COOKIE CONSENT
Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

"मां की मौत ने मुझे झकझोर दिया था और महीनों तक उनकी कब्र के पास जाकर बैठा करता था"

22   //    27 May 2018, 14:54 IST

WWE के रैफरी डेनिलो एंफीबियो ने सोशल मीडिया के जरिए अपनी निजी जिंदगी और अब तक के सफर के बारे में बताया। एंफीबियो ने बताया कि कैसे उन्हें छोटी उम्र से ही काम करना पड़ा और जिंदगी में बहुत सारी तकलीफों का सामना करना पड़ा। डेनिलो की स्टोरी पढ़कर आपकी भी आंखें नम हो सकती है।

30 साल के डेनिलो एंफीबियो एक रैसलर रह चुके हैं, उन्होंने 13 साल की उम्र से रैसलिंग की ट्रेनिंग शुरु कर दी थी। एंफीबियो फिलहाल WWE NXT और स्मैकडाउन लाइव में रैफरी की भूमिका निभाते हैं।

डेनिलो ने अपने इंस्टाग्राम पर एक फोटो डालते हुए कैप्शन लिखा, "मैं 13 साल की उम्र में 2 जॉब करता था, ताकि प्रो रैसलिंग स्कूल में ट्रेनिंग ले सकूं। 11 साल तक सिर्फ 1 मैच में 25 डॉलर कमाने के लिए आता जाता रहता था। इन सब सालों के दौरान मुझे जॉब से निकाला गया, मेरे रिलेशनशिप टूटे, दोस्त खोए और दिल बहुत दुखा। मेरे साथ सबसे बुरा तब हुआ, जब बीमारी की वजह से मेरी मां का देहांत हो गया। मां के निधन की वजह से बहुत दुखी हो गया था। कई महीनों तक उनकी कब्र के पास बैठकर उनसे बातें करता था।"

"एक दिन जब वहां बैठा हुआ था, तब मुझे महसूस हुआ कि हम सभी की जिंदगी एक निश्चित समय के लिए है। मेरी मां भी नहीं चाहती होंगी कि मैं यहां बैठकर आंसू बहाऊं। मेरी मां यही चाहती होंगी कि मैं जाऊं और काम में मन लगाऊं। सभी की जिंदगी की अलग-अलग कहानियां हैं। हर किसी की लाइफ में दुख और दिल तोड़ने वाली घटनाएं होती हैं। हम ऐसे में कोई फैसला कर सभी चीज़ों को बदल सकते हैं। सभी की जिंदगी में बुरे दिन आते हैं, ये हम पर है कि उस दिन का किस तरह से इस्तेमाल करते हैं।"






At the age of 13, I worked two jobs to pay and begin training at a pro wrestling school. Traveled up and down the east coast wrestling for 25 dollars a match for over 11 years. Through out those years, I was fired from jobs, relationships ended, lost friends and went broke. To add to all of that, the worst possible imaginable thing happens. After battling a rare disease my mother passes away. I was broken, sad and depressed. I would go to the cemetery for months after and sit near her stone for hours and just talk to her, usually until the grounds keeper kicked me out at closing time. Luckily with my angel watching over me, one day, sitting there it all hit me. Looking around I realized we all have a certain amount of time in our lives to live. My mom wouldn’t of wanted me to keep going there just to sit around and waste life. She would of rather wanted to see me go work and succeed! She would of wanted me to keep pushing and keep living! Never settle and keep working! Never except failure and and never take, NO for an answer! Everybody has their own story. Everybody has heart ache and disappointment and we all fail at some point in our lives but it is up to us not to except it and not let it take over our lives. We can change everything by making a decision. I know we all have bad days but it is up to us to make our days count. Keep working for it all, never except those NOs for answers and make doubters Remember Your Name!!!


A post shared by @ wwe_danilo on




Advertisement
Fetching more content...