Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

पॉपकॉर्न बेचने से लेकर WWE चैंपियन बनने तक डीन एंब्रोज का सफर

SENIOR ANALYST
64   //    26 May 2018, 13:42 IST

नरेंद्र मोदी ने अपने बचपने के दिनों में चाय बेची थी। और किसी ने कभी ये नहीं सोचा था कि वो एक दिन देश के प्रधानमंत्री भी बन जाएंगे। अगर किसी आदमी के हौंसले बुलंद हों तो उसे अपनी मंजिल पाने से कोई नहीं रोक सकता है, ये कर दिखाया नरेंद्र मोदी ने। खैर ये तो रही सिर्फ एक आदमी की बात लेकिन WWE में भी एक दिग्गज ऐसा है जिसने अपना बचपन चलाने के लिए पॉपकॉर्न और पेपर बेचे। और आज ये WWE का एक बड़ा सुपरस्टार है। ये और कोई नहीं बल्कि सुपरस्टार डीन एंब्रोज है।

डीन एंब्रोज का जन्म 7 दिसंबर 1985 को सिनसिनेटी में हुआ था। बचपन से ही डीन को भी रैसलिंग का शौक था जिसको धीर-धीरे उन्होंने अपने जीवन का हिस्सा बना लिया। जिस जगह वो रहते थे वो काफी खतरनाक जगह थी लेकिन अपनी रैसलिंग के सपने पर कभी डीन ने उसका साया तक नहीं आने दिया था। डीन ने अपनी बेकार जिंदगी से निकलने का फैसला कर लिया था। जिसके रास्ता रैसलिंग से होकर गुजरता था। ये कहना गलत नहीं होगा अगर डीन आज एक अच्छी जिदंगी जी रहे है तो उसकी वजह सिर्फ रैसलिंग हैं।

डीन के अंदर भी रैसलिंग की खूबी थी तभी स्कूल से निकाले जाने पर एंब्रोज ने ट्रेनिंग शुरु कर दी थी। दरअसल डीन ने स्कूल के दौरान कई रैसलिंग प्रोमो देखे थे जिसके बाद से डीन ने ठान लिया था कि उन्हें सिर्फ रैसलर बनना हैं। करियर को बनाने के लिए एक नौकरी की जरुरत होती है। वैसे ही डीन एंब्रोज ने स्कूल से निकलने के बाद ट्रेनिंग शुरु कर दी थी। जिसके लिए वो पैसा कहीं ना कहीं नौकरी कर के कमाते थे। उन्होंने कुछ दुकानों में काम किया , पॉपकॉर्न, पेपर ब्वॉय और खाना बेचने वाले तक डीन एंब्रोज बने, जिससे वो अपनी ट्रेनिंग का खर्च निकाल सके। इतना ही नहीं डीन ने कुछ रैसलिंग प्रमोशन्स में भी काम किया जहां उन्होंने चीजों को जोड़ा और ठीक किया।

रैसलिंग की दुनिया में डीन एंब्रोज ने साल 2004 में कदम रखा। और यहां से उनकी नई जिंदगी की शुरूआत हुई। इसके बाद अप्रैल 2011 में वो दिन भी आया जब दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी WWE ने उन्हें साइन किया। डीन बचपन से ही अजीबोगरीब है। और आज भी रिंग के अंदर-बाहर उनका किरदार एक जैसा ही देखा जाता है। उनका बचपन क्राइम और बेकार जिंदगी के साय में गुजरा वैसा ही कुछ कभी-कभी उनके अंदर देखा जाता है जब वो उन पर पागलपन सवार होता है।

साल 2012 में शील्ड ने WWE के मेन रोस्टर में डेब्यू किया था। सैथ रॉलिंस, रोमन रेंंस और डीन एंब्रोज। इन तीनों ने इतना शानदार प्रदर्शन किय कि बाद में इन तीनों को सिंगल रन कराया गया। डीन एंब्रोज ने यहां भी अपना लोहा मनवाया। अकेले वो सब पर भारी पड़ गए। 2016 के मनी इन द बैंक में रोमन रेंस और सैथ रॉलिंस का मैच था। जिसमें रोमन रेंस चैंपियन थे। सैथ रॉलिंस इस मैच को जीत गए। डीन एंब्रोज ने उसी रात को मनी इन द बैंक ब्रीफकेश डीन ने जीता और उसी रात कैश इन करा कर चैंपियन बन गए। उन्होंने पूरे WWE यूनिवर्स को इस कारनामे से चौंका दिया।

डीन एंब्रोज को रैसलिंग की दुनिया में 14 साल लगभग हो गए है। उन्होंने इतना बड़ा नाम बनाने में काफी मेहनत की है। एक बार उन्होंने ठान लिया था तो उन्होंने वो कर दिखाया। जिसके पास एक समय में खाने के लिए कुछ नहीं होता थो आज वो साल में एक मिलियन से भी ज्यादा की कमाई करता है।

Advertisement
Advertisement
Fetching more content...