Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

पूर्व WWE डीवाज़ चैंपियन एजे ली ने बताया कि वो बाइपोलर बीमारी से जूझ रही हैं

CONTRIBUTOR
Modified 21 Sep 2018, 21:30 IST
Advertisement
WWE की बेहद खूबसूरत पूर्व महिला रैसलर एजे ली ने ब्लॉग के जरिए बताया है कि वो बाइपोलर बीमारी से जूझ रही है। ब्लॉग के नए पोस्ट में उन्होंने बताया है कि, इस बीमारी से पूरी तरह ठीक होने के लिए उन्हें संघर्ष करना पड़ेगा। उन्होंने ये भी बताया है कि, इस वक्त उनका परिवार और वो किस मानसिक पीड़ा से गुजर रही है। ली साल 2009 में WWE का हिस्सा बनी थी। उन्होंने अक्सर अपने परिवार के जीवन में आए जद्दोजहद के बारे में बताया है कि, कैसे परिवार को मोटेल और प्रिय कार को छोड़ना पड़ा था। जून 2014 में उनकी शादी WWE पूर्व चैम्पियन और पेशेवर रैसलिंग के दिग्गज फिल “सीएम पंक” ब्रूक से हुई थी। WWE डीवाज़ चैंपियनशिप तीन बार जीतने के बाद ली ने रॉ के जनरल मैनेजर की जिम्मेदारी भी संभाली है। रैसलमेनिया 31 में बैला ट्विंस को हराने के बाद 2015 में ली ने WWE से रिटायरमेंट ले लिया था। एजे ली बाइपोलार बीमारी से जूझ रही है। ये बीमारी एक प्रकार की मानसिक बीमारी है, जिसमें मन कई हफ्तों तक उदास या फिर अत्यधिक खुश रहता है। कभी-कभी ये बीमारी कई महीनों तक भी खींच जाती है। 100 में से एक व्यक्ति को इस बीमारी का सामना जीवन के एक मोड़ पर करना पड़ता है। बीमारी की शुरुआत अक्सर 14 से 19 साल के बीच होती है। अपनी ब्लॉग पर एजे ली ने खुलासा किया है कि वह बाइपोलार बीमारी से ग्रसित हैं। उन्होंने बीमारी को लेकर लिखा है कि,मुझे 29 साल की उम्र में बीमारी का सामना करना पड़ रहा है। काफी सालों तक अपने परिवार के सदस्यों की बीमारियों को देख, अब अपनी बीमारी से जूझना पड़ रहा है। ब्लॉग में अपने दुख को बताते हुए उनका कहना था कि, “जब मैं इस बीमारी से पीड़ित हुई, तब मुझे लगा कि जिंदगी भर ये बीमारी मुझे सताएगी। बाईपोलर बीमारी मेरे लिए एक जेल की तरह हो गया था, और मुझे लगा कि प्रिसेज़ टॉडस्टूल स्टाइल में मुझे बंद कर दिया गया है। बीमारी को मैंने धीरे-धीरे अपने-आपको खत्म करने की छूट दे दी। मैंने अपनों को खुद से दूर जाते हुए देख रही थी, मुझे ये अंतिम विकल्प के तौर पर नजर आ रहा था। त्याग देना। हार मान लेना। इनका इस्तेमाल मैंने शर्मिन्दा कर देने वाले बुरे व्यवहार के तौर पर किया। मैंने ये सब तब तक जारी रहने दिया, जब तक मेरे पास कुछ भी बाकी नहीं रह गया। मैंने इस भाग्य पर कलंक के रूप में मान लिया था”। ली ने अपनी बीमारी का अनुभव साझा करते हुए माना है कि ये इतना बुरा भी नहीं रहा। बावजूद इसके कि अंदर से गंभीर हो गई थी, और बाहर से भावुक नजर आ रही थी। बीमारी के कुछ सकारात्मक पहलुओं के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा कि समाज सेवा करने वाले कुछ एनजीओ के साथ जुड़ गई, जहां उन्हें समाज के लिए काम करने का मौका मिला, और साथ ही रैसलिंग कैरियर को आगे बढ़ाने में मौका। इन्हीं सब अनुभव ने मुझे नई किताब लिखने की ओर प्रेरित किया है, जिससे मानसिक बीमारी से पीड़ित रोगियों के बारे में जानने में मदद मिलेगी, तथा इससे दूसरों को उनके भीतर चल रहे संघर्ष से लड़ने में मदद मिलेगी। ली की आत्मकथा क्रेजी इन माइ सुपरपावर अप्रैल में लोगों के लिए उपलब्ध होगी। इस किताब में उनके बचपन के दिनों के संघर्ष, परिवार में मौजूद राक्षस और कैरियर में पेशेवर महिला रैसलर से कैसे इंडस्ट्री में WWE स्टार बनी इसका जिक्र किया गया है। Published 04 Feb 2017, 17:23 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit