहुत पहले कर दिया जाता है। लेकिन इसमें अर्थ कहाँ हैं? आप ऐसी बुकिंग करते ही क्यों हो जिसमें दर्शक पैसे देकर अपने होमटाउन रैसलर को हारते हुए देखने आएं। आज कल के दर्शक समझदार हैं और वे जानते हैं अधिकतर निर्णय बैकस्टेज लिये जाते हैं। इसलिए बैकस्टेज जो फैसला लेता है उसे लगता होगा की रैसलर को उसके होमटाउन में हारने के बाद दर्शकों की सहानभूति मिलती होगी। चाहे लोग जितनी बार भी कहें कि WWE में हार और जीत मायने नहीं रखती, लेकिन असलियत में वो मायने रखती है। दर्शक विजेता से जुड़े रहना चाहते हैं और वे अपने शहर के रैसलर को सामने हारते हुए नहीं देखना पसंद करेंगे।

Edited by Staff Editor
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now