Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

"फेक रेज़र रैमन" ने बताया कि शॉन माइकल्स और केन उनके साथ कैसा व्यवहार करते थे

Modified 21 Sep 2018
Advertisement
"फेक  रेज़र रैमन" नाम से जाने जाने वाले रिक बोग्नार ने " द टू मैन पावर ट्रिप ऑफ़ रैसलिंग" के द्वारा आयोजित कराये गए एक इंटरव्यू में बताया कि उनके लिए WWE में रैसल करना कैसा अनुभव था और शॉन माइकल्स और केन जैसे रैसलरों द्वारा उनके साथ कैसा व्यवहार किया जाता था। जब स्कॉट हॉल और केविन नैश ने WWE को छोड़कर WCW को ज्वाइन किया था, तब WWE ने कंपनी छोड़कर गए इन दोनों रैसलरों को चिढ़ाने के लिए एक स्टोरीलाइन तैयार की थी। जिम रॉस ने रिक बोग्नार का " रेज़र रैमन" और ग्लेन जैकब्स का "डीजल" के तौर पर  परिचय कराया। ये दोनों बिलकुल अपने निभाए जा रहे कैरेक्टर के जैसे ही कपडे पहनते थे। यह गिमिक बिलकुल भी पसंद नहीं किया गया और WWE ने 1997 के रॉयल रंबल के बाद इस गिमिक को बंद कर दिया।  बोग्नार का कॉन्ट्रैक्ट इसके बाद जल्द ही ख़त्म हो गया और इसे दोबारा रीन्यू नहीं किया गया। इसलिए वे जापान चले गए जहां उनके गले में गहरी चोट लग गयी जिसके कारण उन्हें जल्द ही रैसलिंग से रिटायर होना पड़ा। दूसरी ओर ग्लेन जैकब्स को दोबारा से अंडरटेकर के भाई "केन" के रूप में रीपैकेज किया गया जो आगे चलकर WWE के सबसे सफल स्टार्स में से एक साबित हुआ। बोग्नार ने अपने इंटरव्यू में यह माना कि अपने एटीट्यूड प्रॉब्लम के कारण शॉन माइकल्स ने उनके साथ बहुत बुरा बर्ताव किया। उन्होंने आगे यह भी कहा कि शॉन ने वास्तव में उनकी मदद भी की और WWE के लिए रैसलिंग करते समय कुछ चीजें सिखायी। वे इसे अपने करियर के "पीक" समयों में से एक कहते हैं। "जिस तरीके से मैंने पंच मारा था वह बेहद तेज़ और पावर बेस्ड था और स्कॉट हॉल बहुत लूज़, फ्लॉपी और रिलैक्स्ड थे और यह फिजिकैलिटी में एक बहुत बड़ा अंतर् था। अगर कोई वास्तव में मुझे यह सिखाने का श्रेय ले सकता है कि कुछ चीजों को कैसे किया जाये तो मैं कहूंगा कि वो यही है। वे इसे लेकर बेहद विनम्र थे और मैं हैरान। मेरे चेहरे से खून बह रहा था और मैं इसपर विश्वास नहीं कर पा रहा था क्योंकि मेरे टूटने से पहले जब मैं उन्हें देख रहा था, तब वे मेरे आदर्शों में से भी एक थे।" केन के बारे में बात करते हुए वे उन्हें एक हार्ड वर्कर (मेहनती कार्यकर्ता) और रिंग में परफेक्शनिस्ट कहते हैं। वे केन को एक विशुद्ध प्रोफेशनल कहकर बुलाते हैं और साथ ही एक किस्सा भी साझा करते हैं जब केन को उनपर बेहद गुस्सा आ गया था क्योंकि वे उन्हें उस जगह कपडे खरीदने के लिए ले आये थे जहां कुछ भी उन्हें फिट नहीं आ रहा था। उन्होंने यह भी माना कि वे केन को एक बेहतरीन इंसान मानते हैं और कहा कि रिंग के बाहर दोनों दोनों अच्छी तरह से मिलते थे। "वे एक अच्छे इंसान हैं और मेरा सोचना है कि ज्यादातर भाग हमने अच्छे तरीके से बिताया और यह उन बातों में से एक हैं कि क्यों मैं एक कोच हूं और क्यों मैं पब्लिक स्पीकिंग कर रहा हूं। मैं खुद ट्रांसपेरेंट (पारदर्शी) होना पसंद करता हूं और मुझे पसंद है की दूसरे लोग भी मेरे साथ ट्रांसपेरेंट रहें और वे कई बार बहुत कुछ बताना पसंद नहीं करते थे और इसलिए यह कई बार मेरे लिए काफी तनावपूर्ण हो जाता था।" जिस रैसलर की वे नक़ल कर रहे थे उसकी तरह रिक को WWE में सफलता नहीं मिली। उनके इंटरव्यू से यह बात साफ़ हो जाती है कि बैकस्टेज में शान माइकल्स शायद उतने भयानक या बुरे नहीं थे जितना कि कहानियों में बताया जाता है। इसमें कोई शक नहीं है कि रिक बोग्नार का  गिमिक पूरी तरह फेल रहा और इसका कारण यही था कि WWE ने  इस आईडिया के पीछे कुछ वास्तविक विचारों को डालने की कोशिश भी नहीं की थी। लेखक - अनिर्बान बैनर्जी, अनुवादक - दीप श्रीवास्तव  
Published 04 Sep 2017, 15:47 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now