COOKIE CONSENT
Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

SmackDown में अपने दूसरे ही मैच में WWE चैंपियन को हराने वाले रैसलर ने कही बड़ी बात

न्यूज़
1.18K   //    20 Dec 2018, 13:35 IST

Enter caption

WWE की दुनिया काफी बड़ी है। पिछले दिनों स्मैकडाउन लाइव का मेंबर बनने के बाद मुस्तफा अली, एजे स्टाइल्स के साथ टैग टीम बनाकर WWE चैंपियन डेनियल ब्रायन और एंड्राडे सिएन के खिलाफ रिंग में उतरे। इस मैच में शानदार प्रदर्शन से ब्रायन और सिएन के पसीने छुड़ाने के बाद मुस्तफा ने बड़ा बयान दिया है।

मुस्तफा अली ने ट्विटर हैंडल पर लिखा है, "WWE 205 लाइव ने मुझे WrestleMania तक पहुंचाया। उसके बाद मैं सर्वाइवर सीरीज़ में लड़ा। अब यह मुझे स्मैकडाउन लाइव में लेकर आया है। मैं उस पूरे दल का हमेशा ऋणी रहूंगा। मैं हमेशा उसके लिए लड़ूंगा।"

पिछले हफ्ते स्मैकडाउन लाइव में डेब्यू करते हुए अली को हार का सामना करना पड़ा था। लेकिन दूसरे ही मैच में उन्हें जीत हासिल हुई और जीत भी WWE चैंपियन के खिलाफ।

रिंग में मुस्तफा अली के नाम से मशहूर इस अमेरीकी-पाकिस्तानी रैसलर का असली नाम आदील आलम है। मूल रूप से अमेरिका में जन्में अली के पिता कराची के रहने वाले थे। उनकी मां दिल्ली की रहने वाली हैं। इस कारण से मुस्तफा का कनेक्शन भारत, पाकिस्तान और अमेरिका से है।

WWE में अली का डेब्यू भी एक इतेफाक ही रहा। 25 जून 2016 में जब ब्राजीलियन रैसलर जुंबी ने वीजा नहीं मिलने के कारण क्रूजरवेट क्लासिक में भाग लेने से मना कर दिया, तब WWE ने उनकी जगह मुस्तफा अली का नाम आगे रखा। हालांकि 20 जुलाई को पहले राउंड में ही लिंस डोराडो से हारकर वो टूर्नामेंट से बाहर हो गए। 26 अक्टूबर को अली ने डोराडो के साथ NXT एपिसोड में भाग लिया लेकिन यहां उन्हें पहले राउंड में ही हार के साथ बाहर होना पड़ गया।

अली पाकिस्तानी मूल के पहले WWE रैसलर हैं। 25 जनवरी 2017 में 205 लाइव में डेब्यू के समय अली को पाकिस्तान झंडा नहीं लहराने और अपने देश की तरफ से नहीं लड़ने के लिए उन्हें प्रशंसकों की नाराजगी भी झेलनी पड़ी। हालांकि इसके बाद भी अली ने बड़ा बयान देते हुए कहा था कि मुझे नेशनलिटी की कोई परवाह नहीं है। मैं एकता में विश्वास करता हूं और मझे किसी को कुछ जवाब देने की जरूरत नहीं है।

Get WWE News in Hindi Here

Advertisement
Topics you might be interested in:
ANALYST
संदीप भूषण राष्ट्रीय अखबार जनसत्ता में खेल पत्रकार के तौर पर कार्यरत हैं। इससे पहले वह दैनिक जागरण में भी काम कर चुके हैं। इनके क्रिकेट और हॉकी के साथ ही कबड्डी, फुटबॉल और कुश्ती से जुडे कई लेख राष्ट्रीय अखबारों में छप चुके हैं।
Advertisement
Fetching more content...