COOKIE CONSENT
Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

WWE SummerSlam के बाद एजे स्टाइल्स को हील बन जाना चाहिए?

Amit Shukla
ANALYST
25   //    21 Jul 2018, 13:51 IST

एजे स्टाइल्स एक रैसलिंग लैजेंड हैं, और ये बात उनके मुकाबलों के द्वारा साबित भी होती है। वह, एक छोटे से दिखने वाले और एक बेहद बड़े रैसलर के साथ आसानी से मैच लड़ सकते हैं और दोनों में ही धमाल मचाने की काबिलियत रखते हैं।

अगर आपको इनके बारे में जानना है तो सर्वाइवर सीरीज 2017 के बाद पॉल हेमन का वो इंटरव्यू देखिए जिसमें वह स्टाइल्स की तारीफ कर रहे हैं और उन्हें रिक फ्लेयर, ब्रेट हार्ट और शॉन माइकल्स के बराबर मान रहे हैं। अब अगर पॉल जैसा लेजेंड आपकी तारीफ करे तो फिर कहने को कुछ बाकी ही नहीं रहता है।

इस समय तक स्टाइल्स ने WWE टाइटल 255 दिनों तक अपने पास रखा है, और जब इन्होने नवंबर 2017 में मैनचेस्टर में इसे जिंदर महल से जीता था तो इन्हें काफी ज़बरदस्त पॉप मिला था। इनसे आगे सिर्फ सीएम पंक हैं जिनकी टाइटल रेन 434 दिनों की है, जो उन्होंने 2011 से 2013 के बीच बनाई थी।

स्टाइल्स ने पिछले 8 महीनों में हर किस्म के रैसलर से मैच लड़ा है। नवंबर से लेकर अब तक स्टाइल्स ने WWE चैंपियन के रूप में लगातार 10 पे-पर-व्यूज़ में हिस्सा लिया है और 2 बार मेन इवेंट का हिस्सा रहे हैं।



पंक और स्टाइल्स के बीच की समानता सिर्फ इनका टाइटल रेन ही नहीं है। एक समय पर पंक और जैरिको के बीच हुआ फिउड रैसलमेनिया में खराब हो गई थी और यही हाल स्टाइल्स-नाकामुरा फिउड का भी हुआ।

2012 में पंक की फिउड ज़बरदस्त था और डेनियल ब्रायन के साथ उनका मैच भी अच्छा था, लेकिन द रॉक के खिलाफ एक हील बनने से वह सबसे पसंदीदा रैसलर से सबसे ज़्यादा नापसंद किए जाने वाले रैसलर बन गए।

खबरों के मुताबिक मौजूद वक्त में रॉस्टर के सबसे पॉपुलर रैसलर स्टाइल्स, हाल-फिलहाल में तो अपना टाइटल नहीं हारने वाले और अगर ऐसा है तो कहीं उनका किरदार भी पंक की तरह बेकार न हो जाए।

2016-17 के दौरान स्टाइल्स हील थे और उनके डीन एम्ब्रोज़, जॉन सीना और शेन मैकमैहन के साथ हुए फिउड्स काफी अच्छे थे। इस समय डेनियल ब्रायन और जैफ हार्डी एक ज़बरदस्त बेबीफेस हैं और अगर हाल में रैंडी ऑर्टन की तरह स्टाइल्स भी हील बन जाएं तो ये एक अच्छी बात होगी।

अगर इसके साथ ही समोआ जो बेबीफेस बन जाएं, तो ये एक जबरदस्त फिउड को जन्म देगा।

लेखक: कार्तिक सेठ, अनुवादक: अमित शुक्ला 

Topics you might be interested in:
Advertisement
Fetching more content...