Create

रोमन रेंस को हुई ल्यूकीमिया नाम की बीमारी के बारे में पूरी जानकारी

Enter caption

WWE फैंस आज सुबह से ही ल्यूकीमिया (Leukemia) नाम की बीमारी के बारे में सुन रहे हैं। रोमन रेंस ने शो में आकर बताया कि वो पिछले 11 साल से इस गंभीर बीमारी से जूझ रहे थे और अब ये फिर से उभरकर आ गई है।

आप में से बहुत सारे फैंस के जहन में ल्यूकीमिया बीमारी को लेकर सवाल उठा रहा होगा कि ये क्या बीमारी होती है, उसमें क्या प्रॉब्लम हो सकती है। हम आपको इस बीमारी से जुड़ी सभी जानकारियां मुहैया करवा रहे हैं।

ल्यूकीमिया बीमारी का मतलब

ल्यूकीमिया एक तरह का ब्लड कैंसर होता है, जिसमें ब्लड सेल्स (रक्त कोशिकाओं) काफी बढ़ने लगती है। दरअसल ल्यूकीमिया होने की स्थिति में वाइट ब्लड सेल्स (श्वेत रक्त कोशिकाओं) के DNA में दिक्कत पैदा हो जाती है। इस वजह से सेल्स ज्यादा बढ़ने लगते हैं और लगातार टूटते रहते हैं। इस कारण सेल्स की मात्रा शरीर में बढ़ जाती है। शरीर की कोशिकाएं निरंतर मरती रहती हैं और उनकी जगह लगातार नई कोशिकाएं बनती रहती हैं। लेकिन ल्यूकीमिया की स्थिति में कोशिकाएं मरती नहीं और वो लगातार इकट्ठी हो जाती हैँ।

ल्यूकीमिया के प्रभाव

-लगातार थकान रहना

-बुखार चढ़ना और उतरना

-लगातार इंफेक्शन का शिकार होना

-वजन कम होना

-मांसपेशियां कमजोर होना

-जॉइंट्स में दर्द

-खून की कमी

-स्किन पीली पड़ना

ल्यूकीमिया नाम की बीमारी होने का खतरा अक्सर 55 साल की उम्र से ज्यादा के लोगों या फिर 15 साल से कम उम्र के बच्चों को होता है। साल 2017 में करीब 62,130 लोगों का ल्यूकीमिया के लिए इलाज किया। और करीब साढ़े 24 हजार लोग इस बीमारी की वजह से मौत की चपेट में आए। भारत में भी हर साल इस बीमारी के लाखों मामले सामने आते हैं।

ल्यूकीमिया का इलाज संभव है। सही ट्रीटमेंट के जरिए इस बीमारी का इलाज किया जा सकता है। रोमन रेंस जल्द ही ठीक होकर रिंग में वापसी कर सकते हैं।

Quick Links

Edited by विजय शर्मा
Be the first one to comment