Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

को-ब्रांडेड पीपीवी के फायदे और नुकसान

  • क्या रॉ और स्मैकडाउन के सुपरस्टार्स का साथ आना हमेशा फायदेमंद रहा है?
Amit Shukla
ANALYST
Modified 20 Dec 2019, 18:39 IST
अब चूंकि, 'बेस्ट ऑफ़ बोथ वर्ल्ड' का प्रोमो आ चुका है, ये बात भी तय है कि हमें अब को-ब्रांडेड पीपीवी में कुछ शानदार चीज़ें देखने को मिलेंगी।  वैसे कई लोग इसे ब्रांड स्प्लिट की नाकामयाबी के तौर पर देख रहे हैं, लेकिन ऐसा नहीं है। इससे लोगों को बेहद अच्छे घटनाक्रम देखने को मिलेंगे और भले ही इसपर विरोधाभास बना रहे, ये बात तो तय है कि फैंस का मनोरंजन तो ज़रूर होगा। आज हम आपको बताते हैं इस को-ब्रैंडेड पे-पर-व्यू के 5 फायदे और नुकसान:

#1 सकारात्मक: रैसलर्स के लिए


जबसे ब्रांड स्प्लिट हुआ है तबसे इस भागा-दौड़ी वाली नौकरी में रैसलर्स को एक-दूसरे से मिलने का मौका नहीं मिलता। वो लगातार सफर पर होते हैं और अपने शरीर को हमारे आनंद के लिए दांव पर लगा रहे होते हैं। इस तरह के को-ब्रैंडेड पे-पर-व्यूज़ इन रैसलर्स को एक-दूसरे से मिलने का मौका देंगे। आखिरकार, रैसलर्स रिंग में हील या बेबीफेस हैं, लेकिन परदे के पीछे तो सब दोस्त ही हैं।
1 / 5 NEXT
Published 20 May 2018, 13:21 IST
Advertisement
Fetching more content...