Create
Notifications

WWE की वैलनेस पॉलिसी के बारे में ये 7 बातें आपको जाननी चाहिए

सुर्यकांत त्रिपाठी

रोमन रेन्स को WWE की वैलनेस पॉलिसी भंग करने के कारण के आरोप में 30 दिनों का प्रतिबंध लगाया गया है। इस वजह से WWE की वैलनेस पॉलिसी वापस चर्चा का विषय बन गयी है। सवाल ये खड़ा हो रहा है कि क्या ये सही है? क्या उन सभी पॉलिसी का रिकॉर्ड होता है जो भंग होती है या केवल कुछ ही रिकॉर्ड होती हैं? इससे क्या कुछ को फायदा हुआ है? इस आर्टिकल में हम उन्ही कुछ पॉलिसी से जुड़े सवालों पर बात करेंगे। इससे अंत में हमे WWE की वैलनेस पॉलिसी के बारे में सब कुछ सही सही पता चलेगा। ये रही WWE की वैलनेस पॉलिसी से जुडी 7 बातें: #7 एडी गुरेरो की मौत से इसकी शुरुआत हुई eddie2-1466953584-800 2006 में एडी गुरेरो की मौत के बाद WWE ने इस पॉलिसी की शुरुआत की। एडी गुरेरो एक लोकप्रिय रैसलर थे और 38 साल की उम्र में उनका दिल ने जवाब दे दिया। वें सालों तक स्टेरॉयड और कई प्रतिबंधित दवाओं का इस्तेमाल किया करते थे। उनकी मौत ने पूरे रैस्लिंग दुनिया को हिला कर रख दिया और WWE ने रैसलर्स और टैलेंट की सेहत की सुरक्षा के लिए सख्त कदम उठाये। इसका पहला स्वरूप हमे फरवरी 2007 में देखने मिला। इसमें दो बड़ी बातें थी, पहली प्रतिबंधित दावों का सेवन/ड्रग टेस्टिंग और कार्डियोवैस्कुलर टेस्टिंग/मॉनिटरिंग प्रोग्राम। इस पॉलिसी ने कई कमिया हैं। #6 पहला ड्रग टेस्टिंग 1987 में हुआ vince2-1466953734-800 कंपनी की पहली ड्रग टेस्टिंग पॉलिसी 1987 में आई थी और कंपनी इसकी जांच किया करती थी। पहला स्वतंत्र ड्रग टेस्टिंग पॉलिसी 1991 में आया जब विंस पर आरोप लगे थे और इसके बाद प्रतिबंधित दवाओं के सेवन पर रोक लगा दी गयी। ये पॉलिसी थोड़ी सख्त थी लेकिन फिर भी एक या दो रैसलर्स इससे बच निकले। लेकिन फिर बिना किसी कारण के इसे 1996 में बंद कर दिया गया। इसके बाद ये तो सभी को पता है कि एटिट्यूड एरा में ड्रग एब्यूस के कई किस्से हुए थे बैकस्टेज। इस पॉलिसी को बन्द करवाना एक ख़राब निर्णय था। #5 2007 में सिग्नेचर फार्मेसी बस्ट bookert1-1466953826-800 2007 में जब WWE की वैलनेस पॉलिसी लागू हुई, तब कई रैसलर्स का कद छोटा हो गया। लेकिन 2007 के समर में स्पोर्ट्स इलस्ट्रेटिड ने एक बड़ा पर्दाफाश करते हुए ये बताया कि WWE के 14 रैसलर्स ऑनलाइन एक बड़े फार्मेसी स्टोर से प्रदर्शन सुधारने वाली दवाइयाँ लेते हैं। ये रही उन स्टार्स की पूरी सूची: चार्ली हास: अनस्तरोज़ोले, सोमतरोज़ोले, सोमेट्रोपिन, स्टेनोज़ोलो, नंदरोलोने और क्रोनिक गोनाडोट्रोपिन। चावो ग्युरेरो: अनस्तरोज़ोले, सोमेट्रोपिन और नंदरोलोने। एज: गोनाडोट्रोपिन, सोमेट्रोपिन और स्टेनोज़ोलो। फुनाकि: सोमेट्रोपिन। जॉन मॉरिसन: सोमेट्रोपिन, अनस्तरोज़ोले, टेस्टोस्टेरोन और क्रोनिक गोनाडोट्रोपिन। केन कैनेडी: सोमेट्रोपिन, अनस्तरोज़ोले और टेस्टोस्टेरोन। रैंडी ऑर्टन: सोमेट्रोपिन, नंदरोलोने और स्टेनोज़ोलो। शेन हेल्म्स: टेस्टोस्टेरोन, गोनाडोट्रोपिन और नंदरोलोने। सिल्वें ग्रेनिएर: सोमेट्रोपिन, नंदरोलोने और स्टेनोज़ोलो। उमागा: सोमेट्रोपिन। विल्लम रिगल: स्टेनोज़ोलो, सोमेट्रोपिन, गोनाडोट्रोपिन और अनस्तरोज़ोले। बुकर टी, स्निट्स्की और क्रिस मास्टर्स पर भी आरोप थे लेकिन उनके आरोप सबके सामने नहीं आएं। #4 तीन स्ट्राइक और आप गायब randy1-1466953917-800 वैलनेस पॉलिसी की बारे में बात करें तो एक बार इसे