WWE Raw, 11 जून 2018: शो की अच्छी और बुरी बातें

गिरती हुई रेटिंग्स और खराब शो के बीच मनी इन द बैंक से पहले रॉ का आखिरी एपिसोड से हम काफी उम्मीद लगा बैठे थे। आशा थी कि रॉ यहां अपने पूरे दमख़म के साथ उतरेगी। शो में अच्छे लम्हें भी थे तो वहीं खराब लम्हें भी देखने मिले। ये शो पूरी तरह से खराब नहीं था लेकिन ये औसत रहा।

मनी इन द बैंक पीपीवी के पहले इस हफ्ते के रॉ से हमे उम्मीदें थी लेकिन शो ने हमे ज्यादा उत्साहित नहीं किया। हम आशा करते हैं कि मनी इन द बैंक पीपीवी इस हफ्ते की रॉ से बेहतर हो।

#1 अच्छी बात: दो बड़े मैच

इस हफ्ते के रॉ में चार पुरुष तो वहीं चार महिला रैसलर्स आपस मे भिड़े। इन मैचों का कोई उद्देश्य नहीं था और इसके नतीजों से मुख्य मैच में कोई फर्क नहीं पड़ेगा। लेकिन शो में हमे कई खास लम्हें देखने को मिले।

एम्बर मून ने अपना दमख़म दिखाया तो वहीं नटालिया ने मैच जीतकर पीपीवी के लिए अपनी दावेदारी पेश की। वहीं पुरुषों के मैच में सभी स्टार्स ने अपनी-अपनी फिनिशिंग मूव आजमाई लेकिन फिर भी ब्रॉन स्ट्रोमैन को रोकना उनके लिए मुश्किल रहा।

#1 बुरी बात: सभी लैडर पर खड़े थे

इस हफ्ते रॉ की शुरुआत में चार मेल तो चार फीमेल सुपरस्टार रिंग के बीच मे लैडर पर खड़े दिखाई दिए। इसे पहले भी किया जा चुका है और इसलिए ये चाल पुरानी लगी। बेबीफेस और हील एकसाथ लैडर पर क्यों खड़े होंगे भले ही ये दिखने में अच्छा लगे इसमें कोई गंभीरता नहीं थी।

केविन ओवंस ने अपने जोक्स के सैगमेंट को संभालने की कोशिश की लेकिन वो नाकाम साबित हुए। एक तरह से देखें तो ये हरकत बचकानी थी।

#2 अच्छी बात: राउज़ी और जैक्स की भिड़ंत

पिछले हफ्ते के एपिसोड में रोंडा राउज़ी कमेंट्री टेबल पर बैठी थीं, जहां उन्होंने अच्छा काम नहीं किया लेकिन उसकी तुलना में इस हफ्ते के एपिसोड में उन्होंने अपने अंदर की आग सभी को दिखाई। जब जैक्स ने उनके अनुभव को लेकर सावल किया तब रोंडा ने ओलपिंक से लेकर UFC के मैचों में अपने प्रदर्शन के बारे में उन्हें बताया।

नाया जैक्स ने जिस तरह से हेड बट की बात करते हुए कहा कि उसका इस्तेमाल UFC में प्रतिबंधित है लेकिन WWE में होता और फिर उसका इस्तेमाल करते हुए रोंडा को ढेर कर दिया वो कमाल का था। इस मैच को लेकर रोमांच बढ़ते जा रहा है।

#2 बुरी बात: जॉनाथन कोचमैन

कमेंट्री टेबल पर बैठा तीसरा व्यक्ति कभी भी अच्छा काम नहीं कर पाता। ये बात डेविड ओटुंगा, पर्सी वॉटसन, बायरन सैक्सटन और बुकर टी के लिए सही बैठती है। जॉनाथन कोचमैन भी इसका हिस्सा बन गए। उन्होंने जॉन मेयर को हिप हॉप आर्टिस्ट कहा।

कोल और ग्रेव्स पूरे समय कोचमैन की गलतियां सुधारने में लगे रहे। कोचमैन ने इसे सोशल मीडिया का जोक बताकर बचने की कोशिश की लेकिन यहां उनकी चाल उल्टी पड़ गयी।

#3 अच्छी बात: दो स्ट्रीक्स

किसी मैच का महत्व तब बढ़ता है जब उसके पीछे कहानी हो, रैसलर्स को लड़ने का एक लक्ष्य मिले और उसे ध्यान में रखते हुए दर्शक उस मैच से जुड़े रहे। एक तरफ कर्ट हॉकिंग्स की हारने वाली स्ट्रीक तो वहीं B टीम की जीतने वाली स्ट्रीक देखकर खुशी हुई। दोनो को शो में ज्यादा महत्व नहीं दिया जाता लेकिन फिर भी उनके मैचेस दिलचस्प होते हैं।

#3 बुरी बात: रोमन रेंस बनाम सुनील सिंह

जिंदर महल ने इस हफ्ते रोमन रेंस पर हावी होने का तरीका ढूंढा। उन्होंने द ग्रेट खली की वापसी की ओर इशारा करते हुए सुनील सिंह को आगे किया और फिर खुद रोमन रेंस पर हमला किया। ये सैगमेंट तो पूरी तरह से एक मजाक था।

अच्छी बात ये है कि हमे एक ही सैगमेंट दूसरे हफ्ते भी वापस नहीं देखना पड़ा। दर्शक के रूप में मेरे लिए इस सैगमेंट का कोई मतलब नहीं बनता।

#4 अच्छी और बुरी बात: बॉबी लैश्ले के लिए सैमी जेन की बाधा

अबतक बॉबी और सैमी जेन की दुश्मनी पटरी से उतरी हुई ट्रेन की तरह थी। इस हफ्ते हमे पता चला कि बॉबी लैश्ले एक बीस्ट हैं और तो वहीं सैमी जेन किसी भी मुसीबत से बचकर भाग सकते हैं। यहां पर लैश्ले और जेन दोनो ने अपना ढेर सारा मोमेंटम खोया। हम उम्मीद करते हैं कि आने वाले हफ्तों में WWE इसमें सुधार करेगी।

लेखक: रिजु डासगुप्ता, अनुवादक: सूर्यकांत त्रिपाठी