Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

जिंदर महल के WWE में कैरेक्टर, एंट्री और पंजाबी सैलिब्रेशन का मतलब

Manu Mishra
ANALYST
Modified 21 Sep 2018, 20:31 IST
Advertisement

WWE में हाल के मेन इवेंट सीन को देखा जाए, तो यह सिर्फ 4-5 रैसलर्स के इर्द-गिर्द घूम रहा था। सभी का कैरेक्टर अलग-अलग तरीके से बदल रहा था, लेकिन हमें बार-बार कुछ गिने चुने रैसलर्स ही टाइटल शॉट के लिए चैलेंज करते हुए देखने को मिलते रहे। इसी वजह से, जब पिछले हफ्ते WWE ने टाइटल सीन में जिंदर महल को उतारा तो सारे फैंस आश्चर्यचकित रह गए। जब WWE ने बैकलैश में रैंडी ऑर्टन के खिलाफ WWE चैंपियनशिप के लिए जिंदर महल को बुक किया था, तो काफी लोगों को लगा था कि रैंडी ऑर्टन जैसे शातिर दिमाग और प्रो रैसलर के सामने जिंदर महल कैसे टिक पाएंगे। लेकिन कनाडा में जन्मे इस पंजाबी रैसलर को ने सबको चौंकाते हुए कमाल कर दिया और बैकलैश में ऑर्टन को हराकर WWE चैंपियनशिप जीतने में सफल रहे। जिंदर महल की जीत से काफी फैंस को एट्टीट्यूड एरा की याद् आ गई। जब एक के बाद WWE फैंस को विस्मय में डालते रहता था। जिंदर के जीतने से लगा कि WWE की स्टोरीलाइन अब खत्म हुई। उनकी जींत न सिर्फ अमेरिका में रहने वाले पंजाबी और भारतीयों के लिए ख़ुशी का मौका था, बल्कि उन सभी अल्पसंख्यकों और रंग वाले लोगों की जीत थी, जो काफी वक़्त से दबे रहे हैं।

लेकिन वो सिर्फ WWE के लिए नार्मल विदेशी हील रैसलर हैं ?

नहीं, वो पारम्परिक विदेशी हील रैसलर नहीं हैं। यह बहस रैसलिंग कम्यूनिटी के कई फैंस करते है। और जिंदर के WWE चैंपियन बनने को नीचा दिखाने की कोशिश करते हैं। खासकर, ऐसे वेस्टर्न फैंस जिनको जिंदर के बैकग्राउंड के बारे में ज्यादा कुछ पता नहीं है। जिंदर का प्रोमो असल जीवन का डर दिखता है, जो अमेरिका में रहने वाली पंजाबी कम्यूनिटी को रोज़-रोज़ सहना पड़ता है। पगड़ी बांधने के कारण, लम्बे बाल रखने के कारण, संस्कृति और परंपरा को ना जानने के कारण, अमेरिका में ज्यादातर लोग पंजाबियों को आंतकवादी मानते हैं। उनकी इस नफरत के वजह से पंजाबियों पर ना जाने कितनी बार अटैक किया गया है, उनके धर्म की वजह से ना जाने कितने बार ही गुरुद्वारों पर हमला किया गया है। जिंदर महल की जीत इन सब परेशानियों को दूर तो नहीं कर सकती, लेकिन वो भारतीय मूल के पंजाबियों को आशा जरुर देती हैं। वो उन लोगों के हीरो हैं, जिन्हे अमेरिका की आम जनता हीन भावना से देखती है। जिंदर के प्रोमोज में हमेशा असल जीवन से जुड़ी सच्ची घटनाएं दिखाई जाती हैं, जिससे पता चलता है कि यह कितना सेंसिटिव मुद्दा है। काफी फैंस जिंदर महल को नापसंद करते हैं, क्योंकि वो ना उनके बैकग्राउंड को समझते हैं, ना उनके जैसे अल्पसंख्यकों की परेशानियों को। वो बस उन्हें रंग के आधार पर जज करते हैं और उनका विरोध करते हैं। जबकि सच्चाई तो यह है कि जिंदर महल का कैरेक्टर नार्मल हील रैसलर्स से काफी अलग है, बशर्ते आप उसे ठीक से समझ पाएं।

जिंदर महल के करेक्टर पर कुछ विचार 

जिंदर महल के करेक्टर के पीछे कुछ बेसिक पॉइंट्स है, जिन्हें अगर आप जानेंगे तो उन्हें बेहतर ढंग से समझ पाएंगे। जिंदर महल जो भी टीवी पर कहते हैं, उनका क्या मतलब है और वो ऐसा क्यों करते हैं, उसके लिए आपको कुछ टर्म समझने होंगे।

महाराजा का मतलब ?