भंग करने पर एक स्ट्राइक मिलता है और ऐसे तीन स्ट्राइक मिलने पर आपका करार रद्द। वैसे दर्शक इसे रैंडी ऑर्टन रूल कहते हैं। रैंडी ऑर्टन के नाम 2 स्ट्राइक है और एक और स्ट्राइक से उनका खेल खत्म। साल 2013 में WWE ने इसमें परिवर्तन करते हुए WWE ने ये बताया कि अगर किसी रैसलर के नाम दो स्ट्राइक है तो वो 18 महीनों तक बिना किसी स्ट्राइक के रहे तो उसका एक स्ट्राइक कम किया जा सकता है। स्ट्राइक हटाना या न हटाना WWE के हाथ में हैं। इसका सबूत तो नहीं है कि WWE ने इस पॉलिसी का निर्माण रैंडी की मदद के लिए किया। लेकिन हालात इसी की ओर इशारा करते हैं। #3 स्टार्स जिनपर प्रतिबंद लग चुका है roman2-1466954003-800 रोमन रेन्स पहले स्टार नहीं है जिनपर प्रतिबंध लगा है और न ही वे आखिरी स्टार हैं। इसके पहले कई ऐसे स्टार्स हैं जो वैलनेस पॉलिसी भंग करते हुए पाये गए हैं और उनपर प्रतिबन्ध लग चुका है। इसमें रैंडी ऑर्टन, बुकर टी, एज, रे मिस्टेरियो, जेफ हार्डी और कर्ट एंगल जैसे स्टार्स शामिल है। जब लोअर और मिडकार्ड स्टार्स इसे भंग करते हुए पाएं जाते हैं तो उन्हें दंड के रूप में निलंबित कर के अपनी छवि साफ़ दिखा सकते हैं। लेकिन अगर कोई टॉप स्टार पकड़ा गया तो WWE की स्तिथि ख़राब हो जाती है। #2 प्रतिबंधित ड्रग्स bannedsubstances-1466954196-800 वैलनेस पॉलिसी को भंग करने के लिए प्रदार्थ एब्यूस, ड्रग एब्यूस और स्टेरॉयड से हो सकता है। डॉक्टर्स द्वारा दिए किसी दाइयों के अलावा किसी और दवाई का सेवन प्रतिबंधित किया गया है। मास्किंग एजेंट का इस्तेमाल भी प्रतिबंधित है। स्टेरॉयड के इस्तेमाल से कई परेशानी होती है और इसका सेवन कई जगह गैर क़ानूनी है। #1 कमियां hardcoreholly-1466954268-800 इस समय के वैलनेस पॉलिसी में कई लूपहोल है जिनकी मदद से रैसलर्स इस पॉलिसी से बच निकलते हैं। विंस ने कई बार इस ड्रग्स के सेवन को माना किया गया है और पिछले कुछ सालों में इसमें सख्ती बढ़ गयी है। भले ही अगर टैलेंट्स को उनके डॉक्टर ने ड्रग्स के सेवन की मंजूरी दी हो, लेकिन उसके इस्तेमाल के पहले उन्हें WWE के डॉक्टर की इजाजत लेनी होगी। हालांकि इनका पता लगाना मुश्किल है क्योंकि बाजार में कई तरह की दाइयां मौजूद है। इसके बारे में हार्डकोर होली ने अपनी किताब में लिखा: "साल 2008 में हम बेकर्सफील्ड, कैलिफोर्निया में थे और मुझे दर्द की दवाई लेनी थी और शायद मेरे कंधे पर सर्जरी की ज़रूरत थी। इसलिए मैंने केनेडी से पूछा कि क्या आपके पास कुछ है, तो उन्होंने कहा बिल्कुल है। उन्होंने बाद में मुझसे पूछ कि मुझे कुछ और चाहिए तो मैं खुद ले लू। ये आम बात थी। कई बार मैं उनके पास गया और अपनी बात राखी तो उन्होंने कहा, "खुद ले लो।" लॉकर रूम में सब एक दूसरे की मदद करते हैं। यहाँ ऐसा ही होता है और WWE इसे हमेशा अनदेखा कर देती है।" शारीरिक शक्ति बढ़ाने वाले ड्रग भी WWE की वैलनेस पॉलिसी एक समस्या है। सोमेट्रोपिन और गोनाडोट्रोपिन की जांच यूरिन सैंपल में नहीं होती लेकिन केवल खून की जांच में होती है। ऐसे और भी कई पदार्थ है जिनकी जांच नहीं हो पाती लेकिन मैं उनका नाम बता कर आपको और नहीं उबाउंगा। WWE की वैलनेस पॉलिसी की तीन बड़ी समस्या है कि बढ़ा हुआ टेस्टोस्टेरोन स्तर, घायल खिलाडियों की जांच नहीं होती और फुल टाइम रैसलर्स की जांच होती है। लेखक: प्रत्यय घोष, अनुवादक: सूर्यकांत त्रिपाठी

Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...