Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

WWE Raw को मिली पिछले 2 सालों की सबसे कम व्यूवरशिप

  • इस हफ्ते का रॉ एपिसोड बहुत ही ज्यादा बोरिंग था, इस वजह से रेटिंग्स नीचे आई हैं
SENIOR ANALYST
Modified 21 Sep 2018, 20:22 IST

पिछले साल के रैसलमेनिया के बाद से ही रॉ की व्यूवरशिप में लगातार कमी दर्ज की गई। रैसलमेनिया 34 के बाद से भी रॉ की व्यूवरशिप लगातार ऊपर-नीचे जा रही थी। इस हफ्ते मंडे नाइट रॉ की व्यूवरशिप WWE के लिए बहुत बड़ी चिंता का सबब बन सकती है। रॉ की व्यूवरशिप पिछले हफ्ते के मुकाबले काफी बड़ी मात्रा में गिरी है। इस बारे के रॉ की व्यूवरशिप 2.495 मिलियन रही, पिछले हफ्ते ये आंकड़ा 2.669 मिलियन था। पिछले हफ्ते के मुकाबले अमेरिका में 1 लाख 74 हजार लोगों ने रॉ को नहीं देखा। ये पिछले 2 सालों में रॉ की सबसे कम व्यूवरशिप थी। रॉ के पहले और दूसरे घंटे की व्यूवरशिप लगभग समान रही, लेकिन तीसरे घंटे की व्यूवरशिप में जबरदस्त गिरावट दर्ज की गई। रॉ के पहले घंटे की व्यूवरशिप 2.593 मिलियन, दूसरे घंटे की 2.591 मिलियन और तीसरे घंटे की 2.300 मिलियन व्यूवरशिप रही। रॉ की शुरुआत ब्रॉन स्ट्रोमैन ने कही थी, जहां उन्होंने मनी इन द बैंक लैडर मैच जीतकर ब्रॉक लैसनर के खिलाफ कैश-इन करने की बात कही थी। WWE रॉ में गिरावट की NBA का मैच और करीब 1 से दूसरे पीपीवी में डेढ महीने का गैप माना जा सकता है। अमेरिका में मंडे नाइट रॉ को सबसे बड़ा नुकसान NBA की वजह से उठाना पड़ा। NBA के मैच की व्यूवरशिप 14 मिलियन रही। रॉ सोमवार की रात को 5वां सबसे ज्यादा देखे जाने वाला शो रहा। रॉ का मेन इवेंट में विमेंस रैसलरों के बीच गौंटलेट मैच हुआ था। WWE द्वारा शो में पहले ही बताया जा रहा था कि मेन इवेंट मैच में विमेंस रैसलरों के बीच मैच होगा। इस गौंटलेट मैच के आखिर में साशा बैंक्स ने रूबी रायट को सबमिशन मूव लगाकर हराया और उन्होंने विमेंस मनी इन द बैंक लैडर मैच के लिए क्वालीफाई कर लिया है। 17 जून (भारत में 18 जून) को होने वाले मनी इन द बैंक पीपीवी में इस बार भी मैंस और विमेंस के 2 अलग-अलग लैडर मैचों का आयोजन किया जाएगा।

Published 31 May 2018, 09:52 IST
Advertisement
Fetching more content...