Create
Notifications

नाकामुरा को स्मैकडाउन में लाना चाहते हैं डैनियल ब्रायन

सुर्यकांत त्रिपाठी

न्यू यॉर्क में रिंगसाइड फेस्ट 2016 में रिंगसाइड कलेक्टिबल्स ने डैनियल ब्रायन का इंटरव्यू लिया। स्मैकडाउन लाइव के जनरल मैनेजर ने पिता बनने, NXT चैंपियन को स्मैकडाउन से जोड़ने और कई बातों पर चर्चा की। किस सुपरस्टार को स्मैकडाउन पर लाना पसंद करेंगे पूछे जाने पर ब्रायन ने कहा NXT में कई प्रतिभाशाली स्टार्स हैं लेकिन वे शिंस्के नाकामुरा और समाओ जो को स्मैकडाउन से जोड़ना चाहेंगे। NXT विमेंस चैंपियंस का जिक्र करते हुए ब्रायन ने कहा वे असुका, बॉबी रुड और ऑस्टिन एरीज को अपने ब्रैंड में शामिल करना पसंद करेंगे। हालांकि उन्होंने ये माना कि केवल दो रैसलर्स चुनना आसान काम नहीं है। उन्होंने कहा: “ये आसान काम नहीं है। मैं नाकामुरा को इसलिए लाना पसन्द करूँगा क्योंकि मैं थोड़े समय के लिए उनके साथ था। मैं उन्हें काफी समय से जानता हूँ। समोआ जो को भी काफी समय से जनता हूँ। वहां पर बहुत सारे अच्छे रैसलर्स हैं। विमेंस चैंपियन असूका कमाल की हैं। मुझे ऑस्टिन एरीज भी पसन्द है। बॉबी रुड भी कमाल की है।" ब्रायन ने ये भी कहा कि अगर उन्हें एक मैच खेलने का मौका दे दिया जाये तो वे नाकामुरा या फिर एजे स्टाइल्स के खिलाफ लड़ेंगे। ब्रायन जब इन स्टार्स का नाम ले रहे थे तो वे काफी उत्साहिक दिखें। उन्होंने सेमी जेन, सिजेरो और केविन ओवन्स का भी जिक्र दिया। ये सभी स्टार्स सीएम पंक और डेनियल ब्रायन जैसे स्टार्स की गैर-मौजूदगी में चमके थे। जेम्स एल्सवर्थ के योगदान पर भी डेनियल ब्रायन ने बात की। ब्रायन ने माना कि जेम्स एल्सवर्थ में कोई बात है जिसकी वजह से वे WWE यूनिवर्स के बीच लोकप्रिय हैं। ब्रायन ने कहा कि एल्सवर्थ दिखने में उनकी तरह ही अंडरडॉग हैं और इसी वजह से WWE यूनिवर्स उनसे जुड़ने में कामयाब हुए। हॉल ऑफ़ फेम को लेकर भी ब्रायन ने बात की। उन्होंने कहा कि अगर विलियम रीगल के हाथों उन्हें हाल ऑफ़ फेम में जगह मिले तो उन्हें ख़ुशी होगी। ब्रायन ने कहा कि उनकी ट्रेनिंग के लिए रीगल ही जिम्मेदार हैं और उनके हाथों हॉल ऑफ़ फेम में जगह दिए जाने पर वे उन्हें ख़ुशी होगी। केन के हाथों भी अगर उन्हें HOF में जगह दी जाये तो भी उन्हें ख़ुशी होगी क्योंकि उनका मानना है कि साल 2012 में केन के साथ टैग टीम जोड़ी बनाने के बाद ही उनकी लोकप्रियता बढ़ी और वे आगे जाकर कामयाब हुए। लेखक: प्रत्यूष हालदार, अनुवादक: सूर्यकांत त्रिपाठी


Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...