महाराजा मतलब किंग। जिंदर महल खुद को पंजाब का मॉडर्न किंग कह रहे हैं। पंजाब भारत का वह राज्य हैं,  जहां सिख रहते हैं और पंजाबी भाषा बोलते हैं। एक समय ऐसा था, जब पंजाब काफी ताकतवर स्टेट हुआ करता था, जिसकी स्थापना 19वीं सदी में महाराजा रंजीत सिंह ने की थी। उसे सिख राज्य कहा जाता था। जब भारत में ब्रिटिश रूल के दौरान इस राज्य का पतन हुआ, तब सिखों का बहुत शोषण किया गया खासकर इसलिए क्योंकि वे दूसरों से भिन्न दिखते थे। उनके धर्म का भी खूब अपमान किया गया। एक तरह से देखा जाए तो पंजाबियों को अपने नागरिक अधिकार के लिए लड़ना पड़ रहा था, ठीक उसी तरह जैसे की अफ्रीकन कम्यूनिटी को अमेरिका में अपने अधिकारों के लिए लड़ना पड़ा।  लेकिन आज़ाद भारत के बाद , आज के समय में चीज़े शांत हैं और पंजाबियों की पूरे भारत में रेस्पेक्ट की जाती है। जिंदर महल का कैरेक्टर उनकी कम्यूनिटी के लोगों का इतिहास दर्शाता है कि वो राजा हैं, जो अपनी प्रजा के लोगों की रक्षा करेंगे और उन्हें पीड़ित नहीं रहने देंगे। वो पंजाब के रक्षक हैं।
Advertisement

सिंह ब्रदर्स ? उन्होंने अपना नाम बॉलीवुड बॉयज से क्यों बदला ?

सिंह पंजाब में सभी पुरुषों का सरनेम होता है, सिंह का मतलब है शेर।  इसी तरह महिलाओं का सरनेम कौर होता है, जिसका मतलब है राजकुमारी। अपने पंजाबी वाइब और अपने दल का पंजाबी कनेक्शन दिखाने के लिए जिंदर महल ने अपना नाम बदल कर असली सरनेम को चुना। बॉलीवुड बॉयज का गिमिक इसलिए काम नहीं करता क्योंकि बॉलीवुड सिर्फ पंजाबियों को रेप्रेसन्ट नहीं करता।

जिंदर महल की कारपेट एंट्रेंस 

जिंदर की एंट्री में जो कारपेट बिछाई जाती है, यह उनके रॉयल स्टेट्स को दर्शाता है। काफी वेस्टर्न दर्शकों का सोचना है कि ऐसा जिंदर इसलिए करते हैं, क्योंकि वे अपने महंगे जूते को गन्दा नहीं करना चाहते। उन्हें बता दें, कि ऐसा कुछ नहीं है और भारतीय संस्कृति में राजा - महराजा की एंट्रेंस काफी मायने रखती है और यह उनका रुतबा दिखता है। इसलिए सिंह ब्रदर्स जिंदर महल के आने के पहले कारपेट बिछाते हैं।

पंजाबी सेलिब्रेशन 

जिंदर महल का सेलिब्रेशन सभी पंजाबी शादियों में होता है। वेस्टर्न फैंस का सोचना है कि उनका सेलिब्रेशन आपत्तिजनक और घिसा-पिटा है। लेकिन हम उन्हें बता दें, कि ऐसा बिलकुल नहीं है और यह पंजाबी संस्कृति का एक अहम् हिस्सा है। आश्चर्य की बात तो यह है की WWE ने पंजाबी कल्चर को काफी अच्छे से पेश किया। हालांकि जो डांस दिखाया गया था, वो और भी तेज़ और एक्रोबेटिक होता है। उस डांस को भांगड़ा कहते हैं। यह भारत में बेहद लोकप्रिय है, खासकर पार्टियों और परफॉरमेंस के दौरान। बॉलीवुड में भी जब भी पार्टी का माहौल बनाना होता है, तो भांगड़ा का इस्तेमाल किया जाता है। जो व्यक्ति ड्रम बजा रहा था, उसे ड्रम नहीं ढोल कहते हैं। यह पंजाबी इंस्ट्रूमेंट है, जो शादियों में गाने के बेस के लिए इस्तेमाल होता है। ढोल की ताल से डांस की शुरुआत होती है। पंजाब में काफी गाने उत्साहजनक करने वाले होते हैं और आपको डांस करने के लिए मजबूर करते हैं। रंग का भी पंजाबी कल्चर में बहुत महत्व है और यह अच्छे समय को दर्शाता हैं। और जैसी पगड़ी भांगड़ा परफॉर्मर्स ने पहनी थी, वैसी सिर्फ परफ़ॉर्मर डांस करते वक्त पहनते हैं। कुल मिलाकर यह सेगमेंट बहुत अच्छे से किया गया था और WWE ने पंजाबी संस्कृति को दिखाने का अच्छा काम किया। जिंदर महल के कैरेक्टर ने एक बार फिर मुझे WWE का हार्डकोर फैन बनने पर मजबूर कर दिया। क्रिस जेरिको पॉडकास्ट में जिंदर के साथ उनकी बातचीत सभी फैंस को देखनी चाहिए जहां उन्होंने बताया है कि उन्होंने किस तरह अपने करियर में 15 साल इंडिपेंडेंट सर्किट में गुज़ारे हैं और मक़ाम पर कितने स्ट्रगल के बाद पहुंचे हैं। यह सिर्फ उनकी कड़ी मेहनत का फल है। Published 26 May 2017, 17:35 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit