Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

अभी मेरे लेवल पर नहीं हैं डेनियल ब्रायन: द मिज़

Amit Shukla
ANALYST
25   //    21 May 2018, 12:18 IST

स्पोर्ट्स इलस्ट्रेटेड के मस्टर्ड सेक्शन के लिए इंटरव्यू देते समय 8 बार के WWE इंटरकॉन्टिनेंटल चैंपियन मिज़ ने कहा कि उनके मौजूदा प्रतिद्वंदी अभी उनके लेवल पर नहीं हैं। वहीं ब्रायन ने उनके इस दावे का काफी सकारात्मक तरीके से जवाब दिया।

आपको बता दें कि डेनियल ब्रायन और मिज़ के बीच बात उस समय हद से आगे बढ़ गई थी जब टॉकिंग स्मैक के एक एपिसोड पर मिज़ ने ब्रायन पर शब्दों के बाण छोड़ दिए और उन्हें डरपोक कहा।

उस समय डेनियल ब्रायन ने मिज़ पर कोई वार नहीं किया ना ही कोई बात की, और वहां से चले गए। उस समय तक वो रिंग में कम्पीट करने के योग्य नहीं थे क्योंकि उन्हें डॉक्टर्स से क्लियरेंस नहीं मिला था।

मिज़ ने इस बात का फायदा उठाकर 'अमेरिकन ड्रैगन' डेनियल ब्रायन पर तंज कसा।

बकौल मिज़, 'डेनियल ब्रायन यहां से बाहर जाकर इंडीज़ में और कई अन्य जगहों पर काम कर सकते थे, पर उन्होंने ऐसा नहीं किया। वो उस समय एक डरपोक की तरह वहां से चले गए। एक डरपोक जो वो मुझे कहा करते थे। वो अपने सपनों के लिए लड़ना चाहते थे, पर उस दिन क्यों नहीं?"

अब समय थोड़ा आगे करें तो लोग डेनियल ब्रायन बनाम मिज़ देखना चाहते हैं। मिज़ ने आगे कहा, "वो मेरे स्तर पर हैं ही नहीं। वो शायद अगले एक-दो साल में मेरे स्तर पर होंगे, पर अभी तो नहीं। वो अपनी 4 साल पुरानी फेम के सहारे खुद को आगे बढ़ाए जा रहे हैं। अब चीज़ें बदल चुकी हैं। जब वो तैयार होंगे, और जब मुझे लगेगा कि वो तैयार हैं, तब मैच होगा, पर अभी नहीं।"

उसके उलट स्पोर्ट्स बाइबिल के साथ इंटरव्यू देते समय डेनियल ब्रायन ने मिज़ की तारीफ की। उन्होंने कहा, "अगर आप मेरी वापसी के बाद से मिज़ के मैचेज़ देखें तो वो सही कह रहे हैं।

उनका बैकलैश पर रॉलिन्स के साथ हुआ मैच ज़बरदस्त था, या यूं कहें कि वो इवेंट का सबसे अच्छा मैच था तो कोई अतिश्योक्ति नहीं होगी। जब मैं रूसेव से हारा तो उन्होंने जैफ हार्डी से एक अच्छे मैच में लड़ाई की।

वो पहले से अच्छे टॉकर थे पर रिंग में अच्छे नहीं थे। अब वो रिंग में भी काफी अच्छा काम करते हैं। यही हाल जॉन सीना के साथ था, पर उन्होंने भी खुद को बेहतर किया।"

मिज़ वाकई में मेहनती हैं और अब चूंकि ये दोनों एक ही शो पर हैं, तो उम्मीद है कि ये जल्द ही एक रिंग में होंगे।

लेखक: सौमिक दत्ता; अनुवादक: अमित शुक्ला

Advertisement
Advertisement
Fetching more content...