Create
Notifications

लैसनर के खिलाफ लड़ने के फैसले के पीछे सिर्फ जीत ही कारण नहीं: गोल्डबर्ग

मयंक मेहता

सर्वाइवर सीरीज के 30वें संस्करण में अब थोड़ा ही समय बाकी है और पूरे WWE यूनिवर्स को प्रो रैसलिंग वर्ल्ड के दो आइकॉन गोल्डबर्ग vs ब्रॉक लैसनर के बीच मुक़ाबले का इंतज़ार है। इन दोनों के बीच का मैच WWE के प्रसिद्ध पे-पर-व्यू में से एक सर्वाइवर सीरीज़ में होगा और इस मैच से सबको काफी उम्मीदें भी है। लैसनर पिछले 4 साल से लगातार WWE में रैसलिंग कर रहे है, लेकिन गोल्डबर्ग WWE रिंग में 12 साल के अंतराल के बाद उतरेंगे। हाल ही में ईएसपीएन को दिए एक इंटरव्यू में गोल्डबर्ग ने यह बात मानी कि द बीस्ट ब्रॉक लैसनर के खिलाफ मैच के लिए हामी भरने के कारण सिर्फ मैच जीतना ही नहीं था। बल्कि वो यह मैच अपनी पत्नी और बेटे के चेहरे पर खुशी लाने के लिए लड़ना चाहते है। गोल्डबर्ग ने कहा, "मेरी जिंदगी में जीतना ही सब कुछ नहीं है, बात है तो बस सफर की और आपने इस सफर के दौरान क्या सीखा और अपने पीछे आप क्या लेगेसी छोड़ कर जाते हैं। अंत में मैं बस अपनी पत्नी और बेटे को खुश देखना चाहता हूँ। उनके लिए मैं सैंटा क्लोज या फिर हनुख हैरी हूँ।" पूर्व WWE वर्ल्ड चैम्पियन ने WWE की प्रशंसा कि उन्होंने उन्हें उनके बेटे के सामने पहली बार लड़ने का मौका दिया और उनका यह एहसान वो कभी भी नहीं चुका सकते। ईएसपीएन ने गोल्डबर्ग के हवाले से लिखा, "एक बाप के तौर पर आप अपने बेटे के लिए अच्छा ही सोच सकते है और आप उनके लिए एक अच्छी याद छोड़कर जाना चाहते है। पहले 2K और अब WWE द्वारा दिए गए मौके को मैं कभी भी नहीं भूल सकता। मैं सबसे अच्छा बाप हूँ और उन्होंने मुझे यह साबित करने का मौका दिया।" कुछ हफ्ते पहले रिंग में हुई गलतियों के बारे में बात करते हुए गोल्डबर्ग ने कहा कि मुझे दुख है और खुद पर गुस्सा भी आ रहा कि मैं खुद के प्रदर्शन को दोहरा नहीं पाया। "जब मैं नीचे गिरा, तब मुझे बहुत गुस्सा आया, मैंने अपने लिए एक स्टैंडर्ड सेट कर रखा है और मैं उसे कभी भी भूल नहीं सकता। वही मुझे अच्छा करने के लिए मोटिवेट करता है।" लेखक- अभिनव मेसी, अनुवादक- मयंक मेहता


Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...