Create
Notifications

WCW में गोल्डबर्ग की 173 मैचों की स्ट्रीक टूटने की वजह सामने आई

PANKAJ
SENIOR ANALYST
Modified 21 Sep 2018

कुछ दिन पहले पूर्व WCW  प्रेसीडेंट एरिक बिशफ ने अपने रैसलिंग पॉडकास्ट पर कई मुद्दों पर बातचीत की। उन्होंने ये भी बताया कि, क्यों उन्हें गोल्डबर्ग की स्ट्रीक को तोड़ना पड़ा था। उनका कहना था कि, "हमने इस बारे में काफी महीनों तक बातचीत की। गोल्डबर्ग की अलग स्टोरी लाइन तैयार कर उन्हें बाहर करना था। एक बार अगर प्वाइंट 173-0 या कुछ और भी होता, ये वो प्वाइंट था जहां से हम नई स्टोरी लाइन की शुरूआत कर सकते थे, और हम गोल्डबर्ग की स्टोरी को बदल कर यहां से बढ़ाना चाहते थे। हमें ये भी पता था की ये बड़े आराम से हो जाएगा" बिशफ ने इसके बाद ये भी कहा कि, 'केविन नैश पर हमें पूरा भरोसा था कि वो बिल गोल्डबर्ग को हरा देंगे। हमनें काफी सारे मौके को यहां से एक्सप्लोर किया था। क्योंकि सब कुछ केविन के पक्ष में जा रहा था। केविन नैस इस स्टोरी के सबसे भरोसेमंद रैसलर थे" बिल गोल्डबर्ग के पास इतिहास में अब तक बिना हारे सबसे लंबी पारी खेलने का विशेष रिकॉर्ड है। वो लगातार 173 बार जीते है। इसके बाद उनके इस रिकॉर्ड को केविन नैश ने तोड़ा था, और इस मैच में स्कॉट हॉल ने दखलअंदाजी की थी। जिसकी वजह से गोल्डबर्ग को हार का सामना करना पड़ा था। इस मैच के बाद गोल्डबर्ग की स्ट्रीक ऑफिशियल खत्म हो गई, और यहां से उनके करियर में काफी सारी परेशानी आना शुरू हो गई थी। गोल्डबर्ग की इस स्ट्रीक को तोड़ने में सभी नाकाम रहे, और WCW के पास उनके प्रतिद्वंदी का भी ज्यादा विकल्प नहीं था। बिशफ के अनुसार, केविन नैश के इस रोल के लिए हमें कोई आइडिया पहले से नहीं आ रहा था। कुछ महीनों बाद हमने उनके बारे में फाइनल डिसीजन लिया, और हमें पूरा भरोसा था कि वो ही अकेले ऐसे रैसलर है जो ये काम कर सकता है।

पिछले साल के अंत में हुए सर्वाइवर सीरीज में गोल्डबर्ग ने वापसी की, और आते ही ब्रॉक लैसनर को 2 मिनट में हरा दिया। इस साल रॉयल रंबल में भी वो प्रतिभाग करेंगे, और इसके बाद उनकी नजर रैसलमेनिया 33 में भी है।
Published 18 Jan 2017
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now